#टेक्नोलॉजी

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam khatun जी का जवाब
Student
1:24
हेलो शिवांशु आज आपका सवाल है कि क्यों हम फर्स्ट सेकंड का उपयोग करते हैं और पसली सेकेंडरी का नहीं करते हैं विचारों पर जब से तू ऐसा कोई रूल नहीं है डिक्शनरी में कि आप फर्स्ट और पत्नी अगर करेंगे तो सेंटेंस गलत हो जाएगा या फिर उसके मीनिंग गलत हो जाएंगे ऐसा नहीं है आप सेंटेंस वाक्य के हिसाब से दोनों का उपयोग करते दोनों सही होगा लेकिन बहुत बार इंग्लिश में क्या होता है कि आज ऑफिस लगता है हमारे हिसाब से ऐसा नहीं है कि वह दोनों वर्ड गलत हो गई लेकिन जो हमें पता है वो सही होता अपने बहुत पर स्कूल में भी देखा होगा कि मतलब कोई भी अगर ना होता तो मैं शराब जैसी हूं इंसान कुछ लिख देता है मीनिंग निकलता है वहां से से तो गलत नहीं होता है तो आप पर डिपेंड करता है आप तो फर्स्ट भी यूज़ कर सकते फर्स्टली भी यूज कर सकते हैं प्लीज फर्स्ट सेकंड थर्ड फोर्थ ऐसे यूज करते लेकिन फर्स्टली सेकेंडरी फिर आप क्या लिखेंगे 3432 ठीक नहीं लगता जिसकी वजह से नहीं करते हो

#टेक्नोलॉजी

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam khatun जी का जवाब
Student
0:53
हेलो शिवांशु आज आपका सवाल है कि पटाखों से निकलने वाली रोशनी अलग-अलग रंगों की किन कारणों से होती है पता चला तुम्हारे मन में यह सवाल आता है कि कैसे लाइट और कैसे हैं लाइक अलग-अलग रंग निकल रहे हमें देखने के लिए मिल रहा है छोटा सा केमिकल मिला हुआ है इसी के कारण मतलब बहुत तरह के रंग देखने के लिए मिलता है बारूद और क्या सकते हैं तो यह सब का मिश्रण होता है जैसे कि आपके सोडियम नाइट्रेट हो गए हैं इसलिए नाइट्रेट हो गए तो यह सब मिलाया जाता है कि सब कारणों की वजह से अलग-अलग रंग जवाब पटाखा जलाते हैं तो कमी के लिए अलग-अलग रंग आपको देखने के लिए मिलता है

#टेक्नोलॉजी

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam khatun जी का जवाब
Student
0:58
हेलो एवरीवन तो आज आप का सवाल है कि विद्युत बल्ब के अंदर पतले तार को क्या कहते हैं और यह किस चीज का बना होता है तो दिल के अंदर हमें अक्सर वह तालिका में देखा होगा अगर वो टूट जाता है तो कल बिल्कुल भी नहीं जाता चाहत का बिल कितना भी न्याय क्यों ना वह बहुत इंपॉर्टेंट होता है जो तंत्र नायर से बना होता टंगस्टन से दो यह काम कैसे करता है यह सेटिंग इफ़ेक्ट ऑफ इलेक्ट्रिक करंट इसी से ही काम करता है जिसे हम एकदम मतलब स्विच ऑन करते हैं इस बटन दबाते हैं तो उस पार है उसमें करंट पास होता है और उस फिलामेंट होता कलर का जो तार है वह किसके वहां पर मतलब पहुंचता घोषित के वजह से बाल बांका ब्लॉक करना जिस वजह से मिलना कहते हैं और फिर पूरे घर में हर जगह नहीं होती है

#टेक्नोलॉजी

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam khatun जी का जवाब
Student
1:38
हेलो एवरीवन तो आज आप का सवाल है कि आर्टिकल का प्रयोग कहां करते हैं अधिक से अधिक कहां यूज करना है कहां नहीं है हमें मतलब तुमसे बहुत ही कंफ्यूज करता है सबसे पहले आर्टिकल्स होता क्या आर्टिकल आपकी और हमारी कहते हैं और हमेशा नाम और संज्ञा शब्द से पहले ही लगता है वहां पर यूज होता है वैसे जगह वैसे नाम के पहले यूज़ होता है जहां से आपको कौन सा नाम के मतलब समझाते हैं जैसे कि आपको पता पॉवेल और कमेंट किया था आपकी बबल सो जाते एआईओयू और बाकी जितना भी पता कॉन्सोनेंट हो जाता तो मोबाइल को छोड़कर जितने भी बच्चे अल्फाबेट्स नगर किसाननगर आते हैं ना उनके तो आप वहां पर एक ही यूज करेंगे और अगर वह गलत के साउंड आते हैं ई आई ओ यू टू आप वहां पर एंड का इस्तेमाल करेंगे और दे दो जो इंपॉर्टेंट इंसान को ज्यादा कंफ्यूज करता है तो दो हम वहां पर यूज करते हैं जहां पर कोई भी चीज फिक्स होता है जैसे कि इंडिया इंडिया बहुत सारे एक ही इंडिया न्यू यॉर्क बहुत सारे नहीं है एक ही नहीं है कंट्री है अगर आप किसी को भुलाते आप लड़का बोलते तो लड़के बहुत सारे हो सकते हैं लेकिन जब आप किसी का नाम बोलता तू ए स्पेसिफिक आप उसी के बारे में बोल रहे थे जब हम किसी पार्टिकुलर स्पेसिफिक के बारे में बोलते तो का इस्तेमाल होता तो यही आशीष का इस्तेमाल करते हैं

#जीवन शैली

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam khatun जी का जवाब
Student
1:16
हेलो शिवांशु आज आप का सवाल है कि उस सीजन 7 की नीलामी किस में मददगार है तुरंत जानते हैं हमें ऐसा लगता है कि सिर्फ सांस लेने के लिए प्रक्रिया में सीजन काम आता है लेकिन मैं आपको बता दूं तो सब सिंह माउंटेन रीजन के कारण कुछ भी नहीं हो सकता वह चलना बरनी अगर ऑक्सीजन मौजूद नहीं है तो कोई भी सामान नहीं जलपान का काम आता है बहुत सारे ऐसे आप रख लिया है लेकिन जो सबसे इंपॉर्टेंट जो लोग अपनी निजी जिंदगी में देखते हैं आज भी बहुत सारे घरों में चूल्हा जलता है लोग मतलब लकड़ी में खाना बनाते तू बिना ऑक्सीजन इसे हमें पता है कि एयर में ऑपरेशन भी मौजूद है जो बिना ऑक्सीजन के कोई भी चीज नहीं है जहां पर कोई भी चीज में कोई भी चीज कोई भी मतलब गैस कोई भी एयर प्रेशर नहीं है वह पूरा ही व्यक्ति तो वहां पर अगर आप कोई भी सामान जलाने की कोशिश करेंगे तो बिल्कुल भी नहीं चलेगा क्योंकि बहुत तेज तू जहां मन में आता है वही पर वह सामान कोई भी सामान चल पाता तो हमेशा सोचने की सांस लेने के लिए लेकिन और भी बहुत ही इंपॉर्टेंट चलने के लिए आवेदन के बिना कोई भी सामान जल्दी सकता

