#स्वास्थ्य और योग

KamalKishorAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए KamalKishorAwasthi जी का जवाब
घर पर ही रहता हूं बैटरी बनाने का कार्य करता हूं और मोबाइल रिचार्ज इत्यादि
0:30
सवाल से किसी भी व्यक्ति को खड़ा होकर पानी क्यों नहीं पीना चाहिए देखिए आयुर्वेद के मुताबिक जब हम खड़े होकर पानी पीते हैं तो इससे हमारे पेट पर अधिक पर असर पड़ता है क्योंकि खड़े होकर पानी पीने पर पानी सीधा इसोफागस के जरिए प्रेशर के साथ पेट में तेजी से पूछता है इससे पेट और पेट के आसपास की जगह और डाइजेस्टिव सिस्टम को नुकसान पहुंचता है धन्यवाद

#जीवन शैली

KamalKishorAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए KamalKishorAwasthi जी का जवाब
घर पर ही रहता हूं बैटरी बनाने का कार्य करता हूं और मोबाइल रिचार्ज इत्यादि
1:50
कुछ नहीं लड़कियों के पहनावे पर सवाल क्यों होती दरअसल इस बात के मूल में पुरुषवादी अहंगी कार्य कर रहा है वह या नहीं चाहता है कि लड़कियां स्त्रियां अपने फैसले स्वयं ले आज के अंतरिक्ष युग में भी स्त्रियों को अपने पैरों की जूती बनाए रखना चाहता है वह या नहीं चाहता है कि स्त्रियां पुरुषों की बराबरी करें वह तो बस यही चाहता है कि मैं जैसा जैसा बोलता जाऊंगा औरतें भी वैसा ही करती फ्री है हालांकि मैं सभी पुरुषों की बात नहीं कर रहा हूं स्त्रियों को अपने पहनावे के बारे में निर्णय लेने का पूर्ण अधिकार है वह जो जो भी वस्त्र पहनना चाहती हैं पहन सकती है आप निर्णय का अधिकार उन्हें भी दुनिया की आधी आबादी आखिर कब तक पुरुष इशारे पर चलती रहेगी आखिर कब उसे बराबरी का हक मिलेगा वह कब तक पुरुष उचित कदम का शिकार होती रहेंगी आखिर उसे अपने मन से पहनने उड़ने का हक क्यों कर नहीं होता कब तक वह अपने फैसले आप लेने से वंचित होती है अब सवाल यह उठता है कि स्त्रियां कैसे कपड़े पहने वह कब पहने हमारी राय इसका सीधा सा जवाब यही है कि स्त्रियां हमेशा काली व ऐसे कपड़े पहने जो सबके मन को लुभाता हो भड़कीले सुखवा अंग दिखाओ कपड़ों में स्त्रियों की गरिमा धूमिल होने का खतरा बना रहता है इसे कई बार उन्हें छेड़छाड़ सकती हूं वह कितने बाजी का सामना करना पड़ता है मानसिक तनाव व मन ही मन भर अलग दिल के किसी कोने में रहता है धन्यवाद

#धर्म और ज्योतिषी

bolkar speakerस्वर किसे कहते हैं?
KamalKishorAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए KamalKishorAwasthi जी का जवाब
घर पर ही रहता हूं बैटरी बनाने का कार्य करता हूं और मोबाइल रिचार्ज इत्यादि
0:18
सवाल स्वर किसे कहते हैं देखिए स्वर्ण ध्वनियों को कहते हैं जो बिना किसी अन्य वर्णों की सहायता की उच्चारित किया जाती है स्वतंत्र रूप से बोले जाने वाले वाहन पर कहलाते हैं हिंदी भाषा में मूल रूप से 11 स्वर होते हैं धन्यवाद

#स्वास्थ्य और योग

KamalKishorAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए KamalKishorAwasthi जी का जवाब
घर पर ही रहता हूं बैटरी बनाने का कार्य करता हूं और मोबाइल रिचार्ज इत्यादि
0:51
सवाल है बंगाली साड़ी की क्या खासियत होती है क्यों व अन्य साड़ियों से अच्छी लगती है देखिए नवरात्र में दुर्गा पूजा डांडिया गरबा और सिंदूर खेली के लिए बंगाली परंपरा के अनुसार साड़ी पहनने की इच्छा हर लड़की की होती है इससे फर्क नहीं पड़ता कि हम कितने मॉडर्न हैं हमें अपनी परंपराओं से प्यार है बंगाली साड़ी की खूबी है या बॉर्डर वाली साड़ी होती है बेसिक और रोजमर्रा की साड़ियां प्योर कॉटन की या खादी में होती है जबकि त्योहार के अवसर पर पहनी जाने वाली साड़ियां सिल्क और जरी में होती है ऐसा पारंपरिक तौर पर होता था बाकी तो अब हर पैटर्न में और फैब्रिक में आपको साड़ियां मिल जाएंगे धन्यवाद

#धर्म और ज्योतिषी

KamalKishorAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए KamalKishorAwasthi जी का जवाब
घर पर ही रहता हूं बैटरी बनाने का कार्य करता हूं और मोबाइल रिचार्ज इत्यादि
1:24
सवाल है भारतीय समाज में स्त्रियों के लिए साड़ी शब्द और जींस टॉपर शब्द क्यों माना जाता है लेकिन सवाल कपड़ों का नहीं बल्कि किसी देश के सम्मान का होता है फ्रांस के न्यूड सिटी में अगर आप कपड़े पहनकर भूमि तो यह उस जगह का इंसल्ट होगा क्योंकि वहां लोग पूरी तरह नंगे घूमते हैं जो अपनी सोच के दायरे को बड़ा कीजिए जिस तरह एक देश के प्रत्येक घर में एक जैसा माहौल नहीं होता हर घर में रहन-सहन खान-पान का फर्क होता है उसी तरह इस धरती के प्रत्येक देश के माहौल भी एक जैसे नहीं हो सकती उनमें कुछ ना कुछ फर्क तो होगा ही होगा हर देश का खान-पान रहन-सहन रीति-रिवाज अलग-अलग होंगी होंगी और किसी भी देश की न्यू कभी टिकी रह सकती है जब उस देश के देशवासी अपने देश के रीति-रिवाजों को बनाए रखें नहीं तो देश की पहचान का एक दिन निकला निश्चित ही तय हो जाता है हां जैसे आप चेंज के लिए कुछ टाइम घर से बाहर चले जाते हैं फिर आप उस जगह जाकर वहां के कल्चर और रहन-सहन का लुक पा सकती है प्रश्न पहनावे से रिलेटेड है तो अपने देश में जैसा पहनावा है उसका सम्मान करते हुए उसे बना कर रखना चाहिए धन्यवाद

