#पत्रकारिता

Dr.Pragya Tiwari Bolkar App
Top Speaker,Level 66
सुनिए Dr.Pragya Tiwari जी का जवाब
Medical student (future doctor)
1:26

और जवाब सुनें

kumar lalit  Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए kumar lalit जी का जवाब
Life cunsultant,motivational speeker voice artist
2:53

jp k Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए jp k जी का जवाब
Unknown
0:27

Rakesh Kumar Yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Rakesh Kumar Yadav जी का जवाब
👨‍🏫 Teacher.
1:59

Daulat Ram sharma Shastri Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Daulat Ram sharma Shastri जी का जवाब
Retrieved sr tea . social activist,
1:27

arjun sharma Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए arjun sharma जी का जवाब
Motor mechanic
2:11

अन्य लोकप्रिय सवाल जवाब

#साहित्य

Raghvendra  Tiwari Pandit Ji Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Raghvendra Tiwari Pandit Ji जी का जवाब
Unknown
2:53

#धर्म और ज्योतिषी

Yogi Nath Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Yogi Nath जी का जवाब
Unknown
2:58
हरे कृष्ण कृष्ण से युधिष्ठिर ने पूछा प्रभु उत्पत्ति एकादशी कैसे हुई तो भगवान श्रीकृष्ण ने युधिष्ठिर को कहा कि सतयुग में मोड़ नामक एक दानव था जिसने पूरे संसार को जीत लिया था तीनों लोग को और देवताओं को विवश कर दिया था पृथ्वी पर विचरण करने के लिए देवता अपनी समस्या को लेकर भगवान शिव के पास पहुंचे भगवान शिव ने कहा आपकी समस्या का समाधान गरुड़ध्वज भगवान हरि विष्णु करेंगे आप उनके पास जाएं सारे देवता पताल में सागर के बीचो बीच पहुंचे वहां उन्होंने विनती की भगवान श्री श्री विष्णु जी से कि प्रभु हमें इस दैत्य से मुर नामक देते थे हमें आजादी पिलाएं याद दिला दो भगवान श्री हरि विष्णु जी ने असत्य के बारे में पूछा कौन है वह दोनों ने बताया देवराज इंद्र ने की ब्रह्मा के वंश से हुए दाल नामक एक असूल के पुत्र है मुर्दा ना जो कि चंद्रावती नाम की नगरी में रहते हैं अब उन्होंने उसका वध करने के लिए भगवान श्री हरि ने उसके पास गए हैं तो बहुत तो युद्ध काफी समय चला उसके पश्चात भगवान हरि विष्णु सिंगर वती गुफा में जाकर विश्राम करने लगे हैं योग्य उतरा में उनके पीछे पीछे मुड़ नामक दैत्य भी वहां पहुंचा तो उन्होंने मारने के लिए प्रयास किया जैसे उन्होंने आज तो उठाया तो भगवान श्री हरि के देर से एक दिव्य ज्योति प्रकट हुई जिसके हुंकार मात्र से ही मोड़ नामक दैत्य का संहार हो गया और उस कन्या को ही उत्पत्ति एकादशी कहा जाता है उसे भगवान ने वरदान दिया कि जो कोई भी तुम्हारा व्रत करेगा उसे संसार की हर एक सिद्धियां हर एक व्यक्ति सॉरी वैभव प्राप्त होगा मुझे यह कथा सुनने का उसका भी उद्धार होगा आशा करता हूं यह कथा आपके जीवन में सकारात्मक परिवर्तन लाए

