#धर्म और ज्योतिषी

Jyoti Malik Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Jyoti Malik जी का जवाब
Student
2:26
देखिए हिंदुओं में सिंदूर लगाना सुहाग का प्रतीक माना जाता है एडिशन कई दशकों ने इंडियन सोसाइटी में चला रहा है अगर हिंदुओं की बात की जाए तो कहते हैं कि महिलाएं सिंदूर को पति की अच्छी हेल्थ और लंबी उम्र के लिए लगाती है लेकिन इसके पीछे कुछ काम ऐसे भी हो सकते हैं जो हेल्थ को बिगाड़ने वाले हो सकते हैं पहले जो सिंदूर बनते थे वह हल्दी लाइन और हर्बल चीजों से मिलकर बनते थे जोकि स्ट्रेस उस ट्रेन को भगाने के साथ-साथ दिन को एक्टिवेट रखते थे लेकिन अब सिंदूर रेड लाइट और मरकरी का बनने लगा है जो की बॉडी के लिए हार्मफुल होता है देखिए इससे आपकी स्किन एलर्जी की कुछ नुकसान जो है आपको भरपाई आपको करनी पड़ सकती है आपको जानकर आश्चर्य होगा कि मर्करी सल्फेट स्किन कैंसर का कारण बनती है जिससे जान भी जा सकती है और इसके काफी इफेक्ट जो आपकी ब्रेन पर पढ़ते हैं जीतू गई इसके नुकसान अब बात कर लेते हैं इसके फायदे सबसे पहला फायदा तो यह है कि इसमें जो इस्त्री है वह बहुत ही खूबसूरत और उसका निखार जो है अलग से ही आता है हम देखे कुछ लोग इसके नुकसान सुनकर शायद थोड़ा अपने आप में ट्रस्ट फील कर सकते हैं लेकिन अगर बात करें अगर आप इसके फायदे दिखे दिखे प्राकृतिक चीजों का इस्तेमाल कर सकते हैं जैसे हल्दी और फिटकरी का इस्तेमाल करके आप खुद ही सिंदूर बना सकते हैं बाजार में मिलने वाले अगर सुस्त सिंदूर आप ना खरीदे तो यह आपके लिए फायदेमंद हो सकता है हर्बल सिंदूर का इस्तेमाल आप कर सकते हैं और नहाने के बाद गलती से भी सिंदूर मुंह में ना चला जाए इस बात का आप को ध्यान रखना होता है और अब बात कर लेते हैं वैज्ञानिक दृष्टिकोण की विज्ञान तो यह कहता है कि माथे पर सिंदूर लगाने से रक्तचाप नियंत्रित रहता है महिलाएं जिस स्थान पर सिंदूर लगाती है व स्थान ब्रह्मरंधरा थी नामक कोमल स्थान को ठीक ऊपर होता है सिंदूर में मौजूद तत्व इस स्थान से शरीर में मौजूद विद्युत ऊर्जा को नियंत्रित करते हैं इससे भारी दुष्प्रभाव भी हम बच सकते हैं हम सिंदूर में मौजूद पारा धातु की अधिकता होती है जिससे चेहरे पर झुर्रियां नहीं पड़ती इससे महिलाओं की बढ़ती उम्र है वह भी नजर नहीं आती ऐसा विज्ञान मानता है धन्यवाद

#स्वास्थ्य और योग

Jyoti Malik Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Jyoti Malik जी का जवाब
Student
2:14
प्रश्न है मनुष्य की आंख कैसे काम करती हैं दुनिया की खूबसूरत में से सबसे अच्छी और महत्वपूर्ण चीज हमारे लिए हमें अपनी आंख लगती है कुदरत की अनमोल देन हम आप को मानते हैं आंखें में सुंदर चमत्कार है जिससे आप अपने आसपास मौजूद खूबसूरत नजारे देख सकते हैं लेकिन मानना की जटिल संरचना है ऐसा अंग है जो मनुष्य को सूक्ष्म निरीक्षण की सुविधा देता है अगर आप आंखों के कार्य के बारे में सोच रहे हैं कि चमत्कार कैसे होता है तो शायद मैं आपकी थोड़ी मदद कर सकती हूं देखिए जो श्वेत पटेल होता है आपकी आंखों में श्वेत पटेल को अक्सर आंखों के सफेद हिस्से के रूप में जाना जाता है यह कठिन सफेद टिशू आईबॉल का प्रमुख हिस्सा है यह वह मांस पेशी है जो श्वेत पटल से जुड़ी होती है और आंखों को मोमेंट देती है देखिए कोरिया आंख का पारदर्शी कवर जो प्रकाश लेता है उसे कोर्निया कहते हैं कौन है कुछ ऐसे ही जैसे आप खिड़की से छान कर किसी चीज को देख रही हूं और आईरिस आंख का वह हिस्सा जिसमें रंग होता है और इस कार्य की नीचे होता और आईबॉल में प्रवेश प्रकाश की मात्रा को नियंत्रित का कार्य करता है आयुर्वेद केंद्र के अंदर रखा गोल और काले वॉलपेपर के रूप में जाना जाता है लाइट पर्पल के माध्यम से आई बॉल में प्रवेश कर नजर को बढ़ाती है इस मांसपेशी के कारण यह आसानी से अपने आकार को बदल सकती है लेंथ कोरिया की तरह लेंस भी आंख के अंदर एक पारदर्शी उत्तक है यह पीपल के पीछे स्थित होता है और इसका कार्य प्रकाश की मदद कर आईबॉल के पीछे ध्यान केंद्रित करना होता है हमारी आंख के अंदर छोटी से छोटी चीज एक बड़ा कार्य करती है अगर मैट्रियल जेल की बात की जाए आईबॉल के अंदर भरा जली पदार्थ के आकार को बनाए रखने में मदद करता है वेट जेल के रूप में जाना जाता है रेटिना एक उत्तक है जो आइबुल के पीछे की दीवार पर स्थित है यह साइज कोशिकाओं का बना होता है और रोड को कौन के रूप में जाना जाता है रोड काली सफेद रंग और ग्रह के विभिन्न रंगों को देखने के जिम्मेदार होता है धन्यवाद