#जीवन शैली

KamalKishorAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए KamalKishorAwasthi जी का जवाब
घर पर ही रहता हूं बैटरी बनाने का कार्य करता हूं और मोबाइल रिचार्ज इत्यादि
0:37
सवाल से विधवा सफेद कपड़े क्यों पहनती है क्यों रंगीन कपड़े नहीं पहन सकती देखिए सफेद कपड़े शांति का प्रतीक होते हैं और विधवा महिलाओं का ध्यान न भटके इसलिए उन्हें सफेद वस्त्र पहनने को कहा जाता है क्योंकि रंगीन कपड़े इंसान को भौतिक सुखों के बारे में बताते हैं ऐसे में महिला का पति साथ नहीं होने पर महिलाएं कैसे उन चीजों की भरपाई करेंगी इसी बात से बचने के लिए विधवाओं को सफेद कपड़े पहनने को कहा जाता है अतः विधवा है इसीलिए सफेद कपड़े पहनती है धन्यवाद

#जीवन शैली

KamalKishorAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए KamalKishorAwasthi जी का जवाब
घर पर ही रहता हूं बैटरी बनाने का कार्य करता हूं और मोबाइल रिचार्ज इत्यादि
0:47
सवाल ही हम ठंड में ऊनी कपड़े क्यों पहनते हैं विकी सीधी सी बात है उन्हीं कपड़े हमें सर्दी से बचाते हैं सर्दी का मौसम आते ही हम गर्म ऊनी कपड़े पहनना शुरू कर देते हैं इसका वैज्ञानिक कारण है कि उन्होंने उस मां की कुचालक है तथा इसके देशों के बीच बहुत सारी हवा बंद हो जाती है हवा उनसे भी अधिक ऊष्मा की कुचालक इसलिए हमारे शरीर से पैदा होने वाली उस्मा अधिक मात्रा में बाहर नहीं निकल पाती है उनके वस्त्र और सारी शरीर के बीच में वायु की परत होने के कारण भी शरीर से आत्मा बाहर नहीं निकल पाती इसलिए ऊनी कपड़े पहनने से गर्मी का एहसास होता है और हम सर्दी से बच जाते हैं धन्यवाद

#जीवन शैली

KamalKishorAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए KamalKishorAwasthi जी का जवाब
घर पर ही रहता हूं बैटरी बनाने का कार्य करता हूं और मोबाइल रिचार्ज इत्यादि
0:39
सवाल ही हमारा मन सबसे ज्यादा शांत किस फल होता है दिखी निद्रा का समय जागृत अवस्था से अधिक शांति मई होता है हां अवचेतन मन निद्रा में भी विचार करता रहता है अगर आप विचलित है और क्रोध अथवा भावेश में है तो उस समय के निर्णय को एक निद्रा तक डाल दीजिए निद्रा चाहे दिन में ली गई संक्षिप्त हो या पूरी रात्रि की हो आपके विचारों में फालतू परिवर्तन होगा निद्रा के बाद लिया गया निर्णय आपको एहसास कराएगा कि आप एक जल्दबाजी में दिए जाने वाले गलत निर्णय से बच गए हैं धन्यवाद

#स्वास्थ्य और योग

KamalKishorAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए KamalKishorAwasthi जी का जवाब
घर पर ही रहता हूं बैटरी बनाने का कार्य करता हूं और मोबाइल रिचार्ज इत्यादि
0:44
सवाल है क्या साहसी होने के लिए शारीरिक ताकत का होना जरूरी है कि मैं सर्वप्रथम यह बताना चाहूंगा कि साहसी होने के लिए दिमाग की ताकत का होना बहुत आवश्यक है कि कुश्ती ऐसा खेल है जिसमें ताकत की सबसे ज्यादा जरूरत होती है लेकिन रियो ओलिंपिक में ब्रॉन्ज मेडल जीतने वाले पहलवान साक्षी मलिक ने कहा था कि उनकी या उपलब्धि ताकत से नहीं बल्कि उनके साहस दिमाग की भी देन है उन्होंने ब्रांच मेडल साहस और अपने शारीरिक ताकत दोनों के बलबूते ब्रांच मेडल हासिल किया इसलिए साहस के साथ-साथ शारीरिक शक्ति की भी आवश्यकता होती है धन्यवाद

#स्वास्थ्य और योग

KamalKishorAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए KamalKishorAwasthi जी का जवाब
घर पर ही रहता हूं बैटरी बनाने का कार्य करता हूं और मोबाइल रिचार्ज इत्यादि
0:32
सवाल है आत्म सम्मान को प्रभावित करने वाले कारक क्या है देखिए वयस्कों में आत्मसम्मान को प्रभावित करने वाले कारक विविध और जटिल है धारणाओं विचारों और अनुभवों का एक संयोजन व्यक्ति के आत्म मूल्य या आत्मसम्मान की भावना को प्रभावित करता है आत्मसम्मान को प्रभावित करने वाले प्राथमिकताओं में से एक स्वयं और दूसरों के बीच बातचीत के बारे में व्यक्तिगत विचार और धारणाएं होती है धन्यवाद