#स्वास्थ्य और योग

Er.Awadhesh kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 66
सुनिए Er.Awadhesh kumar जी का जवाब
Unknown
1:54
नहीं क्या हमें अपने दिन की शुरुआत योगा और मेडिटेशन द्वारा करनी शुरू करनी चाहिए तो जी हां बिल्कुल अगर आप इसके साथ करते हैं तो कहीं ना कहीं यह कहा जाता है कि हम योगा योगा से अपने दिन की शुरुआत करते हैं तो क्या होगी हमारी जो भी बेकार होते हैं वह दूर होंगे हमें क्या होगा हमारे शरीर को स्वस्थ स्वच्छता मिलेगी हम स्वस्थ रहेंगे और उसके साथ-साथ अगर मेडिटेशन का यूज कर रहे हैं तब ध्यान लगाने का यूज कर रहे हैं तो कहीं ना कहीं हमें शांति प्रदान होगी हमें सुख समृद्धि प्राप्त होगी और हमारी मन की इच्छा होगी वह पूरी तरह से संतुष्ट होगी और हम पूरी तरह से स्वस्थ रहेंगे इन दोनों के साथ अगर हम अपनी युवा की शुरुआत कर रहे हैं और मेडिटेशन से भी अपनी दिन की शुरुआत कर रहे हैं तो दोनों में हमारे शरीर स्वस्थ रहेंगे हमारे शरीर में जो भी बिहार होंगे दूर होंगे मेडिटेशन से हमारे क्या होगी कि जो भी हमारे मन मन एकत्र होंगे हमारी जो शांति मिलेगी जिससे कि बहुत ज्यादा हमारे शरीर को सुख मिलेगा यही कारण है कि दोनों की साथ अगर हम अपनी दिन की शुरुआत आते हैं तो कहीं न कहीं हमारे लिए बहुत ही एक सुखदायक परिणाम दायक होगा जो हम जो चाहेंगे उसे करने में हमारी एबिलिटी रहेगी क्या बिल्टी रहेगी हम अपनी गोल कोई अचीव अचीव करने में बहुत कम समय का उपयोग करेंगे और हम जो भी लक्ष्य हासिल करना चाहेंगे बहुत आसानी से इन दोनों के द्वारा हासिल कर सकते हैं क्योंकि जब हम शरीर से स्वस्थ रहेंगे तो मैं किसी प्रकार की तकलीफ नहीं होगी जब हमारा ध्यान एक जगह लगा रहेगा हमारा मन एक जगह स्थिर रहेगा तो हम किसी चीज को एक ही बहुत आसानी से उस सरलता से कर लेंगे धन्य

#धर्म और ज्योतिषी

Yogi Nath Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Yogi Nath जी का जवाब
Unknown
2:59
एक बार एक व्यक्ति ने पूछा कि अगर सभी ज्ञानी बन गए सभी धनी बन गए सभी के पास ऐश्वर्या जाता है तो जो छोटे-मोटे कार्य हैं उन्हें कौन करेगा और इसमें जवाब दिया कि जब अज्ञानता होती है तो हिंसा अपराध होता है लेकिन अगर जॉब तो ज्ञानी मिलते हैं तो हमेशा ही सकारात्मक परिणाम आते हैं और देखा जाए अगर सभी संपन्न हो जाते हैं तो कहीं ना कहीं वह अपनी नई सुविधाओं के अनुसार अपने लिए स्थिति का निर्माण कर सकते हैं जो ज्ञानी बस अज्ञानता बस इस तरह के भय में जीते हैं कि अगर सभी के सभी के पास सारी संपन्न हो जाए सभी संपन्न हो जाए सारी संप्रदा आ जाए तो क्या होगा विनाश तो नहीं होता एक दूसरे से लगने तो नहीं लगेंगे तो ऐसा बिल्कुल नहीं है जब दो अज्ञानी लोग मिलते हैं तो बहस बाजी होती है हिंसा होता है लेकिन जब ज्ञानी को ज्ञानी व्यक्ति मिलते हैं तो शांति प्रेम और ऐश्वर्या की उत्पत्ति होती है मान लीजिए अगर सभी के सभी अमीर हो जाते हैं सभी के सभी ज्ञानी हो जाते हैं तो अपने लिए कुछ ना कुछ नया डिवेलप करेंगे टेक्नोलॉजी है और भी बहुत सारे सोर्स और बन जाते हैं बनते चले जाते आज देखने जिस तरह से हमारा समय इतना विकसित हो गया इस समय हमें हर चीज उपलब्ध है शायद नॉलेज हो जाए पैसा कमाना चाहते हो कुछ भी चीज है तो इससे भी चीज खत्म नहीं होती अच्छाई से हमेशा अच्छा ही बनती है बुरा ही नहीं होती यह डर लगा रहता है सबके मन में कैसा है वैसा है तो भी श्री राम का जो नाम है बहुत बहुत पवित्र है निर्मल उनका अर्थ यही है धर्म इतना श्री रघुकुल रीति सदा चली आई प्राण जाए पर वचन ना जाए और श्री राम जी तो पुरुषों में उत्तम मर्यादा पुरुषोत्तम है मर्यादा में हर काम करते हैं कभी भी उन्होंने अपनी मर्यादा लंगी नहीं चाहे उन्हें 1 मार्च जाना पड़ा 14 वर्ष के लिए उन्होंने कभी भी आपत्ति नहीं जाता है और चाय उनके राज्य के जो प्रजा है जो उनके पुत्र के समान थे उनके लिए भी उन्होंने जितना हो सका त्याग किया