#स्वास्थ्य और योग

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam khatun जी का जवाब
Student
1:59
हेलो तो आज आप का सवाल है कि मनुष्य की आंख कैसे काम करते हैं इंसान के शरीर में आंख बहुत इंपॉर्टेंट होता है एक बहुत ही इंपॉर्टेंट था क्या सकते हैं और बहुत ही इंपॉर्टेंट रोल प्ले करता है अगर आपका हाथ नहीं है फिंगर नहीं है पास नहीं है तो अखिलेश अब दुनिया देख पाते हैं आपके आसपास क्या हो रहा है क्या नहीं उसे देख पाते हैं समझ पाते हैं लेकिन अगर आंख नहीं है तो बहुत ही अकेला दुनिया मतलब अंधेरा कुछ भी समझ नहीं आता है ऐसा लगता है कि कोई भी नहीं है तो आप का सवाल क्या काम कैसे करती है तो दिमाग बहुत ही सेंसिटिव होता है उसे बहुत ही सेंसिटिव बनाए गए इसलिए जब भी कोई भी चीज हमारे आसपास या फिर आंख की तरफ से और ऐसे जाता है तो हमारा जो अपने आप ही बंद हो जाता है इस तरह से उसे बनाया गया तो देखी आपने स्कूल के समय पर आ पड़ा होगा कि लेंस मिरर यह सब में इमेज कैसे फॉर्म होता है तो हमारा तो आंखें और लेंस में जैसे इमेज कॉम होता है जैसे आप बनता है इमेज वैसे ही हमारे हाथ में भी बंदा दिखे आंखें के अंदर की रेटीना है रेटिना में ही सारे इमेज कोई भी लाइट रिफ्लेक्ट करता है मारे आंख में जैसे ही आता तो रेटीना में इमेज फॉर्म होता है अगर आप के रेटिना में इमेज काम नहीं होता नहीं बन पाता है अगर आपको जैसे कि आपने सुना होगा कि आपको दूर की चीजें नहीं दिखती है जिसे मायोपिया करते तो मतलब आपका इमेज रेटिना में फॉर्म नहीं हुआ एक होता हाइपरमेट्रोपिया जैसे आपको दूर का चीज दिखता का चीज नहीं दिखता है इसका मतलब है कि आपकी इमेज रेटिना में फॉर्म हो ही नहीं रहा जिसकी वजह से यह एयर हो रहा है आपको कोई भी चीज दिखाई नहीं दे रहा है कि रेड जहां पर होना चाहिए रेटिना में मैन होमकमिंग चश्मा पहनते हैं या फिर अजूबी अंगनवा ऑपरेशन सर्जरी जो भी करना चाहते वह करवाते तो इस तरह से हमारे आंख में कोई भी इमेज फॉर्म होता है किस व्यक्ति के लेंस की तरह काम करता है

#स्वास्थ्य और योग

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam khatun जी का जवाब
Student
1:41
आज आप का सवाल है कि आंख से पानी क्यों निकलता है और यह पानी नमकीन क्यों होता है तू देखिए हमारे आईबॉल के ऊपर एक्टिव ब्लड होता है जैसे कि सलाइवेरी ग्लैंड होता है जहां पर लाल होता किस तरह से अब हमारे शरीर में हमारे बॉडी में बहुत सारे ज्ञान सोते हैं और वह 11 इन चाय सिगरेट करता तो टाइम भी हमारे और आपके ऊपर होते हैं तो जब भी हम थोड़ा साइड होते हैं या फिर हंसते हैं तो वहां से लिक्विड है पानी और आंसू हम जिसे कहते हैं वह निकलता है यह कभी कदार सामने से हंसी के वजह से और कभी कदर आई क्या हमारा हाल-चाल मत इस सेंसिटिव होता है तो किसी भी तरह का गंदगी या फिर और कोई भी चीज अगर हमारी आंख में चला जाता है तो उस वजह से भी पानी निकलता है क्योंकि जैसा कि मैंने कहा कि हमारा जो आंसू बहुत सेंसिटिव तबाही की नमकीन क्यों होता है उसमें बहुत तरह के इलेक्ट्रोलाइट मौजूद है और इलेक्ट्रोलाइट्स जैसे कि आपके सोडियम हो गए हैं क्या लिखे हो गया पोटैशियम हो गया तू ही सब तरह के इलेक्ट्रोलाइट से जो नमकीन टेस्ट मतलब ऐसा सोल्टी टाइप का लगता है हमारा मुल्क आशु आप बहुत सारे लोग जानबूझ कि इसका टेस्ट नहीं करते हैं कि आज करना है या फिर देखना है फिर से पानी निकलता तो लगता है तुझे इलेक्ट्रोलाइट की वजह से ही मतलब हमें नमकीन टेस्ट लगता है

#जीवन शैली

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam khatun जी का जवाब
Student
1:39
तो आज आप का सवाल है कि क्या पागल इंसान हो ऐसा लगता है कि वह पागल है तू कैसे कह सकते हैं कि हम नॉर्मल है और हम लोग एक इंसान हैं हम ऐसा कैसे कह सकते क्योंकि हम अपने आसपास से देखते हैं कि लोग मतलब हमारे जैसे काम कर रहे हैं कभी कदार क्या होता है कि सिचुएशन के हिसाब से हम बात नहीं करते बहुत सीरियस लेते हैं तो लोग हमें भी पागल कहते इसका मतलब हम आसपास को देखकर ऐसा ही उमन एक ही नीचे और भी होने चाहिए हम उसे साथ उसके अकॉर्डिंग उसके अनुसार कोई भी काम नहीं करते तो हमें पागल घोषित कर दिया जाता है तो हम समझ जाते कि हमारा दिमाग से समझता है कि नहीं हम इसके अकॉर्डिंग काम नहीं कर रहे थे बस लोगों ने मुझे पागल का डर हमेशा व्यस्त लेकिन जो पागल होते हैं अगर उनको आप बोलेंगे कि पागल है तुमको पता ही नहीं कि पागल का मीनिंग क्या है और पागल क्या होता है उनके हिसाब से वह दुनिया ही रहती है हम लोग अलग चला सकते हैं वह हमें देखते हैं कि हम खा रहे पी रहे हैं बातचीत कर रहे तो वह हमें पागल सोच सकते हैं फिर हमें अलग इंसान समझ सकते बस उनके हिसाब से वह जैसे हैं वही सही है वह जैसे कर रहे हैं वही सही है उनको यह पता ही नहीं है कि पागल क्या है और इंसान क्या है उनके दिमाग में कोई भी मैसेज नहीं पहुंच रहा है जिस वजह से वह ना ही कुछ भी बिहेवियर ना ही उनका कोई भी किसी भी तरह से ही मन जैसे बिहेवियर होता है ऐसा हो ही नहीं पा रहा तो असल में यही सच्चाई है कि उनको पता ही नहीं है कि पागल क्या है और इंसान क्या है जिस तरह से सिग्नल उनके दिमाग में पहुंच रहा हूं तरह से वह बीएफ कर रहे हैं और उसके अलावा कुछ नहीं

#धर्म और ज्योतिषी

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam khatun जी का जवाब
Student
1:33
हेलो विवाह ख्वाजा का सवाल है कि अनुवाद किसे कहते हैं एक अच्छे अनुवादक में क्या गुण होने चाहिए तो देखिए अक्सर स्कूल टाइम में भी हमें मतलबी अनुवाद और ट्रांसलेशन आता है कि इससे मुझे ट्रांसलेट करना है या फिर उससे यह चीज बहुत बार क्या होता है कि कोई भी हमला इंग्लिश में पढ़ते हैं क्योंकि भाषा में पढ़ते तो उसे ट्रांसलेट करना और लोगों को समझाना क्योंकि हम समझ ले रहे जरूरी नहीं होता है कि कोई और भी हम जिसे समझा रहे वह भी उसी भाषा में समझे तू जल्दी से खुद को ट्रांसलेट करना पड़ता है मन में है और फिर भी इंसान समझ रहा हूं नहीं समझाना पड़ता है कभी कदर खुद को भी समझाना पड़ता है मतलब अपनी लैंग्वेज में अपनी भाषा में तो यह बहुत जरूरी होता हर एक इंसान को ट्रांसलेट करना आना चाहिए तो अनुवाद होता है क्या एक भाषा का दूसरी भाषा में कन्वर्ट करते हैं तो उसे हम अनुवाद कहते हैं अनुवाद क्या होता है जो मैं कर रही हूं तो मैं अपनी भाषा में ट्रांसलेट कर रही हूं तुम्हें अनुवादक हुई तो मेरे अंदर यह गुण होने चाहिए कि मुझे भाषा की अच्छी जानकारियां होनी चाहिए मुझे ग्रामर जो व्याकरण होता है उनकी अच्छी जानकारी होनी चाहिए यह साल में ऐसा नहीं व्याकरण भी अच्छा होना चाहिए आपकी भाषा में भी काफी जानकारी काफी नॉलेज होने चाहिए शॉपिंग अच्छे अनुवादक बन सकते हैं