#जीवन शैली

KamalKishorAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए KamalKishorAwasthi जी का जवाब
घर पर ही रहता हूं बैटरी बनाने का कार्य करता हूं और मोबाइल रिचार्ज इत्यादि
0:57
सवाल है क्या गर्भवती महिला का शीर्षासन करना सही है देखिए माइग्रेन और सिर दर्द को कम करने के लिए भी शीर्षासन किया जाता है यह आसन लॉटरी ग्रंथि को उठकर डायबिटीज को कंट्रोल करने में भी मदद करता है इस तरह गर्भवती महिलाएं जेस्टेशनल डायबिटीज से बच सकती है शिव शासन से कंधे और बांह मजबूत होती है प्रेगनेंसी में आप शीर्षासन कर सकती है या नहीं यह पूरी तरह से आपकी सेहत फिटनेस या लेबल प्रेग्नेंसी के चरण और गर्भ में पल रहे शिशु के स्वास्थ्य स्थिति पर निर्भर करता है कोई भी एक्सरसाइज और योगासन करने से पहले गर्भवती महिला को डॉक्टर या हेल्थ एक्सपर्ट से बात करनी चाहिए अगर आप उनकी सलाह से कोई योगासन कर भी रही है तो एक्सपर्ट की गाइडेंस में ही करें धन्यवाद

#जीवन शैली

KamalKishorAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए KamalKishorAwasthi जी का जवाब
घर पर ही रहता हूं बैटरी बनाने का कार्य करता हूं और मोबाइल रिचार्ज इत्यादि
6:55
सवाल ही लोग दुखी क्यों होते हैं दुखों का नाश कैसे हो देखिए आकस्मिक सुख दुख हर व्यक्ति के जीवन में आया करते हैं इनसे सुर मुनि देव दानव कोई नहीं बचता है भगवान राम तक इस करम गति से छूट न सके इस पर सूरदास जी ने लिखा है कर्म गद्दारी ना ही तरह गुरु वशिष्ट पंडित बढ़ गया नी रची रची लगाना धाराएं पिता मनहरण सिया को वन में भी पति पर वशिष्ठ जैसे गुरु के होते हुए भी राम करम गति को टाल न सके उन्हें भी पिता का मरण सिया का हरण क्यों बन की विपत्तियां सहन करनी पड़ी विपत्तियां कहीं से अकस्मात टूट पड़ती है या ईश्वर नाराज होकर दुख दंड देता है ऐसा समझना ठीक न होगा सब प्रकार के दुख अपने ही बू सनी से आती है अपने ही कर्म फल रामचरितमानस में तुलसी बाबा ने लिखा है राहु नको सुख दुख कर दाता नीच कर्म भोग समझा था दूसरा कोई भी प्राणी या पदार्थ किसी को दुख देने की शक्ति नहीं रखता सब लोग अपनी ही कर्मों का फल मुक्ति और उसी भोग थी वह तो चिल्लाते रहते हैं जिओ की पूंछ से ऐसी कठोर व्यवस्था बंधी हुई है जो कर्मों का फल तैयार करती है मछली पानी में तैरती है उसकी पूंछ पानी को काटती हूं पीछे पीछे एक रेखा की बनाती चलती है सांप रेंगता जाता है और रेत पर उसकी लकीर बनती चली जाती है जो काम हम करते हैं उनके संस्कार बनते जाते हैं बुरे कर्मों के संस्कार स्वयं को कष्ट देते हैं बोई हुई कटीली झाड़ी की तरह अपने लिए ही दुखदाई बन जाते हैं दुख तीन प्रकार के होते हैं दैविक दैहिक भौतिक दैनिक दुख हो जाते हैं जो मन को होते होते हैं जैसे चिंता आसन का क्रोध अपमान शत्रुता बिछू अशोक आदि सहित दुख वह होते हैं जो शरीर को होते हैं जैसे रोग कोटा घाट विषाद के प्रभाव से होने वाले कष्ट भौतिक दुख वह हैं जो अचानक अदृश्य प्रकार से आते हैं जैसे भूकंप दुर्भिक्ष अतिवृष्टि महामारी युद्ध इन्हीं तीन प्रकार के दुखों की वेदना से मनुष्यों को तड़पना पड़ता है या तीनों दुख हमारे शारीरिक मानसिक और सामाजिक कर्मों के फल होते हैं मानसिक पापों के परिणाम से दैविक दुख आते हैं शारीरिक बापू के फलस्वरूप दही और सामाजिक पापों के कारण बहुत ही दुख उत्पन्न होते हैं दैविक दुख मानसिक कष्ट उत्पन्न होने का कारण है मानसिक पाप है जो स्वेच्छा पूर्वक तीव्र भावनाओं से प्रेरित होकर किए जाते हैं जैसे ईर्ष्या करता घंटा दंभ घमंड कुर्ता स्वार्थपरता आदि इनको विचारों के कारण जो वातावरण मस्तिष्क में घूमता रहता है उससे अंतर चेतना पर उसी प्रकार का प्रभाव पड़ता है जिस प्रकार भी के कारण दीवाल काली पड़ जाती है या तेल से भीगने पर कपड़ा गंदा हो जाता है आत्मा को भी चारों प्रभावों को जमा हुआ नहीं रहने देती वह इस चित्र में रहती है कि किस प्रकार इस गंध कुछ आप करूं पेट में हानिकारक वस्तुएं जमा हो जाने पर पेट उसे दस्त के रूप में निकाल बाहर फेकता है इसी प्रकार की इच्छा से जानबूझकर किए गए पापों को निकाल देने के लिए आत्मा आतुर होती है हम उसे जरा भी जान नहीं पाते किंतु आत्मा भीतर ही भीतर उस पाप भार को हटाने के लिए अत्यंत व्याकुल हो जाती है बाहरी मन स्कूल बुद्धि को उस अदृश्य प्रक्रिया का कुछ भी पता नहीं लगता पर अंतर्मन चुपके चुपके ऐसे अवसर एकत्रित करने में लगा रहता है जिससे वह मार हट जाए अपमान असफलता भी तो सुख दुख आदि प्राप्ति हो ऐसे अवसरों को वह कहीं से एक न एक दिन किसी प्रकार की खिलाता है ताकि उन दुर्वेश लोगों का पाप संत आलू का इनर फ्री परिस्थितियों में समाधान हो जाए शरीर द्वारा किए हुए चोरी डकैती व्यभिचार अपहरण इस आदमी मन ही प्रमुख है हत्या करने में हाथ का कोई स्वार्थ नहीं वरन मन के आवेश की पूर्ति है इसलिए इस प्रकार के कार्य जिनके करते समय इंद्रियों को सूखने पहुंचता हूं मानसिकता कहलाते हैं ऐसे पापों का फल मानसिक दुख होता है इस्त्री पुत्र अधिक प्रिय जनों की मृत्यु धनास लोक निंदा अपमान पर आज असफलता दरिद्रता अधिक मानसिक दुकान उसे मनुष्य की मानसिक वेदना उखड़ जाती है शोक संताप उत्पन्न होता है दुखी होकर रोता चिल्लाता है आंसू बहाता है सिर धुनता है इससे बैरागी के भाव उत्पन्न होते हैं और भविष्य में अधर्म न करने एवं अरे में प्रवृत्त रहने की प्रवृत्ति भर्ती देखा गया है कि मरघट में सज्जनों की चिंता रखते हुए ऐसे भाव उत्पन्न होते हैं कि जीवन का सदुपयोग करना चाहिए धन नाश होने पर मनुष्य भगवान को पुकारता है पराजित और असफल व्यक्ति का घमंड चूर हो जाता है नशा उतर जाने पर वह उसकी बात करता है मानसिक दुखों का एकमात्र उद्देश्य मन में जमी हुई इन क्या कृतज्ञता स्वार्थपरता क्रूरता निर्दयता एल्बम घमंड की सफाई करना होता है दुख इसलिए आते हैं कि आत्मा के ऊपर जमा हुआ प्रारब्ध कर्म का पाप संस्कार निकल जाए पीला और वेदना की धारा पूर्व कृत प्रारब्ध कर्म के निकृष्ट संस्कारों को धोने के लिए प्रगट होती है धन्यवाद