#भारत की राजनीती

bolkar speakerकिसान आंदोलन कब खत्म होगा?
T P Singh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए T P Singh जी का जवाब
Business
2:58
आपका प्रश्न है कि किसान आंदोलन कब खत्म होगा देखिए बात आपकी बिल्कुल ठीक है कि यह बहुत सारे लोगों के मन में यह विचार है और यह जानने की उत्सुकता है कि यह किसान आंदोलन कब खत्म होगा लेकिन फिलहाल काउंटर भविष्य के गर्भ में छिपा हुआ है क्योंकि एक बात हम को समझ लेना चाहिए कि जो व्यक्ति सोया हुआ उसको तो जगाया जा सकता है लेकिन जो व्यक्ति सोने का नाटक कर रहा हूं उसको आप जगाने की कितनी भी कोशिश करें तो उसको जगाना मुश्किल होगा ठीक है ऐसा ही यहां पर है यह जानते पूछते समझते हो यह जो प्रश्न कृषि के लिए जो कानून आया है कृषि सुधार बिल आया है या किसी भी रूप में किसानों के लिए बुरा नहीं है और अगर उसमें कुछ आंशिक रुपया भी है और दोष भी है तो सरकार बहुत खुले रहे इस पर चर्चा कर उसके संशोधन करने के लिए तैयार हैं लेकिन कुछ राजनीतिक पार्टियां या उन राजनीतिक पार्टियों के पीछे चलने वाले लोग या कुछ देश विरोधी संगठन के सदस्य यह जानते हैं पहले से जिस दिल में कोई तो दिया नहीं है लेकिन वह इस दिल को एकमात्र अपने हितों की पूर्ति के लिए अपनी खोई हुई सत्ता की जमीन को पुनः प्राप्त करने के लिए किसानों को भड़का करके उनको भ्रमित करके उनको गलत संदेश देकर इस आंदोलन को चला रहे हैं सरकार यथासंभव कोशिश कर रही है कि लोगों से बातचीत करके उनकी कोई तकलीफ है तो संशोधन के माध्यम से दूर करके इस आंदोलन को समाप्त करवाया जाए लेकिन वह लोग सरकार की नहीं मान रहे वह लोग हमारी न्याय प्रणाली में विश्वास नहीं कर रहे गुस्से से एक झंडा बुलंद किए हुए हैं कि या तो इसको हटाओ नहीं तो हम तो नहीं मानेंगे अब किस तरह से लोकतंत्र नहीं चलता इस तरह से देश नहीं चलता इस तरह से संविधान नहीं और इससे लिए देखिए इसका क्या उत्तर होता है और उनका भी आंदोलन कब कब खत्म होगा

#जीवन शैली

Nikhil Ranjan Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Nikhil Ranjan जी का जवाब
HoD NIELIT
0:41
राधा कृष्ण भारत तेरे टुकड़े होंगे कहने वाले लोगों को भी पसंद करते हैं भारत में तो आपको बता जाएंगे बिल्कुल भारत एक ऐसा देश है जहां पर भारत को सपोर्ट करने वाले ने भारत के आगे चलने वाले लोगों को भी बहुत ज्यादा मोहब्बत बहुत ज्यादा प्यार मिलता है और ऐसे लोग जो कि भारत के या भारत के संसद के बारे में बुरा बोलते हैं या बुरा करते हैं उनको भी अच्छा खासा यहां पर समर्थन दिया जाता है जो कि एक विडंबना ही है काफी गहरा इस बारे में समाचार ने अपनी राय जरूर दें शुभकामनाएं आपके साथ हैं धन्यवाद