#टेक्नोलॉजी

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam khatun जी का जवाब
Student
1:41
आज आप का सवाल है कि क्या व्हाट्सएप पर डाल मोड सुरक्षित है और इसे हां बिल्कुल यह सिर्फ एक तरह का सेटिंग है और जो आपको सेटिंग में जाकर जस्ट आपको डाल ऑन करना होता है तो हर एक चीज आपको हाइलाइटेड अनुमति क्लीयरली अच्छे से देखते हैं अगर आप के आस पास अगर इतना लाइक नहीं है या फिर प्रॉब्लम है तब भी आपके फोन में आपको जो भी चीज लिखा हुआ है जो बिजनेस आप देख रहे हैं वह आपको का काफी क्लियर नहीं अच्छे से दिखेगा तो ऐसा नहीं कि हां आप उसे ऑन कर देते हैं तो पूरा स्क्रीन ब्लैक दिखता तो आपका फोन मतलब खराब हो गया या फिर कुछ प्रॉब्लम भी नहीं है आपके फोन में बहुत तरह के सेटिंग होते और बहुत सारे लोग नहीं भी जानते हैं तो डर से मतलब उसे ऑन नहीं करते हैं जैसे हैं वैसे ही रहने देते हैं तो ऐसा नहीं है हर एक चीज के बारे में जानना चाहे जो भी फोन में जिस तरह से विचार से अगर आपको पसंद आया नहीं अखिलेश आपको जाना चाहिए कहीं गलती से अगर वह ऑन हो गया तो बहुत सारे लोगों को नहीं पता मेरा फोन ब्लॉक क्यों हो गया तो मतलब ऐसे डर सकते हैं कि खराब तो नहीं हो तो अब कीजिए मत कीजिए लेकिन जानना जरुरी होता है यह काफी ऐसे फॉर सुरक्षित है तो इस तरह से कोई भी अगर मन में सवाल चले या फिर कोई भी फोन या किसी चीज से भी रिलेटेड टू पूछना चाहिए क्योंकि बहुत बार क्या होता है कि जब नया फोन होता है मैं कुछ पता नहीं होता और कुछ भी चीज ऑन हो जाता है तो हम सच में डर जाते तो ऐसे समय में कुछ क्लियर करता है तो काफी हद तक अच्छा लगता है तो ऐसा कुछ भी नहीं कि वह सिर्फ और सुरक्षित नहीं है अगर आप आपकी मर्जी आप उसे ऑन कर सकते नहीं कर सकते हैं ज्यादा से ज्यादा लोग हैं डार्क मोड ऑन करते हैं लेकिन समय-समय पर जब उनको ऐसा लगता है कि लाइट को प्रॉब्लम है फिर उनको अगर कंफर्टेबल अच्छा लगता है तो फिर आपकी भी मर्जी है तो आप भी कर सकते इसमें कोई खतरा नहीं है

#स्वास्थ्य और योग

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam khatun जी का जवाब
Student
3:47
हेलो एवरीवन तो आज आप का सवाल है कि दक्षिण की कितनी देर लगेगी और एक या उसकी कोई साइड इफेक्ट से इंसान के मन में यह सवाल चल रहा है कि कितने दिन लगेंगे हमारा नंबर कब आएगा आप हमारे स्टेट बैंक अब वह नंबर आएगा हम मतलब हमें कब लगाया जाएगा कितनी दोस्त लगाया जाएगा इसके साइड इफेक्ट क्या है तो देखिए में एक-एक करके जितना मुझे पता है जितना मैंने जानकारियां मतलब प्राप्त की है और मैं उसे सबसे एक-एक करके आपको दूंगी जानकारी तो सबसे पहले प्राइस किया गया है कि जो लोग को रिस्क ज्यादा है कि वह इन फैक्ट हो सकते हैं जैसे कि हॉस्पिटल के जितने भी डॉक्टर स्टाफ या फिर बाहर जितने भी लोग मतलब जो गाड़ी वगैरह जो चलाते हैं जिनका ट्रांसपोर्टेशन का काम होता है तो इस तरह से काटे गए इसकी आ गया फिर जो स्टेट में सबसे ज्यादा कैसे से स्टेट में मतलब लगाया जाएगा उसके बाद वहां पर किया गया है कि किनको किनको पहले दिया जाएगा और जो यंग लोग हैं और जो बच्चे लोग हैं उनको उल्लास प्रायरिटी में रखा गया क्योंकि हमारी म्यूजिक दम काफी स्ट्रांग होते और हम लोगों का इतना मतलब लोगों से मिलना जुलना भी नहीं होता तो हम मतलब कितने रिस्क में नहीं है जितना कि एल्डर्स डॉक्टर से लोग हैं जो पहले स्टेट में जाएगा पेट में जाने के बाद वहां पर जो भी ग्रुप है जो डॉक्टर स्टाफ इन लोगों को लगाया जाएगा जो करते उनको लगाया जाएगा इस तरह से हर स्टेट में लगेगा अभी फिलहाल की बात करें तो दोनों लेना बहुत जरूरी है एक डोस आपका सपोर्ट आज दिया गया है तो दूसरा ढूंढ दो से लेकर 4 वीक के अंदर आपको दूसरा डोज लेना है ऐसा नहीं है कि एक डोज आपने ले लिया दर्द सब ओके है ऐसा नहीं आपको दूसरा ढूंढ भी लेना बहुत जरूरी है क्योंकि जब तक आप कोई भी मेडिसिन पूरा कंपलीट ही नहीं खाते तब तक वह आपके शरीर में गलत काम नहीं करता पूरी तरह से आप ठीक नहीं होते तो यह वैक्सीन भी लेना मतलब दो ढूंढ लेना बहुत जरूरी है दोपहर के 10:30 बजे से शुरू होगा और हरेक लोगों को पहले बोल दिया जाएगा और हेल्पलाइन नंबर भी है अगर आपको कोई भी प्रॉब्लम कोई भी किसी भी तरह का कोई डाउट हुआ तो आपको हेल्पलाइन नंबर में भी कॉल कर सकते हैं जो 24 * 7 हमेशा मतलब वह आपका कॉल उठाएंगे और आपको जो भी चीज जानना है या फिर जो भी चीज पूछना है आप वहां पर पूछ सकते और 1 दिन में 100 लोगों को लगाया जाएगा उसके बाद दूसरों से जैसे मैंने बताया 2 से 4 दिन के अंदर फिर लगाया जाएगा अब आप का सवाल है कि इसके कोई साइड इफेक्ट है या नहीं तो देखना अभी बताएंगे उसके साइड इफैक्ट्स आफ हो गई फीवर सर दर्द बस थोड़ा ऐसा लगे क्योंकि कोई भी व्यक्ति कोई भी दवाई बिना खाते जलेबी वाला या फिर ऐसे भी कोई खाते तो थोड़ा थोड़ा उसका सर आपको आपके शरीर में दिखता तुझे अगर आप घबरा आएंगे फिर जितना आप सोचेंगे वो ज्यादा आती है उसको प्रॉब्लम कर सकता तो नॉर्मल ही आपके थोड़े और बॉडी गर्म होगा थोड़ा फीवर आपको थोड़ा सर दर्द होगा इंसान को थोड़ा मैनेज करना है दूसरे दोस्त जब आप ले लेंगे उसके बाद आपको देखना है क्योंकि एक्टिव है या नहीं अच्छा है या नहीं जितना अभी बताया कि इसके बहुत ही - साइड इफेक्ट्स और यह इफेक्टिव भी है तो ऐसा करते आज से स्टार्ट हुआ है तो सब चीज अच्छा ही हो और ऐसा कुछ हमें डरने की बात नहीं कि हम जितना ज्यादा जब कोरोनावायरस हम सुने थे मुझे इतना ज्यादा डर रहता तो डेथ रेट बहुत बढ़ रहा था अभी लोग बहुत देर हो गया समझ नहीं लगी इसके बारे में जाने हैं अपने आप को भी समझाएं हैं तो काफी हद तक देखें डेथ रेट जो है बहुत ही कम है तो ऐसे ही खुद को भी समझाना वैक्सीन के बाद यह नहीं कि छोटी छोटी चीजों को भी बहुत नोटिस करना मुझे यह हो रहा है मुझे वह बहुत सारे लोग घबरा जाते हैं तो यह घबराना ही नहीं है अगर आपको कोई भी चीज ऐसे दिख रहा जो भी डाउट है तो आप जो नंबर आपको हेल्प लाइन नंबर दिया जाएगा उसमें आप कॉल करके पूछ सकते