#स्वास्थ्य और योग

KamalKishorAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए KamalKishorAwasthi जी का जवाब
घर पर ही रहता हूं बैटरी बनाने का कार्य करता हूं और मोबाइल रिचार्ज इत्यादि
0:51
सवाल है पारिवारिक तनाव से खुद को कैसे दूर रखें देखिए इस धरती पर सबसे बड़ा तनाव है पारिवारिक तनाव ऐसा कौन सा हिंदू है जो या नहीं जानता कि प्रभु श्री राम जी के साथ परिवारिक तनाव बढ़ जाने के बाद क्या हुआ था और धृतराष्ट्र के परिवार में पुत्रों के बीच जब तना हुआ तो क्या हुआ था हम सब यह जानते हैं कि तनाव का परिणाम हमेशा बुरा ही होता है इसलिए ऐसी स्थिति न पैदा होने दे बस घर के साथ इंतजार करें अपने रिश्ते को मजबूत करें छोटी-छोटी बातों पर बुरा ना माने एक दूसरे से बातें करें एक दूसरे का सहयोग करें और सदस्यों का ख्याल रखें धन्यवाद

#टेक्नोलॉजी

KamalKishorAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए KamalKishorAwasthi जी का जवाब
घर पर ही रहता हूं बैटरी बनाने का कार्य करता हूं और मोबाइल रिचार्ज इत्यादि
0:41
सवाल है ज्योतिष दृष्टि से क्या बता सकते हैं कि दुकान में मालिक को बैठने की सही स्थिति क्या होना चाहिए देखिए वास्तु शास्त्र के मुताबिक दुकान के मालिक किया मैनेजर को दुकान के दक्षिण पश्चिम दिशा में बैठना चाहिए दुकान में कैश काउंटर मालिक या मैनेजर के स्थान के ऊपर कोई दिन नहीं होना चाहिए यदि कार्यस्थल पर छोटी किचन है तो इसकी दिशा दक्षिण पूर्व में बनाना बहुत अच्छा होता है दुकान या शोरूम में पूर्व और उत्तर में शीशे का प्रयोग करना व्यवसाय में लाभ देने वाला होता है धन्यवाद

#स्वास्थ्य और योग

KamalKishorAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए KamalKishorAwasthi जी का जवाब
घर पर ही रहता हूं बैटरी बनाने का कार्य करता हूं और मोबाइल रिचार्ज इत्यादि
1:21
सवाल है खाली पेट लोंग खाने के क्या फायदे हैं देखिए जहां हिंदू धर्म में लॉन्ग को पूजा पाठ में सम्मिलित किया जाता है वही आयुर्वेद में एक औषधि के रूप में लोगों का प्रयोग किया जाता है रोजाना सुबह एक लोग खाली पेट खाने से पेट दर्द गायब हो जाता है साथ ही आपको गैस की समस्या है तो यह भी छूमंतर हो जाएगी तो ऐसे में आप आज से ही लोग खाना शुरु कर दीजिए अगर आपको भूख नहीं लगती है तो ऐसे में आपके लिए लॉन्ग रामबाण साबित हो सकती है जी हां लोंग खाने से आपको भूख लगने लगेगी इसके लिए आपको रोजाना सहित 11 लोगों को मिलाकर सुबह खाली पेट खाना चाहिए इसके अलावा लॉन्ग हानिकारक बैक्टीरिया को किल करती है क्रमी नाशक है एंटी फंगल पेन किलर होती है लॉन्ग शरीर हुए जख्मों को भरने में मददगार साबित होती है साथ ही जिन्हें पेट फूलने जैसी दिक्कतें होती है उनके लिए खास फायदेमंद है इतना ही नहीं अगर दुकान या किसी अन्य कारण से आपका गला खराब हो गया है तो आप लोग का प्रयोग कर सकते हैं धन्यवाद