#जीवन शैली

bolkar speakerधरती से भारी क्या चीज है?
T P Singh Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए T P Singh जी का जवाब
Business
2:58
आपका प्रश्न है कि धरती से भारी क्या चीज है देखें इसके बारे में एक दोहा भी कहा गया लेकिन कुछ दोहे के बारे में बताने से पहले मैं आपके प्रश्न का उत्तर देता हूं कि धरती से भारी या भूमि से भारी पाप शास्त्रों में ग्रंथों में और साहित्य में सांप को भूमि से बीमारी माना गया है धरती पर भी भारी माना गया है और जिस दोहे के बारे में मैं बता रहा था वह दोहा इस तरीके पर है कि जल से पतला कौन है कौन भूमि से भारी मेरे शब्दों पर फिर आपको कॉल कीजिएगा जल से पतला कौन है कौन भूमि से भारी कौन अग्नि से तेज है कौन काजल से काली अर्थात जल से भी पतला क्या है भूमि धर्म अर्थात धरती से भी भारी क्या है और कौन सी चीज है जो अग्नि से भी ज्यादा तेज है और कौन सी ऐसी चीज है जो कि काजल से भी तो इसका उत्तर दिया गया है कि जल से पतला ज्ञान है जल से पतला कौन है कौन भूमि से भारी पाप जो है वह भूमि से भी भारी है क्रोध अग्नि से तेज है कौन अग्नि से तेज है तो क्रोध अग्नि से तेज है और कौन काजल से काली तो कलंक जो है आपके ऊपर कोई भी एक कलंक लग जाता है काजल से भी काला और इसलिए मैं अपने साहित्य अपने ग्रंथ अपने शास्त्रों के साथ जाते हुए उससे सहमति व्यक्त करते हुए मैं आपके प्रश्न का सही उत्तर दूंगा धरती से भी भारी पाप है भूमि से बीमारी पाप है और इंसान को हर संभव प्रतिक्षण इस बात का ध्यान रखें कि उसके हाथों से कोई पाप ना हो आप आप केवल हाथ से ही हो जरूरी नहीं है आप आपकी भाषा में भी हो सकता है वह आप आपके अंदर आए हुए झुकू विचार होते हैं खराब विचार होते हैं वह भी पाप की श्रेणी में माना गया है आपके हाथों से आपको यह अपराध करते हैं बुरा कार्य करते तो वह भी खराब

#अंतर्राष्ट्रीय

vk yadav Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए vk yadav जी का जवाब
Student
0:42
वेस्टइंडीज वालों को पढ़ते थे उसी तरह इस बार भी मुझे इस दुनिया में अच्छे लोगों की दुनिया में क्यों इस सब के विचार अच्छे हो इसके लिए हम क्या कर सकते हैं अच्छे लोगों की बात ही करनी है अच्छे लोगों को भगवान जल्दी उठा ले जाती है हम तो बताई जाती सब मिलजुल कर भाईचारे से अच्छी भाषा बोले अच्छा पढ़ा लिखा बने अच्छी पढ़ाई अच्छी शिक्षा देना जिससे वह मुझे बुरा ना भूलें अच्छे मन में विचार आया यह सब होना चाहिए ना कि नफरत तो नेगेटिव सोच लो या नहीं

#रिश्ते और संबंध

debidutta swain Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए debidutta swain जी का जवाब
Motivational speaker
0:43
चलिए चीज जो हम बोलेंगे कि इसे जायज हो रहा है जिसका मैं बीमार किया हूं और और एक चीज पर बीमार किया हूं कि जुल्म का उत्तर इतना सही नहीं होता है उत्तर में उसने क्वालिटी सही नहीं होता है उनको काफी लाइक मिलते हैं उनको काफी सब स्काई बस मिलते हैं तो इसलिए इसका भी चाहिए रीजन में बताऊंगा साइकिल हमारी भारत में भी हो रहे और सारी कंपनी सॉफ्टवेयर कंपनी अच्छी है आप से बगैर एनीथिंग के प्रमोशंस मिलता है कंपनियों की तरफ से कुछ कुछ लोगों को जोड़ो प्रदीप ज्यादा बचा के रखे हैं उनको थोड़ी कमीशन मिलता है तो इससे बजे से शायद ही चीज होता है