#टेक्नोलॉजी

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam khatun जी का जवाब
Student
2:24
तो सौरभ जी ने मुझसे यह सवाल पूछता है कि आजकल व्हाट्सएप चैट सार्वजनिक हो रही है लेकिन जब व्हाट्सएप इंक्रिप्टेड है तो यह कैसे संभव है देखिए आपने देखा होगा कि हम जब भी किसी से चैट करते हैं आपसे बात मम्मी की सच्ची बात करते हैं तो इन टू एंड एंक्रिप्ट लिखा हुआ होता इसका मतलब यह है कि हम जिसे मैसेज कर रहे हैं सिर्फ वही पड़ सकता है और वह हमारी मस्ती करता है मतलब यह नहीं कि सार्वजनिक और पब्लिक लिए वह हमारे चार्ट जाते हैं लेकिन जब आप कोई बिजनेस अकाउंट या फिर आप कोई ऑफिशियल अकाउंट में जब आप मैसेज करते हैं फिर किसी भी तरह का डाटा जाती है तो दिल से अकाउंट की जितनी भी अजीब होते हैं जो भी लोग उस अकाउंट को ऑपरेट करता है जितने भी लोग उनके मेंबर से गुस्सा बात की वह चैट को देख सकते हैं तो कभी भी कोई भी बिजनेस अकाउंट या फिर ऑफिशल अकाउंट जो होता है अगर ट्रस्ट नहीं है या फिर नया नया तो होता है कि कोई जॉब के लिए आप अप्लाई करते हैं या फिर आप कोई भी ऐसा आप कहीं पर फॉर्म भरते हैं तो आपको नॉर्मल ही बिजनेस या फिर ऑफिशियल अकाउंट से मतलब आता है मतलब कि एवं डाटा वगैरह देने के लिए तो अगर आपको ट्रस्ट नहीं है कोई नया है आप उस चीज के बारे में जानते नहीं तो मेरे हिसाब से आपको नहीं देना चाहते कि जब आप वहां पर आप कोई भी डाटा देते हैं आधार कार्ड या फिर किसी भी तरह का कोई भी चीज प्रोवाइड करते हैं वहां पर इंफॉर्मेशन देते हैं तो वह आपका को पूरी टीम पड़ सकता है तो इसी के थ्रू क्या होता है कि हमारे जो डेट आज होते हैं जो भी चार्ज होता गोली खो जाता है दीपिका पादुकोण केस में आपने देखा होगा कि एड्रेस के साथ उनके चैट लिखोगे तो अगर हम किसी से इन टू एंड इंक्रिप्टेड अगर कोई किसी का काम नहीं होता अगर हम बात करते तो प्रॉब्लम नहीं है ऐसे क्यों लगता है लेकिन जब किसी भी तरह की चीज होने दे देते हैं तो वह लिखो जाता है तो इसलिए कोई भी ऐसा ग्रुप कोई भी ऐसा लिंग किया फिर कोई भी बिजनेस अकाउंट जीने हम जानते नहीं है तो ऐसे चल कर बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए और उसी अकाउंट में कुछ भी ऐसी बातें नहीं करना चाहिए क्योंकि हमें पता नहीं होता कि कितने लोग कौन क्या चला रहा है वह कौन से आप की डेट आज उनके पास चले जाए तो यह सब चीजों में थोड़ा मतलब संभल के रहना पड़ता

#टेक्नोलॉजी

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam khatun जी का जवाब
Student
1:51
हेलो एवरीवन तो आज आप का सवाल है कि क्या भारत आने वाले समय में एक महाशक्ति बनेगा महाशक्ति बनने के लिए हर एक तरफ से उपस्थित होना जरूरी होता है हम देख रहे हैं कि हमारे देश में कितना मतलब करप्शन और भ्रष्टाचार बढ़ता जा रहा है लोग अपनी में ही लड़ाई कर कर रहे हैं धर्म को लेकर या फिर किसी भी चीजों को लेकर इंसानियत जो है वह हट दी जा रही है और जात पात को लेकर उच्च जाति नीची जाति उसके बाद लोगों को रोजगार नहीं मिल रहा है पॉपुलेशन बढ़ता जा रहा है तो ऐसी बहुत सारी समस्याएं हैं जिस पर ध्यान देना मतलब बहुत जरूरी है और मतलब गरीब और भी गरीब होता जा रहा है मेरा और भी अमीर हो रहा है लोगों के घर में आज भी खाने के लिए सोचना पड़ता है तो इस तरह से हर एक चीजों को सोचना और यहां यहीं से अभी स्टार्टिंग से अगर यह सब चीजों पर ध्यान देना मतलब होगा अगर दिया जाएगा तो वह मेरे हिसाब से तब जाकर ठीक होगा क्योंकि जब हम अपनी गलती का एहसास होता है जब हमें पता चलता है कि हम कहां पर गलत है कहां पर से खुद को सही बनाते हैं अगर उसी गलती को दोहराते रहते रिपीट करते रहते हैं तो मेरे साथ सूचित कभी परफेक्ट नहीं होगा तो हम सबको पता है कि हमारे देश में किस चीज की जरूरत है और किस चीज की नहीं तो उस हिसाब से ध्यान देना चाहिए और उसे अच्छे से बनाना जगह यह सब आप भ्रष्टाचार बेरोजगारी गरीबी आबू की सब अगर मतलब हट जाएगी सब एक साथ मिलजुल कर रहेंगे अच्छे से रहेंगे तू हमारे देश का मतलब कुछ आगे अच्छा होगा और मतलब हम सोच सकते कि हमारे देश आगे चलके महाशक्ति बन सकता है हर एक लोग अच्छे से मतलब इस देश में जीत सकते हैं