#स्वास्थ्य और योग

Jyoti Malik Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Jyoti Malik जी का जवाब
Student
1:05
प्रश्न है पैरों के तलवों से अगर पसीना आता है तो उसे रोकने का कोई उपाय दी की सबसे बढ़िया तरीका है लैवंडर ऑयल लैवेंडर ऑयल में एंटीफंगल्स प्रॉपर्टीज होती है जिससे नासिर पसीना आने की समस्या दूर होती है बल्कि इंफेक्शन से भी बचाता है गुनगुने पानी में तीन से चार फूल लैवंडर एसेंशियल ऑयल डालें और इसमें 15 से 20 मिनट तक पैड वो कर बैठे कुछ दिनों तक रोजाना ऐसा करने से आपको खुद फर्क दिखने लगेगा इसके अलावा फिटकरी का भी उपयोग कर सकते हैं फिटकरी में मौजूद एंटीसेप्टिक गुण पैरों से पसीना आने की समस्या दूर करता है साथ ही इससे आफ फंगल इंफेक्शन से भी बच सकते हैं इसके लिए एक चम्मच फिटकरी पाउडर को गुनगुने पानी में डालकर 15 से 20 मिनट तक पैरों को उस में डुबोकर रखें इससे पैरों में पसीना और बदबू आने की समस्या दूर हो जाएगी देखिए अगर आप नमक के पानी में भी पैड होते हैं तो अभी आपको जो पसीने की समस्या से निजात मिल सकती है धन्यवाद

#टेक्नोलॉजी

Jyoti Malik Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Jyoti Malik जी का जवाब
Student
1:36
प्रश्न है यूट्यूब चैनल बनाने के लिए किन बातों का ध्यान रखना चाहिए देखिए यूट्यूब पर पैसा कमाना आज के जमाने में बहुत आम बात हो गई है लेकिन उसके लिए मेहनत करना बिल्कुल भी आसान नहीं है अगर आप चाहते हैं कि आपको ज्यादा से ज्यादा लोग सब्सक्राइब करें तो सबसे जरूरी है कि आप अपना खुद का कंटेंट बनाएं ना कि किसी का कंटेंट चुराए जो व्यक्ति दूसरों के कंटेंट से मिलता-जुलता कंटेंट बनाते हैं उन पर ज्यादा सब्सक्राइबर नहीं आते और जो व्यक्ति अपने असली चेहरे के साथ अपनी पूरी प्रोफाइल के बारे में सच्ची जानकारी देकर जो लोगों का दिल जीता है उन लोगों को यूट्यूब पर जो भी व्यक्ति उन वीडियो को देखते हैं वह नहीं पसंद करते हैं और साथ ही सब्सक्राइब करते हैं आज के समय में जाता है यूट्यूब पर लोग हंसी मजाक के मोटिवेशन चीजें देखना पसंद करते हैं तो आप अगर उन से मिलती-जुलती चीजें बनाएंगे और वह ऐसी हो जो दूसरों के आईडीयो से बिल्कुल भी मिलती जुलती ना हो बिल्कुल डिफरेंट हो कुछ अलग सा हो जो लोगों को मनोरंजन करें या प्रेरित करें तो ऐसी वीडियो आपकी वायरल भी हो सकती है और लोगों द्वारा लोकप्रिय भी बन सकती हैं आप अपनी वीडियो को जितना क्लियर हो सके उतना क्लियर दिखाएं जिससे कि आपको सब्सक्राइबर ज्यादा से ज्यादा मिले धन्यवाद