#साहित्य

Seema yadav   PGT Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Seema yadav PGT जी का जवाब
Teaching
2:08
नमस्कार आपका प्रश्न है उपन्यास लिखने के लिए व्यक्ति ने क्या योग्यताएं होनी चाहिए तो उपाय उपन्यास लिखने के लिए व्यक्ति में ऐसी कोई विशेष योग्यता की जरूरत नहीं होती है फिर भी मानसिक योग्यता का होना बहुत ही जरूरी है अपनी बात है क्या आपको लिखना आना चाहिए लिखने लिखना पसंद करते हो तो जब भी आपके दिमाग में कोई भी बातें आए तो आप उसे लिख डाले और कॉपी हमें कोई विचार है जैसे दिया है उसे लेखनी बंद करते चले जाइए बाद में उसको देखी क्या आपने क्या लिखा है कैसे लिखा है मैं किस तरीके से क्योंकि जो सोता हूं कल्पना पर आधारित होता है काल्पनिक होता है जितना भी आप अच्छे कल्पना कर ले जाएंगे जितने आप ही कल्पना शक्ति ज्यादा होगी उतना ही अच्छे से उपन्यास आप लिख पाएंगे और लिखते समय यह कभी भी अपने माइंड में बातें ना लगे कि जो हम लिख रहे हैं लोग सुनेंगे देखेंगे पड़ेंगे तो हमें क्या कहे कोई कुछ नहीं कहेगा कहेगा भी तो आपकी रचनात्मक शैली है जरा जरा नरेश ना करने की जो कला है उसमें उन्नति है होगा क्योंकि कोई दिखावा करता है हमारे लेखन कला की आलोचना करता है लेख की आलोक आलोचना करता है और उस कमी को दूर करने का हम भरपूर प्रयास करते हैं इसमें बुरा मानने की या खराब लगने की कोई बात नहीं है प्रयास करने से ही प्रयत्न करने सब कुछ आता है सब कुछ इंसान सीखता है इसलिए उपन्यास लिखने के लिए आप में कल्पनाशीलता लिखने का ढंग से लिखो तो इस तरह की इन सब बातों का ध्यान रखना चाहिए धन्यवाद

#टेक्नोलॉजी

Yogi Nath Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए Yogi Nath जी का जवाब
Unknown
2:59
नमस्कार मेरे पास एक सिक्का है और उस सिक्के के दो पहलू हैं है तो वह एक ही लेकिन उसके पहलू तुम्हें कहने का अभिप्राय यही है कि हर चीज के दो नजरियों होते अच्छा और बुरा भी जैसा कि आपने प्रश्न किया है कि अब स्मार्टफोन में कितना वक्त एस्कवा स्मार्टफोन के साथ बिताते हैं तो यह आपके ऊपर निर्भर करता कि आप उसका इस्तेमाल किस प्रकार से करते हैं मैं इतना महत्व नहीं देता व्यस्त उसूल के इस्तेमाल के लिए स्मार्टफोन पर इतना वक्त नहीं देता हूं लेकिन इस स्मार्टफोन की महत्वता को मैं अच्छे से समझता हूं कि कितना महत्वपूर्ण है हम सभी के जीवन में इसके बहुत से फायदे हैं अगर से सही तरीके से इस्तेमाल किया जाए जैसे नेट बैंकिंग हो गई समस्या रहती थी पैसे ट्रांसफर करने के लिए बहुत से झंझट होते थे अब सरिता से आपको यह सारे काम कर सकते हैं किसी से बात करनी हूं किसी को मैसेज भेजना हो और भी बहुत सारे सवाल जवाब आपके मन में जो चल रहे होते उन्हें आप पूछ सकते हैं जान सकते हैं सिर्फ और सिर्फ आपके हाथ में जो स्मार्ट वालेकुम के माध्यम से आप पूरे संसार से कनेक्ट कर सकते हैं पूरे संसार की जानकारी आपको मिल जाएगी आपके स्मार्टफोन पर बस यह निर्धारित आपके ऊपर करता है कि आप किस चीज को ज्यादा तकलीफ देते हैं जितना ज्यादा महत्व देते बहुत से लोग स्मार्टफोन का इस्तेमाल गेमिंग के लिए करते हैं बेफिजूल का समय अलग थोड़े वक्त के लिए अगर आप कहीं वेटिंग रूम में है या थोड़ा वेट करें तो मैं यह सलाह नहीं दूंगा कि वहां पर भी आप गेम खेलें वहां अपने आप को प्रिपेयर करें इस काम के लिए आप गए हैं जिस काम के लिए वेट करें लेकिन बोला कि अगर आपको वेट करना थोड़ा समझ कर लटका दो अब थोड़ा 5 से 10 मिनट गेम खेल सकते हैं अपने माइंड को फ्रेश करने के लिए कई बार बहुत सारी ऐसी समस्याएं आती है जटिल समस्याओं से निकलने में हमें बहुत मुश्किल होती परेशानी आती है तो उसके लिए हम थोड़ा अपना माइंड फ्रेश करने के लिए थोड़ा बहुत गेम खेल सकते 5 से 10 मिनट गेमिंग में बुरी चीज नहीं है लेकिन हम हर चीज की खेती होती अगर आप किसी चीज को बहुत ज्यादा करोगे अगर बहुत ज्यादा खाना भी खाओ जाओ कितना भी हेल्दी फूड क्यों ना हो आप को नुकसान पहुंचाएगा आप कितनी अच्छी है एक साइड एक्सरसाइज बहुत ज्यादा करो और अपने शरीर को देखना दो वह भी आप को नुकसान पहुंचाएगा तो हर चीज का इस्तेमाल सही तरीके से करना यह बहुत महत्वपूर्ण है इसके साथ-साथ उसके नियंत्रण टाइमिंग पर नियंत्रण करना वह भी बहुत जरूरी है प्लीज

