पॉपुलर श्रेणियां

{{ cat.n}}


अगर रामायण और महाभारत के समय विज्ञान था तो वे लोग एक छपाई मशीन तक का निर्माण क्यों नहीं कर पायें?


2 जवाब
   


 Bolkar पुरुषोत्तम सोनी



इस जवाब पर कमेंट करें




प्रश्न है अगर रामायण और महाभारत के समय विज्ञान धातु हुए लोग एक छपाई मशीन तक का निर्माण क्यों नहीं कर पाए तो दोस्तों देखिए अब रामायण महाभारत सच्ची घटना है या नहीं यह तो मैं आपको विश्वास नहीं दिला सकता परंतु मुझे ऐसा लग रहा है कि यदि रामायण और महाभारत के समय में विज्ञान था तो वह लोग छपाई मशीन का निर्माण इसलिए नहीं कर पाए क्योंकि वह लोग मशीनों से दूर रहना चाहते थे वह लोग हो सकता है इसका वातावरण पर खतरा जानते हो हो सकता है तो यही तो डिफरेंस है आज के इस कलयुग में और द्वापर या फिर त्रेता युग में कल कलयुग का मतलब होता है कल मतलब होता है मशीन हाथ कलयुग मशीन सही भरा पड़ा है कलयुग मशीनों का युग है और उस समय यही घोषणा की गई थी कि ऐसा युग आएगा जब लोग मशीनों का प्रयोग करना शुरू कर देंगे जो पूर्णता विज्ञान पर जरूरी नहीं है कि हमारा जीवन सिर्फ और सिर्फ विज्ञान से ही चले हम सिर्फ और सिर्फ विज्ञान से चलेंगे तो आज देख ही रहे हैं आजकल आप लोग कितने परेशानी हैं हमारे हमारे लिए फायदे फायदे का काम भी कर रही है तो घाटे का भी सौदा है कई बार विज्ञान का जो अविष्कार है वह सही काम करता है तो कभी-कभी हाइड्रोजन बम या फिर एटॉमिक बम से हथियार भी बना देती है जो कभी यदि यूज कर लिया जाए तो पूरी पृथ्वी तहस-नहस हो जाएगी तो हो सकता है वह सब जानते हैं और इसलिए मशीनों के प्रयोग से बचना चाहते हो हो सकता है तो इसलिए यह कलयुग से आप कंपेयर नहीं करें तभी बेहतर होगा क्योंकि कलयुग मशीनों का ही योग है और यह घोषणा पहले ही हो चुकी थी यह भविष्यवाणी उन लोगों ने पहले ही कर दी थी और आपने देखा हुआ कि वे दो या फिर गीता या फिर बहुत सारे शास्त्रों में कलयुग का वर्णन है तो कल मतलब मशीन होता है इसका तो वह लोग जानते थे कि ऐसा ही हो जाएगा जिसमें मशीनों का प्रयोग आया होगा सब लोग मशीन यूज करेंगे तो जब इतना जानते तो हो सकता है वह लोग मशीन के बारे में जानते हो परंतु मशीन से बचना चाह रहे हैं तो किस के कुछ नकारात्मक प्रभाव होते हैं और उन्हें पता हो तो यही मुझे ऐसा ही
इस जवाब पर कमेंट करें



ऐप में खोलें