#जीवन शैली

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam khatun जी का जवाब
Student
1:36
आज आपका सवाल है कि किन किन कारणों से पुरुषों तथा औरतों में कम उम्र में बुढ़ापा आ जाता है इसका कारण यह है कि वह मतलब यंग में हम सोचते हैं ना कि अभी हमारा शरीर ठीक है कोई बीमारी नहीं हो रही है जब ऐसा कुछ होगा तो हम अपने सेहत का ख्याल रखेंगे नहीं अगर अपना ध्यान नहीं रखेंगे तो जब तक हेल्थ खराब हो जाएगा तब सोचने से और करने से कोई फायदा नहीं तो हमें शुरू से ही यंग से ही अपने मतलब हेल्थ का ध्यान रखना चाहिए तो जिन लोगों का बुढ़ापा बहुत जल्दी आ जाता है इसके पहले ही आ जाता है इसका मतलब वह एक्सरसाइज अच्छे से नहीं चाहिए अपनी लाइफ में आज इस तरह से रिंकल्स लगा रहा क्योंकि फिर से लेकर स्किन सारी चीजों का एक्सरसाइज हो तेरा ध्यान नहीं देंगे तो यह सब धीरज के इससे पहले आपको इसके नुकसान हो जाता है दूसरा अपने खान-पान पर ध्यान नहीं देते बहुत सारे लोग क्या था कि कुछ भी तेल मसाला ज्यादा से ज्यादा खाती है तू ऐसे हमारे मतलब शरीर हमारी स्किन हमारे तो सब में सर देखने के लिए मिलता और इससे नुकसान होता है देर रात से मतलब सोना जल्दी नहीं सोना तो आपके आंखों के नीचे काले दाग हो जाते रिंकल सो जाता है तो यह सब चीजों की वजह से कम एज में ही मतलब इंसान की झुर्रियां से बुढ़ापा दिखे लगता है हर समय में करना और टाइम के हिसाब से करना बहुत जरूरी होता है ताकि हम हर एक चीज इस हिसाब से और हर एक चीज का विकास भी इसके हिसाब से वह और ऐसा नहीं कि आज का मैच में बाल पकने लगे और फिर बुढ़ापा जैसा नहीं होते हमारे हेल्प का शुरू से ध्यान देना चाहिए

#जीवन शैली

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam khatun जी का जवाब
Student
1:29
हेलो एवरीवन तो आज आप का सवाल है कि ज्यादा ही अपना परिचय देना या बाद में दोनों में से क्या तरीका बेहतर है अपना काम किसी ऑफिस में करवाने का तो देख कर आप ऑफिस में जाते तो आप क्यों आए हैं किस लिए आए हैं क्या काम से आए हैं कहां से आए हैं तो अपना परिचय देना और अपना इंट्रोडक्शन देना बहुत जरूरी होता है बहुत टाइट करके जरूरी नहीं है आज आप अपना नाम और कहां से आए किस तरह से बस उस तरह से आप गरीब और मतलब छोटे में ही करके मतलब बता दीजिए वह सही रहता है और किसी क्या होता है कि क्लास स्टार्ट अगर हमारा हो या फिर कोई नई टीचर से आते हैं हम लोग भी नए स्कूल कॉलेज जाते तो वहां पर भी क्लास के मतलब स्टार्ट होते ही टीचर सुन से हमरा हमारा इंट्रोडक्शन लेते जबकि 1 साल 2 साल में तो पढ़ना ही हमारी नाम जान सकती लेकिन फिर भी वह मारा इंट्रोडक्शन लेती है तुझे ऑफिस और काम की बात है तो मेरे हिसाब से अगर हम स्टार्टिंग में बता देते हैं कि हां मतलब हम ऐसे क्यों आए हैं दे देते तो बार-बार उन्हें मतलब पूछने की जरूरत नहीं कि तुम्हारा नाम क्या है तुम्हारा नाम क्या है तुम कहां से आए हो और तुम नए ज्वाइन क्यों ऐसा कुछ भी उनको पूछना और आपका क्या क्यों यहां पर आया वह भी उनको थोड़ा बहुत पता चल जाएगा और थोड़ा बहुत आपकी इंट्रोडक्शन नहीं है अभी पता चल जाएगा क्या आपको इस काम में और कितना मन लग रहा है या नहीं आप इंटरेस्टेड है या नहीं यह सब छोटा-मोटा चीज है उनको इंट्रोडक्शन से पता चल जाता मेरे साथ से आपको कोई भी ऑफिस में काम करने से पहले आपको इंट्रोडक्शन दे देना चाहिए

#जीवन शैली

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam khatun जी का जवाब
Student
1:35
हेलो आज आप का सवाल है कि किसी से आशीर्वाद लेना क्या वाकई में हमें प्रभावित करता है तो उसे कभी कदार क्या होता है कि कोई अगर हमें कुछ चीज दे रहा हूं मतलब हम जो चीज देख रहे हो जरूरी नहीं होता कि चीजों से खुश होते हैं और अपने आसपास जो चीज देख रहे इंसान हमारी मदद कर रहा है या फिर हमेशा संभाल रहा है समझा रहा है तू जरूरी नहीं होता कि हमेशा हर वक्त इंसान ऐसी चीजों से खुश हो कभी कदार क्या होता है ईश्वर से बात करना अपने मन में उनको याद करना आशीर्वाद लेना अपने बड़ों से या कोई भी जब हमें आशीर्वाद देते हैं तो इस तरह की पॉजिटिव वाइफ साथ है मतलब बहुत अच्छा लगता है कि नहीं हम शायद कुछ अच्छा ही करेंगे आगे अब हम को एग्जाम देने के लिए जाते तो दिखे हम सभी बात जानते की चीज टोटली हम पर डिपेंड करता है कि हम कैसे पढ़े हैं कैसे नहीं आया फिर जो भी हम जॉब है फिर कोई भी नहीं चीज के लिए जाते हैं तो हमें पता है कि हम जैसे किए हैं रिपेयर किए हैं जिस तरह से सब रिजल्ट हो उस तरह से आएगा लेकिन आशीर्वाद क्यों लेते हैं वह तो मतलब जाकर वह सकारात्मक पॉलिटिक्स आती थी मतलब जो भी होगा अच्छा ही होगा और हर चीज खराब हो जाती है और हम हमेशा सोचते एक मोटिवेशन भी होता है क्या लगता कि कोई मोटिवेट कर रहा है मैं समझा रहा नहीं कि हम कुछ कर सकते हैं और जो होगा रिजल्ट अच्छा ही होगा तो मेरे हिसाब से आशीर्वाद बहुत ही फैक्ट्री होता है

#जीवन शैली

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam khatun जी का जवाब
Student
1:17
हेलो एवरीवन तो आज आप का सवाल है कि इंसान किसी की बुराई सुनने में इतनी दिलचस्पी क्यों रखता है तो दोस्त भी होता है मतलब अपना मानता बीएफ लेकिन हर एक इंसान के मन में कॉन्पिटिशन भी होता है कि मुझे आगे बढ़ने की भावना बढ़ने से कितना भी अच्छा आपका रिश्ता क्यों ना हो अच्छी दोस्ती क्यों ना हो तो जब कोई इंसान आगे बढ़ता है या फिर आपके साथ ही रहता आप की कैटेगरी का ही है सब दुनिया घर उनकी तारीफ करते हैं तो आपको कहीं से सुनने का मन करता है कि कुछ बुराई मुझे मेरे ताकि मैं जानता हूं जो इंसान बुरा है और अगर वह इंसान आगे नहीं बढ़ रहा है सिम आपके स्टेज में ही है तू भी अगर कोई इंसान बुराई करता है तो सुनने को अच्छा लगता है कि अरे हम इस इंसान के बारे में ही सोच से ही इंसान तो ऐसा निकला इस हिसाब से हम तो अच्छे हैं तो यह सब में चलता है जब भी कोई इंसान किसी के बारे में बुरा ही सोचता है और तू उसके मन में बहुत कुछ चलता है कि चलो मैं तो घर अच्छा हूं उसके बारे में इतना कुछ सुन रहा हूं फिर चलो वह भी मतलब बुरा है अगर कभी इनके सगरो कुछ प्रॉब्लम क्रिएट किया मेरे साथ तो मैं उसको रिटर्न में यह बात बोल पाऊंगा कि तुम्हारे बारे में भी लोग ऐसा कहते तो यह सब इंसान के मन में चलता है जिस वजह से लोग हमेशा दूसरे की बुराई सुनने में दिलचस्पी रखते हैं