#रिश्ते और संबंध

Jyoti Malik Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Jyoti Malik जी का जवाब
Student
1:22
देखिए ऐसा अक्सर काफी लोगों के साथ होता है कि वह तीन चार व्यक्तियों के सामने तो खुलकर अपनी बात रख सकते हैं लेकिन जैसे ही वह भीड़ के सामने कुछ बोलने की कोशिश करते हैं तो वह बिक जाते हैं और उनके हाथ पैर कांपने लग जाते हैं और मैं यह सोचते हैं कि सामने वाला क्या सोचेगा देखिए अगर वह यह समझे कि वह उन से अधिक बुद्धिमान है और उसका जवाब जो है वह दूसरों से अच्छा दे सकते हैं और लोगों को बेहतर समझा सकते हैं और इनसे लोग प्रेरित भी होंगे और खुद भी वह जो डर है वह काबू में ला सकते हैं अगर उनके अंदर यह बात यह भावना आ जाए तो वह अपनी जिंदगी में काफी आगे बढ़ सकते हैं देखें सबसे पहले जब भी कोई भी व्यक्ति स्टेज पर जाएं एक लंबी सांस लेकर यह सोचे कि मैं कर सकता हूं और यह मेरे लिए काफी मुश्किल बात नहीं है अगर वह यह दृढ़ निश्चय करके जाए कि वह किसी को कुछ समझाने की कोशिश कर रहा है या इससे लोगों का ही भला होगा लोग उससे प्रेरित होंगे अगर यह भावना अगर मैं मन में बैठा लेगा तो उसे थोड़ा समय लगेगा लेकिन वह हर व्यक्ति के सामने अपनी बात खुलकर कहेगा और सभा में चाहे स्टेज पर कहीं भी हो वह अपनी बात को आसानी से कह पाएगा धन्यवाद

#रिश्ते और संबंध

Jyoti Malik Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Jyoti Malik जी का जवाब
Student
1:40
प्रश्न है लड़कियां पहली मेकअप करती है या घमंड देखिए सबसे पहले आपको घमंड की सही परिभाषा जान देनी चाहिए कि घमंड जो होता है जब इंसान के अंदर किसी तरह का विशेष गुण आ जाए या फिर उसे अपने सुंदर होने पर गुरुर हो जाए या फिर उसके साथ उसके पास कोई एक ऐसी कीमती चीज आ जाए जिसका कि उसे ऐसा लगे कि यह मेरे अलावा कोई पा नहीं सकता तो उसे उस चीज का घमंड हो जाता है लेकिन लड़कियों को मेकअप करना बहुत पसंद है उन्हें सजना सवरना बहुत अच्छा लगता है वह कितने तरह के प्रोडक्ट का प्रयोग करते हैं ताकि वह अपने आप को सुंदर दिखा सके लेकिन जो प्राकृतिक रूप से सुंदर होती है शायद ऐसा हो सकता है कि उन्हें इस चीज का गुरूर हो सकता है कि हां हम प्राकृतिक रूप से बहुत सुंदर हैं हमें मेकअप की आवश्यकता नहीं है तो ऐसी लड़कियों को शायद घमंड हो सकता है लेकिन जरूरी नहीं है कि लड़कियां मेकअप सिर्फ घमंड के लिए करती हैं या फिर कमेंट करके कि मैं बहुत सुंदर हूं और बहुत ज्यादा सुंदर दिख सकती हूं और मेकअप करती है जो दोनों बातें हैं यह एक दूसरे से बिल्कुल भी मैच नहीं होती क्योंकि पांचों उंगलियां एक समान नहीं होती है और लड़कियां मेकअप इसलिए भी करती हैं क्योंकि उन्हें चीज करने में खुशी मिलती है वह किसी को दिखाने के लिए या फिर किसी को आकर्षित करने के लिए ऐसा नहीं करती है तो इसे घमंड कहना बिल्कुल गलत होगा धन्यवाद

#टेक्नोलॉजी

Jyoti Malik Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Jyoti Malik जी का जवाब
Student
0:58
प्रश्न है क्या व्हाट्सएप का डाक मोड सुरक्षित है तीखी जो व्हाट्सएप कंपनी है व्हाट्सएप ऐप जिसने भी बनाया है वह इस बात का दावा करते हैं कि यह हमारी आंखों के लिए बिल्कुल सुरक्षित है इसी वजह से ने डिजाइन किया गया था ताकि हमारी आंखों पर इस चीज का असर ना पड़े अगर हम चैट पढ़ रहे हैं या फिर कोई सौदा इंपॉर्टेंट मेल पढ़ रहे हैं तो हम उसे आसानी से पढ़ सके और हमारी आंखें स्क्रीन से ना हटे और उन्हें किसी तरह का नुकसान ना हो इस कलर को भी इसी तरह से डिजाइन किया गया है ताकि आपकी आंखें बिल्कुल सुरक्षित रहें यह डाक मोड़ ऑफ सेटिंग में जाकर चार्ट टीम में जाकर आप इसे दांत मोड़ में कर सकते हैं और अपने व्हाट्सएप को अच्छे से और भी आसान तरीके से चला सकते हो और आप इसे अंधेरे में भी प्रयोग कर सकते हैं और इसका आपकी आंखों पर नुकसान नहीं होगा धन्यवाद