#टेक्नोलॉजी

KamalKishorAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए KamalKishorAwasthi जी का जवाब
घर पर ही रहता हूं बैटरी बनाने का कार्य करता हूं और मोबाइल रिचार्ज इत्यादि
0:59
सवाल है देख टॉनिक बैलेट मशीन की खोज किसने की और कब की थी देखिए सर्वप्रथम अट्ठारह सौ इक्यासी में शिकागो के एंथोनी बेरानेक ने संयुक्त राज्य अमेरिका में एक आम चुनाव में उपयोग के लिए उपयुक्त पहली वोटिंग मशीन का पेटेंट कराया भरने की मशीन ने मतदाता को push-button की एक सारणी प्रस्तुत की थी पहले भारतीय ईवीएम का की बात की जाए तो पहले भागती ईवीएम मशीन का आविष्कार 1980 में एमबी हनीफा के द्वारा किया गया था जिसे उन्होंने इलेक्ट्रॉनिक संचालित मतगणना मशीन के नाम से 15 अक्टूबर 1980 को पंजीकृत कराया था एकीकृत सर्किट का उपयोग कर एमबी हनीफा द्वारा बनाई गई मूल डिजाइन को तमिलनाडु के 6 शहरों में आयोजित सरकारी प्रदर्शनों में जनता के लिए प्रदर्शित किया गया था धन्यवाद

#धर्म और ज्योतिषी

KamalKishorAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए KamalKishorAwasthi जी का जवाब
घर पर ही रहता हूं बैटरी बनाने का कार्य करता हूं और मोबाइल रिचार्ज इत्यादि
1:28
सवाल ही इंसान का रंग अलग-अलग क्यों होता है देखिए मानव त्वचा का रंग गहरे भूरे से लेकर हल्के गुलाबी श्वेत तक विस्तृत पर आ सकता है मानो तो चमकता प्राकृतिक वरण का परिणाम है मानव में त्वचा वर्ण अकता का विकास मुख्य तत्व तक आवेदन करने वाली पराबैंगनी विकिरण की मात्रा को विनियमित करने और इसके जीव रसायन प्रभाव नियंत्रित करने से हुआ है लोगों का वास्तविक रंग विभिन्न तत्वों पर निर्भर करता है यद्यपि सबसे महत्वपूर्ण तत्व मेलानिन इन वर्णक है मेलानिन इन का निर्माण त्वचा की उचित नामक कोशिकाओं के अंदर होता है और गहरे श्याम वर्ण के लोगों की त्वचा का रंग इसे ही निर्धारित होता है हल्के रंग के लोगों की त्वचा का रंग बारिश ताकि नीले सफेद संयोजी उत्तक और शिराओं में प्रभावित होने वाले हेमोग्लोबिन से निर्धारित होता है त्वचा में अंतर्निहित लाल रंग दृश्य मान होता है जो मुख्य रूप से चेहरे पर कुछ विशिष्ट परिस्थितियों में अधिक दिखाई देता है जैसे व्यायाम के उपरांत तंत्रिका तंत्र की उत्तेजित अवस्था गुस्सा डर आदमी ऐसा दिखाई देता है धन्यवाद

#धर्म और ज्योतिषी

KamalKishorAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए KamalKishorAwasthi जी का जवाब
घर पर ही रहता हूं बैटरी बनाने का कार्य करता हूं और मोबाइल रिचार्ज इत्यादि
2:31
सवाल है चंद्रमा और सूर्य में एक ही आकार में क्यों दिखाई देते हैं देखिए चंद्रमा पृथ्वी का एकमात्र प्राकृतिक उपग्रह है या सौरमंडल का पांचवा सबसे विशाल प्राकृतिक उपग्रह है इसका आकार क्रिकेट बॉल की तरह गोल है और यह खुद से नहीं चमकता बल्कि या तो सूर्य के प्रकाश से ही प्रकाशित होता है पृथ्वी से चंद्रमा की दूरी लगभग 384403 किलोमीटर है या दूरी पृथ्वी के व्यास का 30 गुना है चंद्रमा पर गुरुत्वाकर्षण पृथ्वी से एक बटे 6 है या पृथ्वी की परिक्रमा 27.3 दिन में पूरा करता है और अपने अच्छी के चारों ओर एक पूरा चक्कर भी 27.3 दिन में लगाता है यही कारण है कि चंद्रमा का एक हिस्सा या फिर हमेशा पृथ्वी की ओर होता यदि चंद्रमा पर खड़े होकर पृथ्वी को देखें तो पृथ्वी साथ-साथ अपने अक्ष पर * करती हुई नजर आएगी लेकिन आसपास में उसकी स्थिति स्थिर बनी रहेगी अर्थात पृथ्वी को कई वर्षों तक निहारते रहो वह अपनी जगह से टस से मस नहीं होगी पृथ्वी चंद्रमा सूर्य नीति के कारण चंद्र दशा हर 29.5 दिनों में बदलती है आकार के हिसाब से अपने स्वामी ग्रह के सापेक्ष या सौरमंडल में सबसे बड़ा प्राकृतिक उपग्रह है जिसका व्यास पृथ्वी का एक चौथाई तथा द्रव्यमान 1 बटा 81 है बृहस्पति के उपग्रह के बाद चंद्रमा दूसरा सबसे घनत्व वाला उपग्रह सूर्य के बाद आसमान में सबसे अधिक चमकदार निकाय चंद्रमा समुद्री ज्वार और भाटा चंद्रमा के गुरुत्वाकर्षण शक्ति के कारण आते हैं चंद्रमा की तत्कालिक कच्ची अधूरी पृथ्वी के व्यास का 30 गुना है आसमान में सूर्य और चंद्रमा का आकार हमेशा समान नजर आता है चाहे इस प्रकार कर लीजिए सूर्य पृथ्वी से 400 गुना बड़ा है और चांद पृथ्वी से 400 गुना नजदीक है इसलिए ऐसा होता है धन्यवाद

#टेक्नोलॉजी

KamalKishorAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए KamalKishorAwasthi जी का जवाब
घर पर ही रहता हूं बैटरी बनाने का कार्य करता हूं और मोबाइल रिचार्ज इत्यादि
0:52
सवाल है पटाखों से निकलने वाली रोशनी अलग-अलग रंगों की किन कारणों से होती है देखिए अक्सर हम देखते हैं कि विभिन्न प्रकार के पटाखे फटने के बाद आसमान में रंग बिरंगी रोशनी बिछड़ते हैं इन पटाखों में रोशनी प्राप्त करने के लिए खास तरह के रसायनों का प्रयोग किया जाता है अलग-अलग रसायनों के हिसाब से ही पटाखों के रंगों की रोशनी अलग-अलग होती है रसायन विज्ञान में मौजूद तरह तरह के रसायनों को यदि किसी और वस्तु के साथ मिलाया जाए तो बार रसायनिक तत्व उसके साथ मिश्रित होने पर अपना रंग बदल लेते हैं पटाखों से हरे रंग की रोशनी निकालने के लिए उसमें बेरियम नाइट्रेट का इस्तेमाल किया जाता है धन्यवाद