#रिश्ते और संबंध

Jyoti Malik Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Jyoti Malik जी का जवाब
Student
1:20
प्रश्न है कि शादी में पार्टी में जाने से पहले चेहरे पर ऐसी कौन सी क्रीम लगाएं कि चेहरा चमकेगा देखिए ग्रोइंग त्वचा तो हर कोई चाहता है लेकिन सारा तामझाम कोई नहीं चाहता कि सबसे पहले यह लगाए हैं वह लगाएं तो कुछ लोग जो सीधे साधे सिंपल तरीके से भी चमकदार बन सकते हैं और अपने चेहरे पर एक अच्छा सा ग्लो ला सकते हैं अगर आपके मन में यह सवाल आता है कि चेहरे के लिए सबसे अच्छी क्रीम कौन सी है जो चेहरे को चमका सकती है तू मेरा जवाब होगा ओलय व्हाइट रेडियंस एडवांस क्रीम ऐसा इसलिए क्योंकि ब्रांड के ब्यूटी प्रोडक्ट पर आज लोगों को काफी विश्वास होता जा रहा है और यही वजह है कि इसके प्रोडक्ट आज तेजी से लोकप्रिय भी हो रहे हैं सुंदरता में निखार लाने के हिसाब से क्रीम अच्छी और असरदार मानी जाती है हम आपकी त्वचा को सूरज की हानिकारक किरणों यानी अल्ट्रावायलेट रेस से बचाने के लिए क्रीम बहुत अच्छी होती है और आपके चेहरे अगर कोई कील मुंहासे है दाग धब्बे हैं तो उनको भी कवर करने में और आपके चेहरे को चमकदार बनाने में अगर आप किसी शादी में जा रहे हैं पार्टी में जा रहे हैं उससे पहले अगर आप यह ओले व्हाइट रेडियंस की क्रीम लगाते हैं तो आपके चेहरे पर अच्छा असर होगा और आपका चेहरा चमकदार होगा धन्यवाद

#अंतर्राष्ट्रीय

srikant pal Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए srikant pal जी का जवाब
Student
0:42

#खेल कूद

anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए anuj ji जी का जवाब
Unknown
1:01
मकर संक्रांति का त्यौहार भारत के विभिन्न भागों में निम्न प्रकार से जाना जाता जैसे असम में होगा दीपू करते हैं और पंजाब हरियाणा और हिमाचल प्रदेश में लोड करते हैं तथा मध्य भारत में सुकरात कहते हैं और तमिलनाडु में थाई पोंगल कहते हैं और उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश में उत्तरायण के आते हैं और उत्तराखंड में घुघूती कहते हैं उड़ीसा कर्नाटक महाराष्ट्र और पश्चिम बंगाल में पोस्ट संक्रांति कहते हैं अर्थात मकर संक्रांति में कहते हैं तथा उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश में खिचड़ी संक्राति भी कहते हैं तेलगाना और आंध्र प्रदेश में संक्रांति कहते हैं त्रिपुरा में है अंग्रेजों से लड़ाई करते हैं तथा पड़ोसी देश नेपाल में इस पर्व को मार्ग संकरा कहा जाता है

