पॉपुलर श्रेणियां

{{ cat.n}}


क्या 'फेक न्यूज' के जरिए गोदी पत्रकार दर्शकों को गुमराह कर रहे हैं?


2 जवाब
   


 Bolkar Sonali



इस जवाब पर कमेंट करें




अब आप सभी जानते ही होंगे कि पूरी दुनिया भर में फेक न्यूज़ एक औजार की तरह काम करता है और तो और यह डेमोक्रेसी को दबाने के लिए और सरकार की मनमानी चलाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है मैं आपको बता दूं कि यह फेक न्यूज़ भेजना तो आईटी सेल में एक पेशा ही है और तो और दिन भर कितने हेड कमेंट डाले या कितनी सीट न्यू सिलाई और कितने लोगों ने यह देखा और भी पोस्ट किया मैं बता दूं कि यह एक यह एक व्यापार की तरह है जो कि काफी बड़े दर्जे पर चल रहा है मैं आपकी जानकारी के लिए बता दूं कि अखबार के पन्नों में औरतों औरतों और साथ में प्राइमटाइम टेलीविजन पर न्यूज़ बड़े आत्मविश्वास से जो गलत न्यूज़ है यह बहुत ही आत्मविश्वास से हिलाई जाती है और फिर अगर यह गलती सुधार नहीं हो तो तुम्हें बता दूं कि कोई भी रिपोर्टर नेताओं को उनकी गलती का एहसास नहीं मिला था वह नहीं नहीं बताता की उन्होंने स्टेटमेंट यूज़ की जो वाक्यांश यूज़ किया वह गलत था मैं आपको यह भी बता दूं कि मैं आपको यह भी बता दूं कि मार्च मार्च में जो प्रेस फ्रीडम इंडेक्स है वहां पर हमारा भारत जो है वह 142 नंबर पर था और इससे यह समझ में आता है कि सरकार मीडिया को इस्तेमाल करती है अपनी प्रोपेगेंडा अपने प्रचार के लिए आसान भाषा में मैं कहूं तो गोदी मीडिया सरकार की पिया डिपार्टमेंट की तरह है हां जो शायद उसकी इमेज को सुधारने का काम करती है और उसके बुरे कार्य पर पर्दा भी डालती हैं साथ में ज़ी न्यूज़ आजतक और तो और रिपब्लिक टीवी आदि है गोरी मीडिया के नाम
इस जवाब पर कमेंट करें



ऐप में खोलें