#टेक्नोलॉजी

Jyoti Malik Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Jyoti Malik जी का जवाब
Student
1:27
प्रश्न है मोबाइल का अंधेरे में उपयोग करना क्यों सही नहीं है और उसे उपयोग क्यों नहीं करना चाहिए देखिए जो मोबाइल की रेडिएशंस होती है वह हमारी आंखों पर बहुत असर डालती हैं और इसके साथ ही जो जब हम अंधेरे में मोबाइल का प्रयोग करते हैं तो उसमें से जब वह ब्लूलाइट निकलती है तो वह हमारी आंखों पर असर डालती है वैज्ञानिक भी इस बात को मानते हैं क्योंकि उन्होंने इस बात को खुद आजमाया है कि आंखों की कोशिकाओं पर इसका बहुत बुरा असर डालता है और तभी उन्होंने भी आगाह किया है कि हमें कभी भी अंधेरे में मोबाइल का प्रयोग नहीं करना चाहिए अगर वैज्ञानिक तौर से मैं आपको बताऊं हम पूरा दिन सूरज की रोशनी में निकालते हैं कि हमें मोबाइल की रोशनी देखने की इतनी आदत नहीं होती और ऐसे में जब हम अंधेरे में मोबाइल का प्रयोग करते हैं तो वह हमारी आंखों को और भी नुकसान पहुंचाता है और हमारी आंख और भी कमजोर बना देता है जिससे कि हमें धुंधलापन जैसी बीमारी भी हो सकती है तो इसी वजह से कहा जाता है कि जो इतनी ब्लूलाइट और इतनी बुरी जो रोशनी है वह हमारी आंखों को नुकसान ना पहुंचाएं इसलिए मोबाइल को अंधेरे में उपयोग करने से जितना हो सके उतना बचा जाए इसीलिए हमें कहा जाता है कि मोबाइल का धीरे में प्रयोग नहीं करना चाहिए धन्यवाद

#टेक्नोलॉजी

Jyoti Malik Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Jyoti Malik जी का जवाब
Student
1:16
प्रश्न है कुछ बुजुर्ग हमेशा दूसरों को उनके कर्तव्य का ही ज्ञान क्यों कराते हैं जबकि उन्हें खुद के पता नहीं होते देखिए जो बुजुर्ग होते हैं यानी कि वह अपनी पूरी जिंदगी अच्छी तरह जीत चुके हैं यानी कि उन्हें बहुत सारे अनुभव हुए हैं कभी ना कभी उन्हें भी इन कर्तव्य के बारे में किसी ना किसी ने ज्ञात करवाया होगा और उन्हें एहसास करवाया होगा और वह यह चाहते हैं कि जो चीजें वह ना सीख पाए और जो कर्तव्य को पालन ना कर पाए हो उनका पालन आप तो कर ही सकते हैं हम तो इस सोच और विचार की वजह से वह आपको केवल सुझाव देते हैं और आपको आपके कर्तव्य उनका ज्ञान कराते हैं देखिए जरूरी नहीं है कि अगर व्यक्ति अपने जीवन में वह कार्य करें तो ही वह सलाह दे सकता है कहां पर हो बाहर जो उनका अनुभव होता है वह भी आपको बता सकते हैं या फिर आप उनसे कभी पूछ कर देखना उन्होंने भी अपने जीवन में काफी गलती किए होंगी और काफी कर्तव्य का पालन नहीं भी किया होगा लेकिन वह चाहते हैं कि ऐसी गलतियां आपसे ना हो और यही वजह होती है कि वह आपको इन चीजों का ज्ञान देते हैं धन्यवाद