#टेक्नोलॉजी

anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए anuj ji जी का जवाब
Unknown
0:38
यदि किसी कंपनी का मालिक अगर आपको कर्मचारी यानी कर्मचारी को निकाल दे तो एक उपाय करना चाहिए इसके लिए जब भी आपको नौकरी से निकाल दिया जाता है तो टर्मिनेशन कि लेटर की मांग अवश्य करें जिससे कि आप कोर्ट में प्रूफ कर सके कि आपको कंपनी ने जॉब से टर्मिनेट किया है नहीं तो कंपनी वाले ज्यादातर मामले में कोर्ट में झूठ बोल देते हैं हमने तो उनकी नौकरी से निकाला है नहीं है ऐसे कह देते हैं

#खाना खज़ाना

Jyoti Malik Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Jyoti Malik जी का जवाब
Student
2:48
प्रश्न है आसान तरीके से लौकी का स्वादिष्ट हलवा कैसे बनाएं दी कि उसके लिए सबसे पहले आपको लो कि चीनी मावा फुल क्रीम दूध की काजू बादाम इलायची अगर आप उसको थोड़ा सा ही बनाना चाहते हैं तो आप काजू बदाम इलायची का प्रयोग कर सकते हैं अन्यथा आप इसे अब रहने भी दे सकते हैं लेकिन जो अनिवार्य चीज है अलौकिक चीनी मावा और फुल क्रीम दूध और घी यह तो होना ही चाहिए हलवा बनाने के लिए लौकी को धो कर ले लीजिए और ठंडल को काटकर हटा दीजिए लौकी को 3 या 4 इंच के बड़े टुकड़े में काट कर चारों तरफ से कद्दूकस कर लीजिए इसके बाद नर्म भाग और बीच को हटा दीजिए काजू और बादाम को छोटे-छोटे टुकड़ों में काटकर तैयार कर लीजिए और इलाइची को छील कर इसके बीजों का पाउडर बना लें 10 को गैस पर गरम करती थी और लौकी को पैन में पकने के लिए डाल दीजिए और दूध को डाल कर अच्छे से मिला दीजिए 10 को ढक कर लो कि को तीन से 4 मिनट तक धीमी आंच शराब पकने दीजिये लौकी को चेक कीजिए लौकी हल्की सी नरम हो जाए अगर लौकी में दूध दिख रहा है तो गैस की आज को तेज कर के दूध के खत्म होने पर लौकी को एक से 2 मिनट चलाते हुए पकाएं लौकी में दूध जब खत्म हो जाए तो लौकी में चीनी डालकर मिला लीजिए हलवे में चीनी के पूरी तरह गुल्ले तक और उसका दूध खत्म होने तक इसे पका लीजिए हलवे को हर 1 मिनट में चलाते हुए पकाएं जिससे कि यह पैन के तले पर ना लगे अब एक दूसरे पैर में मामा को भूनकर तैयार कर ली थी इसके लिए पैन में क्रम्बल किया हुआ मावा डाल दीजिए जय भीम यो मीडियम रखे और मामा को लगातार चलाते हो हल्का सा कलर बदलने में तक उसे पकाएं मावा के कलर बदलने और उसमें घी निकालने पर मामा बनकर तैयार है इसे प्याले में निकाल दीजिए लौकी में बहुत कंजूस बस जाने पर इसमें की डाल दी जो लगातार चलाते हुए दो-तीन मिनट तक अच्छे से भून लीजिए लौकी के भूल जाने पर इतने भुना हुआ मावा काट कर रखे हुए काजू बदाम अगर आपने इस्तेमाल में ला सकते हैं तू और उसे भी एक-दो मिनट तक अच्छे से बकाया हलवे को लगातार चलाते हुए धीमी आंच पर 3 से 4 मिनट के लिए पकने दीजिये और फिर आपका जो हलवा है वह खाने लायक बन जाएगा ऐसी आप 2 मिनट में बहुत आसानी से यह बात सुनकर अपने लोगों को और अधिक स्वादिष्ट बना सकते हैं मेरे कुछ सुझाव है अगर आप उनको सुनेंगे तो आप का हलवा जो है और भी स्वादिष्ट बन सकता है हलवा बनाते समय से लगातार चलाते रहे जिससे आप का हलवा चले से चिपक कर चले नहीं हलवे को पूरी तरह से ठंडा होने पर फ्रिज में रख दीजिए और 1 हफ्ते तक आपका जब मन हो तो फिर से निकाल कर खा सकते हैं लौकी का हलवा बनाने से पहले एक बार लोगी को टेस्ट जरूर कर लीजिए क्योंकि कभी-कभी लौकी कड़वी निकल जाती है जिससे आप का हलवा जो है कड़वा हो जाता है धन्यवाद