#टेक्नोलॉजी

KamalKishorAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए KamalKishorAwasthi जी का जवाब
घर पर ही रहता हूं बैटरी बनाने का कार्य करता हूं और मोबाइल रिचार्ज इत्यादि
0:56
सवाल है विद्युत बल्ब के अंदर पतले तार को क्या कहते हैं और यह किस चीज का बना होता है देखिए ताप दीप्त ओलंपिया इन करंट इंसेंट लैंप को बोलचाल भाषा में बल्ब कहते हैं या ताप दीप्ति के द्वारा प्रकाश उत्पन्न करता है गर्म होने के कारण प्रकाश का उत्सर्जन टॉप दीप्ति कहलाता है इसमें एक पतला फिलामेंट तार होता है जिससे वह कर जब धारा बहती है तब या गर्म होकर प्रकाश देने लगता है फिलामेंट को कांच के बल्ब के अंदर इसलिए रखा जाता है ताकि अब तक फिलामेंट तक वायु मंडली ऑक्सीजन न पहुंच पाए और इस तरह प्रिया करके फिलामेंट को कमजोर न कर सके विद्युत बल्ब के अंदर आर्गन गैस भरी होती है विद्युत बल्ब का तंतु टंगस्टन का बना होता है धन्यवाद

#स्वास्थ्य और योग

KamalKishorAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए KamalKishorAwasthi जी का जवाब
घर पर ही रहता हूं बैटरी बनाने का कार्य करता हूं और मोबाइल रिचार्ज इत्यादि
1:26
सवाल ही आंख से पानी क्यों निकलता है और यह पानी नमकीन क्यों होता है देखिए आंसू आपकी भावना को बयान करते हैं कभी कभी खुशी बनकर तो कभी तकलीफ बनकर यह अक्सर आंखों से छलक जाते हैं आप कितने ही ज्यादा सहनशील और हिम्मत वाले क्यों न हो पर कभी न कभी जिंदगी में कोई ऐसा मोड़ जरूर आता है जब आप की आंखों से आंसू छलक जाते हैं कुछ लोगों को यह बात बड़ा ही बेचैन करती होगी की आंखों से आंसू निकलते हैं वह नमकीन क्यों होते हैं दरअसल आंसू के नमकीन होने के पीछे वैज्ञानिक कारण है वैज्ञानिकों के अनुसार आंसू में सोडियम क्लोराइड होता है इसके अलावा आंसू में लाए सो जाएं पाया जाता है आशु की हर एक बूंद रिपीट और अन्य फैट की बाहरी नियर नियर नियर नियर कुकर से बनी होती है दोनों लेयर एक सैंडविच की तरह एक पानी को प्लेयर बनाते हैं वैसे तकनीकी रूप से आंसू आंख में होने वाली दिक्कत का सूचक है यह आपको उसको होने से बचाता है और उचित साथ और कीटाणु रहित रखने में मदद करता है यह आंख की अचूक ने लिकाओं से निकलने वाला तरल पदार्थ है जो पानी और नमक के मिश्रण से बना होता है धन्यवाद

#स्वास्थ्य और योग

KamalKishorAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए KamalKishorAwasthi जी का जवाब
घर पर ही रहता हूं बैटरी बनाने का कार्य करता हूं और मोबाइल रिचार्ज इत्यादि
1:28
सवाल है कीवी खाने से क्या-क्या फायदे होते हैं देखिए की भी बहुत लोकप्रिय फल तो नहीं है लेकिन इससे होने वाले फायदे आपको हैरत में डाल देंगे भूरे रंग के छिलके वाला की भी भीतर से मुलायम हरे रंग का होता है इसके भीतर काले रंग के छोटे-छोटे बीज भी मौजूद होते हैं एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर विटामिन सी से भरपूर टीवी में पर्याप्त एंटी ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं जो कई तरह के इंफेक्शन से सुरक्षित रखने में सहायक साबित होते हैं कि भी कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में सहायक है इसके नियमित सेवन से शरीर में गुड कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ती है दिल से जुड़ी कई बीमारियों में यह मुख्य रूप से फायदेमंद है इसके अलावा सूजन कम करने में मददगार की भी में इन्फ्लेमेटरी गुण पाया जाता है ऐसे में अगर आपको अर्थराइटिस की शिकायत है तो कीवी का नियमित फोन करना आपके लिए बेहद फायदेमंद साबित हो सकता है इसके अलावा यह शरीर के अंदरूनी घाव को भरने और सूजन को कम करने में मदद करता है कब्ज से राहत के लिए टीवी में फाइबर की भरपूर मात्रा होती है कीवी फल के नियमित सेवन से कब्ज की समस्या में भी फायदा होता है फाइबर की मौजूदगी से पाचन क्रिया में भी सुधार होता है धन्यवाद

#स्वास्थ्य और योग

KamalKishorAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए KamalKishorAwasthi जी का जवाब
घर पर ही रहता हूं बैटरी बनाने का कार्य करता हूं और मोबाइल रिचार्ज इत्यादि
1:18
सवाल है एक कप चाय में शुगर की मात्रा कितनी होनी चाहिए देखिए चाय में चीनी की मात्रा आपकी बॉडी और स्वाद पर है अगर आप रोजाना व्यायाम करते हैं और आप पूरी तरह से स्वस्थ है तो आप थोड़ी ज्यादा मीठी चाय भी पी सकते हैं क्योंकि अगर मैं बोलूं कि दो चम्मच या तीन चम्मच सही रहेगा तो किसी का कब बड़ा होता तो किसी का छोटा होता है वहां पर चीनी की मात्रा कम ज्यादा हो सकती है ज्यादातर लोगों को एक या दो चम्मच डालने के बारे में पता रहता है हालांकि अगर मात्रा कम है तो आपके स्वास्थ्य के लिए बेहतर होता है विश्व स्वास्थ्य संगठन के दिशा निर्देशों के अनुसार प्रतिदिन 6 चम्मच से अधिक चीनी नहीं लेनी चाहिए यदि आप अपनी चाय या कॉफी में दो चम्मच चीनी मिल आते हैं जो कि दिन में आपके लिए कुल चीनी बजट का एक अगर आप चाय या कॉफी खाना खाने से पहले लेते हैं तो दो चम्मच से ज्यादा चीनी का सेवन नहीं करना चाहिए अपनी चाय को अधिक साथ देने के लिए या फायदेमंद बनाने के लिए आप दूध की मात्रा बढ़ा सकते हैं धन्यवाद