#स्वास्थ्य और योग

Jyoti Malik Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Jyoti Malik जी का जवाब
Student
1:16
प्रश्न है दुनिया में ऐसा कौन सा जानवर है जो पानी पीते ही मर जाता है देखिए पाने के बिना हमें अपनी तो जिंदगी है वह असंभव से लगती है ऐसे में हम इस बात की कल्पना भी नहीं कर सकती कि क्या कोई ऐसा जानवर हो सकता है जो बिना पानी के रह सकता हो क्योंकि हमें दिन में 3 से 4 लीटर पानी की जरूरत तो बिल्कुल साधारण सी बात है पड़ती पड़ती है ऐसे में हर व्यक्ति के मन में यह अभिलाषा तो होती ही होगी कि दुनिया में ऐसा कोई जानवर है जो पानी पीते ही मर जाता है देखिए अगर काफी लोगों के मन में यह आ रहा है कि वह उठ हो सकता है जी हां झूठ है वह 6 से 7 महीने तक बिना पानी के रह सकता है लेकिन ऐसा नहीं है कि अगर वह पानी पिएगा मर जाएगा इसका सही उत्तर है कंगारू राइट वह जिंदगी में एक ही बार पानी पीता है और कहा जाता है कि उसके पानी पीने से ही उसका मौत का कारण बन सकता है और मैं पानी के बिना ही जिंदा रहता है अगर वह पानी पीता है तो उसकी मृत्यु हो जाती है जो कंगारू डाइट के बारे में कहा जाता है और वह कंगारू जैसा दिखता है उछलता है जिसकी वजह से उसका नाम कंगारू रैट पड़ा धन्यवाद

#स्वास्थ्य और योग

Jyoti Malik Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Jyoti Malik जी का जवाब
Student
1:05
प्रश्न है समझदार होने के लिए कुछ सुझाव क्या है देखिए कोई भी समझदार व्यक्ति जो है सबसे पहले अपने हर निर्णय बड़े ही सोच विचार के लेता है और वह कभी भी दूसरों को भी चला देता है वह भी बड़े सोच विचार के उसे पता होता है कि मुझे कब किस के सामने क्या बात करनी है इसके अलावा उसे पता होता है कि उसे कैसे बचत करनी है और कहां खर्चा करना है और बजट अपना कैसे चलाना है वह बेफिजूल की खर्ची कभी नहीं करेगा जो एक समझदार व्यक्ति होगा उसे किसी भी तरह की कोई भी जिम्मेदारी जब दी जाती है वह अच्छी तरीके से निभाता है उसमें कोई गलती नहीं करता वैसे तो कहते हैं कि इंसान जो है गलतियों का पुतला होता है लेकिन फिर भी जो एक समझदार व्यक्ति होगा उसे पता होता है कि मुझे कम से कम गलतियां करनी है और मैं अपनी जिम्मेदारी को अच्छे से निभाओ यह एक समझदार व्यक्ति के गुण होते हैं जो अगर आप में हैं तो आप भी समझदार व्यक्ति अपने आप को कह सकते हो धन्यवाद

#धर्म और ज्योतिषी

Jyoti Malik Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Jyoti Malik जी का जवाब
Student
1:24
प्रश्न है कि आखिर क्यों सबको आत्मज्ञान प्राप्त नहीं होता दिखे आत्मज्ञान कोई वस्तु नहीं है जिसे प्राप्त किया जा सके आत्मज्ञान कोई पद भी नहीं है जिसे प्राप्त करने के लिए संघर्ष करना पड़े आत्म ज्ञान देने के लिए कहीं किसी स्थान पर कोई शरीर धारी देवी देवता या गुरु बैठा भी नहीं है क्योंकि आत्मज्ञान कोई माया नहीं है ना ही कोई मंदिर का प्रसाद है जिसे आप नहीं जानते प्रभु हर समय हर काल में 1 रन स्थिर है वह आप ही हो जिससे आत्मा कहा जाता है पर आप भूल बैठते हो देखे श्री कृष्ण अर्जुन को यही तो समझाया था कि आत्मा से बड़ा आश्चर्य संसार में कोई दूसरा नहीं ना ही उस से बढ़कर कोई गुरु है पर लोग उसकी ओर एक कदम बढ़ाना भी नहीं चाहते बस लगे पड़े हैं किसी को भी बाबा दादा भगवान मानकर उसके आगे माथा टेकते हैं आत्मज्ञान पानी के लिए किया जाने वाला हर करम हर समाधि हर प्रकार का ध्यान में धारणा मात्र हमें अहंकार वासना भावना बुद्धिमान में शरीर में बनता है किसी भी कर्म को करके आप आत्मज्ञान ही नहीं हो सकती आत्मज्ञानी बनना है तो सर्वप्रथम तो स्वयं को पहचानने का आपको प्रयास करना चाहिए दिखी जरूरी है कि हम अपने आप को कैसे जान सकते हैं देखिए योग साधना ध्यान अगर हम सचमुच दिल से करेंगे तो हमें आत्मज्ञान की प्राप्ति हो सकती हैं धन्यवाद