#रिश्ते और संबंध

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam khatun जी का जवाब
Student
1:46
तो आज आप का सवाल है कि क्या लड़कों के मुकाबले लड़कियां ज्यादा सहनशील होती है मेरे हिसाब से लड़की और लड़की दोनों के अंदर पेशंस होता है दोनों अपनी उम्र के हिसाब से हैंडल करते हैं रहते हैं तब क्या कैसे करना लेकिन ब्रिज की बात करें और ज्यादा से ज्यादा और कौन इसके अंदर ज्यादा सहनशीलता है लड़कियों के लड़कों को जॉब नौकरी के लिए ताना सुनना पड़ता चाहे घर हो समाज और सोसाइटी और परिवार हो सिर्फ नौकरी के लिए और सुनना पड़ता है कि मतलब ऐश्वर्या राय और उसमें क्या करोगे ज्यादा से ज्यादा मेरे सगरी भी करेंगे बहुत सारे लोग की लड़कों को ज्यादा से ज्यादा सिर्फ और सिर्फ नौकरी के लिए सुनना पड़ता है लेकिन लड़कियों को देखिए तौर तरीका परिवार में कैसे उठना बैठना है इसके जून को सहना पड़ता पहनावा को लेकर 19 आना पड़ता है अगर वह पढ़ लिख रही है तो बहुत सारे लोग बहुत कुछ बोलते हैं कि लड़कियों को क्यों पढ़ा लिखा जा रहा है आखिर में तो शादी करना घर में रहना तू g97 सुनकर सहकर पेशंस रखकर वह हर चीज को हैंडल करती है संभालती है और फिर अपने एक एक कदम मतलब सब लोग ऐसे ताने मछली मारते लेकिन फिर भी वह कर आगे बढ़ कर दो मेरे हिसाब से लड़कियों के अंदर ज्यादा सहनशीलता होती है शादी के बाद भी जरूरी नहीं होता है कि लड़कियों को अच्छा परिवार मिले फिर भी वह मतलब चाहती है बर्दाश्त करने की कोशिश करती है कि शायद कुछ चीज अच्छा हो जाए मतलब फैमिली फिर से ठीक हो जाए मेरे अच्छे करने से कुछ अच्छा हो जाए फैमिली को संभालना बहुत कुछ नहीं जाना पड़ता है वह बहुत कुछ चाहती है तो मैं इस बात से पूरी तरह से गिरी हूं कि लड़कियों को को ज्यादा सहना पड़ता है लड़कियों के अंदर ज्यादा सेट चलता है

#जीवन शैली

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam khatun जी का जवाब
Student
1:21
हेलो जी भांग तो आज आप का सवाल है कि अगर आपको एक नया व्यवसाय शुरू करने का मौका मिला तो आप किस प्रकार का व्यवसाय चुने के और क्यों तो रिसीव करो मुझे किसी चीज का बिजनेस और व्यवसाय करने का मौका मिला तो मैं चाहूंगी कि मैं राष्ट्रीय स्वयं टाइप के मैसेज करो आज क्योंकि मुझे लगता है कि जैसे मैं खाने की शौकीन हूं उसे डिलीट करते हुए मेरे से बहुत सारे लोग होंगे और मेरे जैसे तो छोड़िए मतलब इंसान को खाना पीना बहुत बहुत पसंद होता है तो उसे हर एक इंसान 3 स्टार 5 स्टार होटल पर नहीं कर सकता तो अगर छोटे से स्टार्ट होगा वहां पर अच्छे बजट में अच्छा प्राइस में अच्छा फूड अगर मिल रहा हो तो हर एक इंसान मतलब है ना पसंद करेगा चाहे वह स्कूल कॉलेज का कहीं पर भी क्यों ना बुलाओ अगर मुझे मौका मिले तो जैसा मैं देखती हूं उसे मैं जॉब करती हूं कि खाने-पीने के स्टाल में बहुत भीड़ रहा था कि कपड़े लगते जूता चप्पल या आप अगर एक बार खरीदते हुए तो अखिलेश आप दो-तीन महीने के बाद ही खरीद ली खाना-पीना इंसान हर दिन करता है ऐसा कोई दिन नहीं है क्या मतलब इंसान बोलेगा कि नहीं आज मुझे खाना पीना नहीं करना तो अगर मुझे ऐसा मिला मौका तो मैं क्लोज फ्रेंड को लोग यहां पर बहुत रखकर पासपोर्ट बहुत अच्छे फुल साइज में हो ताकि हो ताकि लोग मतलब आएगी और पसंद भी करें और लोगों के बजट का भी

#स्वास्थ्य और योग

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam khatun जी का जवाब
Student
1:10
हम तो आप का सवाल है कि रात को खाना खाने के बाद दोबारा हमें भूख क्यों नहीं लगती तो दिखेगा रात को आप तो खा कर सो जाते हैं मुझे नहीं आपको पता नहीं होता है झूठी खाना खाए हो क्या आप किसी भी तरह का कामकाज नहीं करते आप साथ एक घंटा सो जाते हैं तो जब तक हम कोई काम ही नहीं करते तो एनर्जी हमारा जो है वैसी नहीं है सर जी आपका स्टोर रहता जो भी आप खाना खाए हैं जो भी न्यूट्रिएंट्स है वह सब स्टोर रहता है कोई भी व्यस्त नहीं हो रहा है क्योंकि आप सोए हैं कोई भी काम काज नहीं कर रहे हैं तो इसीलिए आपको भूख नहीं लगती रात को खाना खाकर अब देर रात तक अगर जगे हुए रहते कुछ भेजोगे भी आप रह रहे हो कोई काम करो या कर रहे हो या नहीं कर रहे हो लेकिन फिर भी आपको भूख लगेगी क्योंकि एक तरह का फंक्शन होता रह रहा है इधर से उधर आपको बैठना जगे रहना आपका बॉडी अगर देख भी रहा है आंख खोला भी है तो इस तरह का फंक्शन नहीं हो रहा है तो इसीलिए सो जाने से मतलब सारी चीज दूर रहता है अब तो लेता लेकिन जगह रहने से काम काज करने से मृत्यु इनर्जी है उमेश होता तो इसी वजह से मैं कल रात को जब लोग सो जाते हैं भूख नहीं लगती

#स्वास्थ्य और योग

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam khatun जी का जवाब
Student
1:02
हरी हरी भांग तो आज आप का सवाल है कि क्या ज्यादा भूख लगना कोई बीमारी को दर्शाता है कभी कदर क्या होता है कि इंसान को कोई चीज बहुत पसंद आता है तो पेट तो भर जाता लेकिन मन नहीं लगता है कि नहीं और खा ले तो पता नहीं कभी मिलेगा ही नहीं मन की बात होती है लेकिन अगर आपको रियल में भूख ज्यादा लग रहा है इसका मतलब बढ़िया है और वह ज्यादा हो गया तो यहां पर आपको इसकी लाज करवाना बहुत जरूरी है कि घरेलू किसी भी उपचार से मुझे नहीं पता कि ठीक होता है या नहीं या फिर मेरे हिसाब से इस चीज को इतना मतलब है लाइट नहीं नहीं लेना चाहिए अगर आप आपको लग रहा है कि आपको बहुत भूख लग रहा है तो सब की राही ज्यादा से ज्यादा मैं कह सकते कि चिढ़ा रही बढ़ गया है और देखिए आपका हेल्प भी नहीं लगेगा भले आप बहुत कुछ खा रहे हो लेकिन आपके शरीर में आपके हेल्थ में वह ज्यादा से ज्यादा न्यूटन सुखी रहे और मतलब खा लेता तो अच्छा यही है कि आप डॉक्टर के दिखाइए और दवाई लीजिए और जो भी चीज बोलते उसका ट्रीटमेंट करवाइए