#जीवन शैली

KamalKishorAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए KamalKishorAwasthi जी का जवाब
घर पर ही रहता हूं बैटरी बनाने का कार्य करता हूं और मोबाइल रिचार्ज इत्यादि
2:05
सवाल ही खुशहाल जीवन के लिए पैसा कितना महत्व रखता है देखिए वैसे या एक लोकप्रिय धारणा है कि पैसा से खुशी नहीं खरीदी जा सकती अगर आपको दुनिया की यात्रा करना पसंद है तो निश्चित रूप से आपको पैसे की जरूरत है और हां यात्रा को कुछ भी कर देती अगर आप रूपए पैसे से खुशी नहीं पा सकते तो आप ही से क्यों कम आती है ऐसा काफी लोगों का मानना है कि सच्ची खुशी व्यक्तिगत संबंधों और स्थितियों से होती है लेकिन एक शोध से या भी पता चलता है कि जिन लोगों की आय कम होती है वह अवसाद की चपेट में जल्दी आते हैं या ठीक है कि धन के बिना हमारा काम नहीं चल सकता थोड़ा बहुत धन हमें चाहिए यहां सवाल यह उठता है कि अधिक पैसे का लोग क्या करते हैं क्यों इंसान पैसे के लिए पागल होता जा रहा है दरअसल जीवन की खुशहाली के लिए विकास जरूरी है और विकास के लिए धन जीवन निर्वाह के लिए जिस सामग्री की सबसे ज्यादा जरूरत पड़ती है वह धन से आती है धन से ही हम अपने जीवन की सभी शुरुआती आवश्यकताओं आराम और जरूरतों को पूरा कर पाते हैं धन का सदुपयोग कर हमें जीवन को खुशहाल बनाना चाहिए धन का महत्व आज के समय में ही नहीं बल्कि प्राचीन समय से चला आ रहा है धन के बिना न तो कोई यज्ञ होता है ना ही कोई अनुष्ठान जीवन निर्वाह धन के बिना नहीं हो सकता राष्ट्र की उन्नति एवं समृद्धि का परिचायक भी धन ही है प्राचीन समय में कहा जाता था कि धन और सरस्वती का बेर है अर्थात यह दोनों एक स्थान पर इकट्ठे नहीं रह सकती लेकिन आधुनिक युग में या नियम बदल गया है आज धन और नालेज दोनों साथ साथ रहे धनवान अच्छे स्कूल में अपने बच्चों को शिक्षा दिलवा पाता है धन्यवाद

#पढ़ाई लिखाई

KamalKishorAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए KamalKishorAwasthi जी का जवाब
घर पर ही रहता हूं बैटरी बनाने का कार्य करता हूं और मोबाइल रिचार्ज इत्यादि
1:35
महाद्वीप का सबसे बड़ा ज्वालामुखी कौन सा है देखिए आज पृथ्वी को हम जिस रूप में देख रहे हैं वह ज्वालामुखी योग के कारण है ज्वाला मुखी ने हमारे वायुमंडल को भी प्रभावित गर्म लावा धरती की सतह पर गिरा जिससे नई मजबूत जमीन बनी जमीन हुई पृथ्वी पर जब ग्रीन हाउस गैसों का उत्सर्जन हुआ तो ज्वालामुखी के कारण ही संभव हो पाया हवाई द्वीप को ही देख लीजिए ज्वालामुखी से निकले लावे की वजह से हवाई द्वीप समुद्र तल के बाहर निकल आया और दुनिया उसे डूब के तौर पर देख पाई लेकिन ज्वालामुखी केवल पृथ्वी पर ही नहीं पाए जाते हैं सोलर सिस्टम की पड़ताल बताती है कि ज्वालामुखी दूसरे ग्रहों उपग्रहों पर भी मौजूद है और पृथ्वी के ज्वालामुखी उसे कहीं भी साल है कुछ निष्क्रिय हैं और लाखों सालों से इनमें विस्फोट नहीं हुए हैं और शायद आगे लेकिन कई पृथ्वी पर मौजूद ज्वालामुखी की तरह शक्ति भी है यदि सबसे बड़े ज्वालामुखी की बात की जाए तो पेसिफिक महासागर में पाया जाने वाला तेनु मैं सिर्फ 5 सितंबर 2013 को दुनिया का सबसे बड़ा ज्वालामुखी माना गया था इससे पहले यह स्थान अमेरिका के हवाई नाम के ऊपर मौना लोआ ज्वालामुखी का था टाइम मैचेस ज्वालामुखी लाखों सालों से शांत है और महासागर के अंदर स्थित है धन्यवाद

#जीवन शैली

KamalKishorAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए KamalKishorAwasthi जी का जवाब
घर पर ही रहता हूं बैटरी बनाने का कार्य करता हूं और मोबाइल रिचार्ज इत्यादि
0:32
सवाल है कि स्त्रियों का दिमाग पुरुषों की तुलना में कम होता है ऐसा बिल्कुल नहीं है हाल ही में हुए एक ताजा अध्ययन में यह बात सामने आई है कि महिलाओं में पुरुषों की अपेक्षा अधिक दिमाग पाया जाता है महिलाओं का दिमाग पुरुषों की तुलना में अधिक ध्यान केंद्रित करने आवेश नियंत्रण भाव और तनाव के क्षेत्रों में अधिक सक्रिय होता है इस विषय पर यह अब तक की सबसे बड़ी स्टडी मानी जा रही है धन्यवाद