#फिल्में

Jyoti Malik Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Jyoti Malik जी का जवाब
Student
0:50
प्रश्न है कि भारत की सबसे पहली मूवी का नाम क्या है दिखे भारतीय फिल्म इंडस्ट्री का इतिहास 100 साल से भी पुराना हो चुका है ऐसे में भारतीय फिल्मों में काफी उतार-चढ़ाव हमें देखने को मिले हैं अगर बात करें भारत की सबसे पहली मूवी की भारत की सबसे पहली फिल्म राजा हरिश्चंद्र थी जो साल 1913 में बनाई गई थी इस फिल्म को बनाने का श्रेय दादा साहब फाल्के को दिया गया था दादा साहब फाल्के का जन्म 30 अप्रैल 18 से 70 को तथा मृत्यु 16 फरवरी 1944 को हुई थी फाल्के ने अपने जीवन काल में 95 फीचर फिल्म और 27 शॉर्ट मूवी बनाई थी पालकी फिल्म प्रड्यूसर होने के साथ-साथ डायरेक्टर 3 राइटर भी थे भारतीय सिनेमा में अपने बिल का योगदान के लिए ने भारतीय सिनेमा का पिता भी माना जाता है धन्यवाद

#खाना खज़ाना

Jyoti Malik Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Jyoti Malik जी का जवाब
Student
2:48
प्रश्न है आसान तरीके से लौकी का स्वादिष्ट हलवा कैसे बनाएं दी कि उसके लिए सबसे पहले आपको लो कि चीनी मावा फुल क्रीम दूध की काजू बादाम इलायची अगर आप उसको थोड़ा सा ही बनाना चाहते हैं तो आप काजू बदाम इलायची का प्रयोग कर सकते हैं अन्यथा आप इसे अब रहने भी दे सकते हैं लेकिन जो अनिवार्य चीज है अलौकिक चीनी मावा और फुल क्रीम दूध और घी यह तो होना ही चाहिए हलवा बनाने के लिए लौकी को धो कर ले लीजिए और ठंडल को काटकर हटा दीजिए लौकी को 3 या 4 इंच के बड़े टुकड़े में काट कर चारों तरफ से कद्दूकस कर लीजिए इसके बाद नर्म भाग और बीच को हटा दीजिए काजू और बादाम को छोटे-छोटे टुकड़ों में काटकर तैयार कर लीजिए और इलाइची को छील कर इसके बीजों का पाउडर बना लें 10 को गैस पर गरम करती थी और लौकी को पैन में पकने के लिए डाल दीजिए और दूध को डाल कर अच्छे से मिला दीजिए 10 को ढक कर लो कि को तीन से 4 मिनट तक धीमी आंच शराब पकने दीजिये लौकी को चेक कीजिए लौकी हल्की सी नरम हो जाए अगर लौकी में दूध दिख रहा है तो गैस की आज को तेज कर के दूध के खत्म होने पर लौकी को एक से 2 मिनट चलाते हुए पकाएं लौकी में दूध जब खत्म हो जाए तो लौकी में चीनी डालकर मिला लीजिए हलवे में चीनी के पूरी तरह गुल्ले तक और उसका दूध खत्म होने तक इसे पका लीजिए हलवे को हर 1 मिनट में चलाते हुए पकाएं जिससे कि यह पैन के तले पर ना लगे अब एक दूसरे पैर में मामा को भूनकर तैयार कर ली थी इसके लिए पैन में क्रम्बल किया हुआ मावा डाल दीजिए जय भीम यो मीडियम रखे और मामा को लगातार चलाते हो हल्का सा कलर बदलने में तक उसे पकाएं मावा के कलर बदलने और उसमें घी निकालने पर मामा बनकर तैयार है इसे प्याले में निकाल दीजिए लौकी में बहुत कंजूस बस जाने पर इसमें की डाल दी जो लगातार चलाते हुए दो-तीन मिनट तक अच्छे से भून लीजिए लौकी के भूल जाने पर इतने भुना हुआ मावा काट कर रखे हुए काजू बदाम अगर आपने इस्तेमाल में ला सकते हैं तू और उसे भी एक-दो मिनट तक अच्छे से बकाया हलवे को लगातार चलाते हुए धीमी आंच पर 3 से 4 मिनट के लिए पकने दीजिये और फिर आपका जो हलवा है वह खाने लायक बन जाएगा ऐसी आप 2 मिनट में बहुत आसानी से यह बात सुनकर अपने लोगों को और अधिक स्वादिष्ट बना सकते हैं मेरे कुछ सुझाव है अगर आप उनको सुनेंगे तो आप का हलवा जो है और भी स्वादिष्ट बन सकता है हलवा बनाते समय से लगातार चलाते रहे जिससे आप का हलवा चले से चिपक कर चले नहीं हलवे को पूरी तरह से ठंडा होने पर फ्रिज में रख दीजिए और 1 हफ्ते तक आपका जब मन हो तो फिर से निकाल कर खा सकते हैं लौकी का हलवा बनाने से पहले एक बार लोगी को टेस्ट जरूर कर लीजिए क्योंकि कभी-कभी लौकी कड़वी निकल जाती है जिससे आप का हलवा जो है कड़वा हो जाता है धन्यवाद