#धर्म और ज्योतिषी

anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए anuj ji जी का जवाब
Unknown
0:54
भगवान कण-कण में विराजमान है यह बात वह दिखता है किंतु परमात्मा को पर प्रगट करना हार्दिक ता है रतन के लिए जीतना भोजन आवश्यक है ठीक उसी प्रकार मन के लिए भजन भी उतर आया उसी का जैसा बिना भूख के समय होने पर भोजन कर लेते हैं वैसे ही मन पर ना लगने पर समय से भजन करना चाहिए अर्थात जसूद हो या कोई भी चीज में सुख शांति नहीं मिली है ना कहीं घूमने का मन नहीं करा तो एक बार मंदिर जब जाते हैं तो मंदिर में प्रवेश करते हैं तो हमें संतुष्ट नहीं आनंद प्राप्त होता है इसलिए हम मंदिर में जाते हैं और भगवान को प्रसाद चढ़ाते हैं

#टेक्नोलॉजी

Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Rahul kumar जी का जवाब
Unknown
0:53
सवाल छुपे हुए कैमरे का पता कैसे लगाएं दोस्तों एक ही आपको ट्रिक बताऊंगा बहुत ही कारगर साबित होगी यदि आपको कहीं पर भी ऐसा शक होता है वैसे ऐसी जगह पर जाते हैं वहां पर रूम लेते हैं वहां पर विशेष तौर पर कॉल कीजिए जब आप कॉल करोगे तो आपके मोबाइल के अंदर से आपको पता चलेगा कि आप जहां पर कोई ना कोई कैमरा

#रिश्ते और संबंध

Rahul kumar Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए Rahul kumar जी का जवाब
Unknown
0:58
गोरे रंग से लोग इतना प्यार क्यों करते हैं दोस्तों आजकल जो भी है गोरे रंग के ऊपर निर्भर करता है कोई भी लड़का हो या लड़की हो वह गोरे ही एक पार्टनर की तलाश करते हैं भाई गोरा रंग गोरा रंग और उसके बदले प्यार करते हैं

#धर्म और ज्योतिषी

Pradumn kumar Vajpayee Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए Pradumn kumar Vajpayee जी का जवाब
Bijneas9369174848
0:47
भगवत गीता पढ़ने से सच में मन और जिंदगी की उथल-पुथल स्थान सकती है तो हां दोस्तों काम क्रोध मोह लोभ इन सभी बातों का आपको पूर्ण रूप से ज्ञान होगा और आप अपने जीवन की उथल-पुथल को कम कर सकते हैं ऐसी जानकारियां प्राप्त होंगी जिसके बारे में आपने सोचा नहीं होगा किस प्रकार से अपने दुश्मन से लड़ना है किस प्रकार से उस को हराना है यानी पराजित करना है किस प्रकार से व्यक्ति चला जाता है हल्की माया क्या होती है इन सब बातों का गूढ़ ज्ञान आपको प्राप्त होगा साथ ही जीवन क्या है आत्मा क्या है इसका बोध होगा धन्यवाद

#धर्म और ज्योतिषी

anuj ji Bolkar App
Top Speaker,Level 11
सुनिए anuj ji जी का जवाब
Unknown
0:39
इस नदी में जल के स्थान पर रक्त और मवाद जाता है और इसके तट पर हड्डियों से भरे रहते हैं तथा मगरमच्छ सुई के समान मुख वाले प्यार ना कर मी कदम मछली और वजह जैसी सोच वाले गीतों का या निवास स्थल था तथा गरुड़ पुराण में यह बताया गया कि यमलोक का रास्ता ध्यान रख और पीड़ा देने वाला है केवल एक नाव के राही ही इस नदी को पार किया जा सकता है
    URL copied to clipboard