#स्वास्थ्य और योग

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam khatun जी का जवाब
Student
2:15
हेलो आज आप का सवाल है कि क्या इंसान एक किडनी के सहारे जिंदा रह सकता है बहुत सारे इंसान एक किडनी खराब हो जाता है तो एक किडनी बचा हुआ होता जिसके सहारे वो रहते हैं और अगर कभी किसी को देना पड़ता है तो वह अपनी किडनी दे रहे थे जिसके कारण भी वही किडनी के सहारे रहते हैं लेकिन खुद ही पता कर सकते दो किडनी है जैसे आपके शरीर का काम कर रहा था एक किडनी है मानव शरीर में सारेगामा सारे फंक्शन करेगा तो थोड़ा मुश्किल होगा आपको अपने शरीर का आपके हेल्थ का ध्यान देना होगा क्योंकि जहां पर सपूत आप घर बना रहे हैं 10 इंसान आपके घर को बनाने में मदद करें वहां पर भी दो इंसान है तो उस सूची की काम कितना ज्यादा हो जाएगा और मजबूत बनेगा या नहीं बनेगा बनेगा वह उन दोनों को वर्कर है उन दोनों पर डिपेंड करता है तो काम बहुत ज्यादा हो गया घर मजबूत बनेगा या नहीं पूरा वह दोनों पर डिपेंड करता है क्योंकि इंसान काम कर रहे हैं तो उसी तरह से ही हमारा हेल्थ में भी वही है जो किडनी काम बहुत अच्छे से स्मूथली हर एक फंक्शन होता तब एक किडनी के सहारे हैं तो इतनी ही सारा मतलब काम करता है तो थोड़ा प्रॉब्लम हो सकता है उसे आप को ठीक से परहेज करने की जरूरी है क्योंकि देखी क्या होता जब इंसान के पास दूर रहता है तो इसमें कहीं चलता गरीब को कुछ हो जाए तो एक ही बचा हुआ है तो फिर थोड़ा संभल के रहना जरूरी होता है क्योंकि किडनी खरीदना और फिर उसके डायलिसिस करवाना यह बहुत मुश्किल होता है मतलब बहुत पैसा लगता है तो इसीलिए हर एक जगह चाहे वह बोलकर प्लेटफार्म हो जाए कोई भी प्लेटफार्म हर एक जगह हेल्थ टिप्स हर एक इंसान को दिया जाता है वह किया जाता मेरे हिसाब से अभी भी स्टूडेंट्स लोगों को स्कूल कॉलेज में भी भी इस चीज की कमी है मेरे साथ से हेल्थ को लेकर अगर करना चाहिए क्योंकि आप लोग बहुत ज्यादा लाइट ले लेते हैं कि हम मोटे नहीं देख रहे हैं या फिर हम नॉर्मल फिट है तो क्यों हम एक्सरसाइज करें दादा यही सोचते कि एक्सरसाइज करने का मतलब मोटे लोग ही करेंगे नहीं खुद को फिट रखने के लिए हल्दी रखने के लिए सारी चीज प्रॉपर फंक्शन करवाने के लिए क्या खाना है क्या नहीं खाना मेरी तरफ से और ज्यादा यह सब लोगों को अवेयर करना चाहिए

#स्वास्थ्य और योग

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam khatun जी का जवाब
Student
1:14
हेलो एवरीवन तो आज आप का सवाल है कि यदि कोई व्यक्ति लंबे समय तक धूप के संपर्क में नहीं आता है तो क्या शारीरिक नुकसान होगा तो लिखिए और धूप के संपर्क में आना कभी कदार बहुत जरूरी होता है अगर एक्सरसाइज टिप्स आप देखेंगे तो उसमें रेगुलर कहा जाता है कि हर एक इंसान को हर दिन थोड़ा ही सही लेकिन धूप लेना चाहिए क्योंकि यह विटामिन डी तो मिलती है और साथ में देखिए हम जो भी कपड़ा या फिर हमारे शरीर में आप बहुत मिलियंस ऑफ बैक्टीरिया चांस रहते हैं तो बहुत सारे बैक्टीरिया डेंजरस भी होते हैं खतरनाक होते हैं हमारे लिए तो जब टेंपरेचर की वजह से ज्यादा से ज्यादा वायरस बैक्टीरिया सब मर जाते हैं तो फिर आप धूप के संपर्क में आते हैं तो आधा से ज्यादा बोलूं टेंपरेचर और धूप की वजह से मर जाते तो यह दिखाना बहुत जरूरी होता है धूप दिखाना और फंगल इनफेक्शन भी आपको नहीं होता आपने बहुत देखा होगा कि दाना दाना टाइप का मतलब शरीर में हो जाता है वह कपड़े की लेकर वजह से या फिर आपके शरीर में गीला है और अपने कपड़े पहन लिया है मास्टर आईज के वजह से तो यह सब वजह से कभी कदार फंगल इनफेक्शन भी होता तो इसलिए यह सब कारण की वजह से धूप दिखाना हर एक इंसान को बहुत जरूरी होता है

#टेक्नोलॉजी

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam khatun जी का जवाब
Student
0:37
आलिया के गाना 2000 का सवाल है कि लंबे समय से रुके हुए काम कैसे गोरे हो सकते हैं तो बहुत दिनों से लगा हुआ है तो उनका हुआ है कारण की वजह से तो सबसे पहले वह कारण जो आप को ठीक करना है तो भी प्रॉब्लम है उसे ठीक करने के लिए आपको ही ठीक करना अगर मेरी कोई प्रॉब्लम है फिर मेरी कोई कमजोरी है तो मुझे कोई आकर समझा सकता है कि नहीं यही रास्ता है तो आप भी किसी से सलाह मशवरा इलायची के क्या करना चाहिए क्या नहीं करना चाहिए कि ना आपको काम तो किस तरह से ले जाना फिर से कैसे ठीक करना वह पूरी तरह से आप पर ही डिपेंड करता है

#रिश्ते और संबंध

bolkar speakerआजकल की बहुएं कैसी होती है?
shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam khatun जी का जवाब
Student
1:19
हम तो आजाद का सवाल है कि आजकल की मम्मी कैसी हैं और सभी की तरह के होते हैं ऐसा नहीं है लेकिन होती क्योंकि दुनिया को समझे होती हैं पढ़ी लिखी होती है बहुत जल्द ही शादी कर दिया जाता था जिस वजह से उनकी एज होती थी तूने इतना भी दुनिया के बारे में कुछ पता नहीं होता है बसु ने कहा जाता था कि अब तुम्हें जाना है और तुम्हारा भाई घर परिवार को भी हैंडल करते हैं काम भी करती हैं और मतलब जो भी कैसे हो सब को मैनेज करके चला अभी मैं मानती हूं कि बहुत बड़े झगड़ा भी करती हैं अब फोटो डालती है लेकिन बहुत सारे लोग को अच्छी सब चला कर चलाते हैं तभी तो आज ऐसे परिवार के सारे लोग मतलब जिंदगी जी रहे हैं मुझे पता होता है कि किसके साथ कितना कैसे बात करना कैसे घर को हैंडल करना है कैसे मैनेज करना है और अगर उनके साथ कुछ गलत हो रहा है तूने आवाज उठाना है अभी हरे चीजों से भी आगे रहती है तो वह मनमाड होती है और अच्छे तरीके से घर को चलाते हैं