#स्वास्थ्य और योग

Jyoti Malik Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Jyoti Malik जी का जवाब
Student
1:37
प्रश्न है कि ब्राउन शुगर के इस्तेमाल में क्या फायदे हैं इसका उपयोग इतना क्यों बढ़ रहा है दिखे ब्राउन शुगर वास्तव में गुड़ का ही एक शुद्ध रूप होता है वास्तव में यह गुण और शक्कर के बीच का एक रूप है जिसे पगार केमिकल के तैयार किया जाता है कि अधिकतर लोग मीठा खाने के शौकीन होते हैं ऐसे में वह अधिक से अधिक पकवान जो मीठे खा लेते हैं यह भी एक सच्चाई है कि चीनी का इस्तेमाल भी नुकसान दे है क्योंकि चीनी में बहुत अधिक मात्रा में कैलरी होती हैं ऐसे में यदि हमारी दिनचर्या बहुत अधिक शारीरिक मेहनत करने वाली नहीं है तो चीनी शरीर को नुकसान भी पहुंचा सकती है ऐसे में इन दिनों सामान्य शक्कर के स्थान पर ब्राउन शुगर का इस्तेमाल बढ़ता जा रहा है चीनी गुड़ आदि गन्ने से तैयार किए जाते हैं लेकिन चीनी मिलों में जब चक्कर तैयार हो जाती है तो उसे साफ करने और ज्यादा मिठास पाने के लिए कई प्रकार की केमिकल्स मिलाए जाते हैं चूंकि गुड प्राकृतिक रूप है लेकिन केमिकल डालकर जब और अधिक मिठास वाले तत्व कसरत करते हैं तो शक्कर में मिठास बढ़ती है इसी कारण चक्कर में कैलरी की मात्रा भी बढ़ जाती है वहीं इस में उपयोग किए जाने वाले केमिकल से साइड इफेक्ट का खतरा होता है वहीं दूसरी तरफ ब्राउन शुगर में गुड़ का ही एक शुद्ध रूप होता है वास्तव में यह गुण और शक्कर के बीच का एक रूप है जिसे बगैर केमिकल्स के तैयार किया जाता है और सेहत के लिए फायदेमंद होता है इसमें बहुत सारे पोषक तत्व होते हैं इसके अंदर आयरन कैल्शियम पोटेशियम जिनको पर विटामिन बी के साथ था और काफी तत्व होते हैं जो सेहत के लिए अच्छे होते हैं इसीलिए इसका उपयोग आज के समय में ज्यादा बढ़ रहा है धन्यवाद

#रिश्ते और संबंध

Jyoti Malik Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Jyoti Malik जी का जवाब
Student
1:20
प्रश्न है कि शादी में पार्टी में जाने से पहले चेहरे पर ऐसी कौन सी क्रीम लगाएं कि चेहरा चमकेगा देखिए ग्रोइंग त्वचा तो हर कोई चाहता है लेकिन सारा तामझाम कोई नहीं चाहता कि सबसे पहले यह लगाए हैं वह लगाएं तो कुछ लोग जो सीधे साधे सिंपल तरीके से भी चमकदार बन सकते हैं और अपने चेहरे पर एक अच्छा सा ग्लो ला सकते हैं अगर आपके मन में यह सवाल आता है कि चेहरे के लिए सबसे अच्छी क्रीम कौन सी है जो चेहरे को चमका सकती है तू मेरा जवाब होगा ओलय व्हाइट रेडियंस एडवांस क्रीम ऐसा इसलिए क्योंकि ब्रांड के ब्यूटी प्रोडक्ट पर आज लोगों को काफी विश्वास होता जा रहा है और यही वजह है कि इसके प्रोडक्ट आज तेजी से लोकप्रिय भी हो रहे हैं सुंदरता में निखार लाने के हिसाब से क्रीम अच्छी और असरदार मानी जाती है हम आपकी त्वचा को सूरज की हानिकारक किरणों यानी अल्ट्रावायलेट रेस से बचाने के लिए क्रीम बहुत अच्छी होती है और आपके चेहरे अगर कोई कील मुंहासे है दाग धब्बे हैं तो उनको भी कवर करने में और आपके चेहरे को चमकदार बनाने में अगर आप किसी शादी में जा रहे हैं पार्टी में जा रहे हैं उससे पहले अगर आप यह ओले व्हाइट रेडियंस की क्रीम लगाते हैं तो आपके चेहरे पर अच्छा असर होगा और आपका चेहरा चमकदार होगा धन्यवाद