#जीवन शैली

KamalKishorAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए KamalKishorAwasthi जी का जवाब
घर पर ही रहता हूं बैटरी बनाने का कार्य करता हूं और मोबाइल रिचार्ज इत्यादि
1:32
सवाल है अगर छोटी-छोटी बातों पर भी क्यों होने लगे तो क्या करना चाहिए देखिए अक्सर ऐसा तब होता है जब हमारे मनमाफिक कोई कार्य नहीं हो पाता है और वह कार्य बिगड़ जाता है तो हमें किसी महसूस होने लगती है और गुस्सा आ जाता है लाइफ में हमेशा अच्छा ही हो ऐसा नहीं है कभी दिन खुशियों में बीते हुए तो कभी किसी बात पर चुनाव होगा गुस्सा आएगा मगर अक्सर कुछ लोगों को छोटी-छोटी बातों पर जलन होती है और गुस्सा आ जाता है गुस्से का एक प्रकार चिढ़ है गुस्सा अक्षर तब तक शांत नहीं होता जब तक कि उसकी प्रतिक्रिया न दी जाए ऐसे में आप अपना गुस्सा अपने शौक पर निकाल सकते हैं जी हां इसका मतलब सिर्फ यही है कि अगर आप डांस में रुचि रखते हैं या फिर आपको दौड़ना पसंद है या फिर कुछ और आपके शौक है तो अपने शौक में समझाइए और तनाव मुक्त हो जाइए या माहौल को बेहतर बनाने का अच्छा तरीका है जब आप गुस्से में होते हैं तो उन जगहों के बारे में सोचने की कोशिश करें जहां आप खुद को कुछ और शांति महसूस करते हैं फिर एक गहरी सांस लें और अपने मन ही मन में किसी खास शब्द या वाक्य को दोहराएं इस से आपका ध्यान उस बात से हटे गा जिस पर गुस्सा आया है जिससे आपको सिर पैदा हुई है और आप अपने गुस्से पर काबू कर पाएंगे धन्यवाद

#धर्म और ज्योतिषी

KamalKishorAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए KamalKishorAwasthi जी का जवाब
घर पर ही रहता हूं बैटरी बनाने का कार्य करता हूं और मोबाइल रिचार्ज इत्यादि
0:46
प्रश्न है अनुवाद किसे कहते हैं एक अच्छे अनुवादक में क्या गुण होने चाहिए देखिए एक भाषा को दूसरी भाषा में प्रस्तुत करना ही अनुवाद कहलाता है जिस भाषा से अनुवाद किया जाता है उसे स्रोत भाषा और जिस में अनुवाद करते हैं उसे लक्ष्य भाषा कहते हैं अनुवाद करने वाला अनुवादक होता है एक अच्छे अनुवादक को स्रोत और लक्ष्य भाषा की जानकारी होने के साथ-साथ दोनों देशों की प्रकृति सांस्कृतिक अवस्था एवं लोक जीवन की भी अच्छी समझ होनी चाहिए धन्यवाद

#स्वास्थ्य और योग

KamalKishorAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए KamalKishorAwasthi जी का जवाब
घर पर ही रहता हूं बैटरी बनाने का कार्य करता हूं और मोबाइल रिचार्ज इत्यादि
2:02
सवाल है घर में बरकत क्यों नहीं होती इसकी क्या वजह है देखिए बरकत अर्थात वह शुभ स्थिति जिसमें कोई चीज या चीजें इस मात्रा में उपलब्ध हो कि उनसे आवश्यकताओं की पूर्ति होने के बाद भी वह बची रहे अर्थात अन्य इतना हो कि घर के सदस्यों सहित अतिथि आई तो वह भी खा सकें धन इतना हो की आवश्यकताओं की पूर्ति के बावजूद वह बेचारे की प्रकृति का नियम है कि आप जितना देते हैं वह उससे दोगुना करके लौटा देती है यदि आप धन या अन्य को पकड़ कर रख तो वह छोटा जाएगा दान में सबसे बड़ा दान है अनुदान सर्वोपरि दान बताया गया है गाय कुत्ते कव्वे चींटी और पक्षी के हिस्से का भोजन निकालना जरूरी हो तो हिंदू धर्म के अनुसार सबसे पहले गाय की रोटी बनाई जाती है और अंत में कुत्ते की तो इस तरह सभी का हिस्सा रहता है इस तरह के दान को पंच यज्ञ में से एक वैष्णो देवी आदि भी कहा जाता है पांच यज्ञ इस प्रकार है ब्रह्म यज्ञ देव यज्ञ यज्ञ और वसुदेव या कि अतिथि यज्ञ से अर्थ मेहमानों की सेवा करना पुण्य जल देना अपंग महिला विद्यार्थी सन्यासी चिकित्सक और धर्म के रक्षकों की सेवा सहायता करना ही अतिथि यज्ञ दूसरी बात अग्निहोत्र कर्म करने में हिंदू धर्म में बताए गए हैं मात्र 5 तरह के जजों में से एक है जिसे अग्निहोत्र कर्म भी कहते हैं इससे देव ऋण चुकता होता है वहीं अन्य और धन में बरकत बनी रहती है तो इस प्रकार के कर्म करने से बरकत बनी रहती है धन्यवाद

#रिश्ते और संबंध

KamalKishorAwasthi Bolkar App
Top Speaker,Level 44
सुनिए KamalKishorAwasthi जी का जवाब
घर पर ही रहता हूं बैटरी बनाने का कार्य करता हूं और मोबाइल रिचार्ज इत्यादि
0:31
विकलांग बच्चे क्यों पैदा होते हैं देखिए इस बारे में डॉक्टर की माने तो प्रेगनेंसी के दौरान की गई छोटी-छोटी गलतियों के कारण बच्चों में विकलांगता का जाती कभी-कभी कैल्शियम और विटामिन डी की कमी के कारण जहां बच्चों के पैरों में परेशानी आने का खतरा रहता है वहीं इस दौरान बाहर के खानपान का भी गर्व पर असर पड़ता है और इस कारण भी बच्चे विकलांग पैदा होते हैं धन्यवाद
URL copied to clipboard