#रिश्ते और संबंध

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam khatun जी का जवाब
Student
1:19
आपका नंबर 1 में क्या पसंद नहीं है तो दीजिए मुझे अपने भारत में जो चीज पसंद नहीं है वह यह है कि लोग जितना डिजर्विंग होते हैं जैसे लोगों के अंदर क्षमता होती है और लोगों को लोगों ने कर सकते लेकिन उन्हें वह प्लेटफार्म नहीं मिल पाता है जिसे कि 10 लोग अगर रिप्लाई करते तो उससे कुछ मार्क्स चलेगा कोई चूक जाता है तो उनके लिए पूरा साफ हो जाएगा देहरादून के लिए कुछ छोटा मोटा काम भी नहीं होता तो यह सब तो मुझे हमारे भारत में ठीक नहीं लगता है क्योंकि बेरोजगारी कैसे बनती है दूसरे की क्वालिटी लोगों को समझा जाता है आदमी की उस छोटे जाती है यह जात का वह जाकर उनको लेकर लड़ाई इंदल की सोच है अभी सब से यह भी मुझे सही नहीं लगता है सोच विचार को बदलना और एक साथ देना बहुत जरूरी है तू ही सब कुछ चीज है जो मुझे नहीं लगता मैं चाहती हूं लोगों को रोजगार मिले और अगर कंपटीशन बढ़ रहा है तो ज्यादा से ज्यादा रोजगार में हो ताकि कोई भी इंसानों की कोई करेक्शन है जो भ्रष्टाचार इतना बढ़ता जा रहा है वह हटे लोगों की सोच में बदलाव है जिसे लोग कुर्ती ऊंच-नीच का नाम हो रहा है

#जीवन शैली

bolkar speakerविज्ञानिक या दूर कर दीया है?
shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam khatun जी का जवाब
Student
1:10
आज आपका सवाल है कि वैज्ञानिक क्या दूर कर लिया है तो उनकी मेरे हिसाब से जो वैज्ञानिकों को साइंटिस्ट है उन्होंने बहुत सारे लोगों का अगर वह इंसान मान रहा है तू हां हम भी मान लेते बिना कुछ सोचे समझे तो क्या मतलब एक लॉजिक उन्होंने लाया है वैज्ञानिकों ने लॉजिक लाया है हम अगर किसी चीज को पढ़ रहे हो तो एक क्यों पड़ रही किस तरह से कैसे इन्वेंशन हुआ किस प्रकार से यह चीज बना है तो मैं हर एक चीज के बारे में जानने के लिए डीपी समझने के लिए उन्होंने बहुत कुछ मतलब हमें जानकारी अपडेट ने बहुत कुछ नवीन सेंड कर दे बात करनी थी क्या वह इंसान बोल रहा था तो सही बोल रहा होगा लेकिन वैज्ञानिकों के मतलब और वैज्ञानिकों के मतलब से हम लोग जानते हैं कि नहीं अगर ऐसा होता तो कारण उसका पैसा कारण आंख बंद करके किसी भी चीज में विश्वास नहीं कर लेते हर एक पीछे पीछे थे कि नहीं क्या लॉजिक हो सकता है ऐसा क्यों होता है क्यों नहीं होता

#जीवन शैली

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam khatun जी का जवाब
Student
1:10
सवाल है कि क्या साड़ी बाहर ने महिलाओं की कमजोरी है तू देख ऐसा बिल्कुल भी नहीं है मतलब उस तरह की परंपरा भी है जो चलता रहा है और अब लोग की चेयर महिलाओं को ऑप्शन में दिया जाता है उनका मन मर्जी है अगर वह सूट पहनना चाहिए या फिर साड़ी पहनना चाहते तो उन पर निर्भर करता है कि कमजोरी है और जब महिलाओं को अगर किसी भी फील्ड में आमद तक जाना होता है तो मिला है उस हिसाब से भी ड्रेस पहनती है पता नहीं केवल अब सिर्फ और सिर्फ साड़ी पहनकर हर एक काम करना न्यू पर पूरी तरह से डिपेंड करता है निर्भर करता है कि वह घर पर आना चाहे तो पहनती है नहीं तो नहीं तो हम ऐसा नहीं कह सकते कि उनकी कमजोरी है क्योंकि कमजोरी तब होता है जब हमारी क्षेत्र में महिलाओं को जबरदस्ती करते कि नहीं साड़ी की पहने मतलब साड़ी पर उसके अलावा कुछ नहीं तो इसे हम कंदूरी कह सकते थे क्योंकि मेला को हर क्षेत्र में साड़ी पहनना पड़ रहा है और उनको बहुत कुछ प्रॉब्लम सुरेंद्र मेहता कैसा है लेकिन अभी नहीं किया जाता आराम से उन्हें यह अपॉर्चुनिटी ऑप्शन मिला है कि वह साड़ी के अलावा जो भी मांगो पहन सकते उनको जो ठीक लगे

#स्वास्थ्य और योग

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam khatun जी का जवाब
Student
1:11
हरिद्वार के बांध बनने में कौन-कौन सी समस्याएं आती है कि जब भी आपकी तरह बांध बनाया जाता है तो सबसे पहले तू वहां के लोगों को बहुत प्रॉब्लम हो रही है कि वहां पर बोलूं कुछ भी देखिए होते हैं उनके जापानी से कुछ भी मछली वगैरह उसे निकाल कर डालते हैं हो रखने के लिए अपने खाने के लिए भी रखते हैं तो एक ही हो जाता बहुत सारा दिन टेंशन होता है मतलब होता है वहां पर पौधे लगाए गए होते हैं समझे या फिर किसी भी तरह का पानी लिया जाता है पानी का उपयोग किया जाता है हर एक चीज में बस आप लोगों को भी प्रॉब्लम होता है बहुत सारे पेड़ पौधे भी मर जाती है उसे भी मां से हटाना पड़ता है और जिंदगी मछलियां अमृत मान बना दिया जाता तो उन लोगों को भी बहुत प्रॉब्लम होता बहुत सारी मछलियां मतलब मर जाती है क्योंकि वह दब जाती है तो ऐसे बहुत सारे नुकसान होते एक बांध बनाने में मतलब कि लोगों को समझाने के लिए इतनी सारी चीजों का नुकसान तो इंसान को पेड़ पौधों को मछलियों को हर एक चीजों को मतलब बनाने से जीना पड़ता है

#फिल्में

shabnam khatun Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए shabnam khatun जी का जवाब
Student
1:01
हेलो आज आप का सवाल है कि क्या कोर्ट में आज भी धार्मिक ग्रंथों की शपथ दिलाई जाती है या सिर्फ बॉलीवुड फिल्मों में ही दिखाया जाता कि नहीं ऐसा बिल्कुल भी नहीं कि सिर्फ फिल्मों में ही दिखाया जाता है आज भी मतलब ऐसे ही रखा है मतलब जब भी कोई भी रिलीजन कि जो भी लोग जानते हैं उनको मतलब रिलीजस जो किताबें होती है उसे कैच कराया जाता है और फिर जो भी उसके आगे की प्रोसेस किए जाते हैं मूवी में भी जो सीन होते हैं हालांकि वह बहुत ज्यादा ऊपर और बहुत ज्यादा दिखाया जाता है लेकिन कुछ ना कुछ जीवन से रिलेट करके ही होता है उसको बहुत ज्यादा दिखाया जाता है लेकिन कहीं ना कहीं कभी ना कभी कुछ बोलता है हल्का-फुल्का ऐसा नहीं कि पूरा ही कुछ भी चीज झूठ दिखाया जाता है दुआ होती है आज भी है कि जब भी आप से कोई भी सवाल आते कोई भी चीज पूछा जाएगा तो सबसे पहले कटघरे में जब आप को खड़ा किया जाता है तो आपसे जो भी आपके रिलीज उसके जो किताब है आपको वो टच करवाया जाता है उसके बाद जो भी आपको बोलना हो तो आप बोलते हो कि बात जो भी फरदर प्रो के बाद होता है
URL copied to clipboard