#टेक्नोलॉजी

bolkar speakerसंपर्क बल किसे कहते हैं?
Jyoti Malik Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Jyoti Malik जी का जवाब
Student
0:37
प्रश्न है कि संपर्क बल किसे कहते हैं पीशिएबल तभी लगाया जा सकता है जब पेशियों किसी वस्तु के संपर्क में हो इसलिए इसे संपर्क बल भी कहते हैं यह दो तरह का होता है पीशिएबल और दर्शन पर हमारी मांसपेशियों की क्रिया स्वरूप लगने वाले बल को पीशिएबल कहते हैं और घर्षण बल जो संपर्क बल का दूसरा प्रकार है ऐसा बल जो गति की विपरीत दिशा में कार्य कर रहा है और उसकी गति कम कर रहा है उसे घर्षण बल कहते हैं तू यह जो दो प्रकार हैं यह संपर्क बल के धन्यवाद

#टेक्नोलॉजी

Jyoti Malik Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Jyoti Malik जी का जवाब
Student
1:56
प्रश्न है कि क्या हम फेसबुक आपकी व्हाट्सएप चैट पढ़ लेगा दिखे व्हाट्सएप ने अपनी प्राइवेसी पॉलिसी टर्म्स ऑफ़ सर्विस अपडेट कर दी है बदलाव को लेकर यूजर्स को नोटिफिकेशन भेजे जा रहे हैं इनको प्राप्त करने के लिए लोगों के पास 8 फरवरी तक का टाइम है आप व्हाट्सएप नहीं चलता अपनी भी दी है कि अगर आप नहीं पॉलिसी को साफ नहीं करते हैं तो आपका अकाउंट डिलीट हो जाएगा स्टैंडर्ड प्रैक्टिस है लेकिन इस पॉलिसी में कई ऐसी बातें हैं जिन पर गौर करना चाहिए कि व्हाट्सएप और फेसबुक के कंट्रोल में हो रही है कंपनी अपनी सारी प्रॉपर्टीज को एक दूसरे से जोड़ने में लगी है अभी कुछ वक्त पहले का फेसबुक मैसेंजर इंस्टाग्राम डायरेक्ट मैसेज का आपसी मिला इसी का नतीजा है अब व्हाट्सएप यूजर का डाटा भी फेसबुक इंस्टाग्राम जैसे कंपनी के दूसरे प्रोडक्ट के साथ शेयर किया जाएगा नई पॉलिसी में इस बारे में भी जानकारी है कि व्हाट्सएप कैसे यूजर्स के डाटा को प्रशस्त करता और कैसे व्हाट्सएप बिजनेस फेसबुक की सर्विस इसको इस्तेमाल करने वाली अपनी चैट को शोर करता है व्हाट्सएप की पुरानी प्राइवेसी पॉलिसी में आपके पास यह शादी थी कि आप अपने व्हाट्सएप अकाउंट की जानकारी को फेसबुक के साथ साझा होने से रोक सकते थे मगर नई पॉलिसी में इस बात की गुंजाइश बिल्कुल खत्म हो गई है मतलब की व्हाट्सएप वाली जानकारी फेसबुक के पास जाएगी जाएगी आसान शब्दों में यह की व्हाट्सएप की तरफ से फेसबुक के पास क्या जाएगा आपका व्हाट्सएप अकाउंट के स्टेशन की जानकारी जैसे आपको मोबाइल नंबर व्हाट्सएप पेमेंट का इस्तेमाल करके खरीददारी का ब्यौरा आप व्हाट्सएप पर दूसरे लोगों या बिजनेस अकाउंट में किस तरह बातचीत करते हैं आपके मोबाइल फोन से जुड़ी जानकारी जैसे कि आपके फोन का हार्डवेयर मॉडल ऑपरेटिंग सिस्टम बैटरी सेवर मोबाइल नेटवर्क सिगनल टाइम जोंस तभी उनके पास तो होता रहेगा वह हर तरह की जानकारी जो आप व्हाट्सएप पर देते हैं वह उनको मिलती रहेगी धन्यवाद

#पढ़ाई लिखाई

Jyoti Malik Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Jyoti Malik जी का जवाब
Student
1:24
प्रश्न है कि शिक्षक दिवस किसकी याद में मनाया जाता है लिखित जीवन में सफल होने के लिए शिक्षा सबसे ज्यादा जरूरी है शिक्षक देश के भविष्य और युवाओं के जीवन को बनाने और उसे आकार देने के लिए सबसे महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है हम प्राचीन काल से ही गुरुओं का हमारे जीवन में काफी योगदान रहा है गुरु से प्राप्त ज्ञान और मार्गदर्शन से ही हम सफलता के शिखर तक पहुंच सकते हैं शिक्षक दिवस पूरे देश में उत्साह के साथ मनाया जाता है इस दिन शिक्षकों को सम्मानित किया जाता है तो कुछ लोगों के मन में यह आता होगा कि जिस शिक्षक दिवस है वह किसकी याद में मनाया जाता है यह डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्म दिवस के अवसर पर उनकी स्मृति में संपूर्ण भारत में 5 सितंबर को शिक्षा दिवस मनाया जाता है एक महान शिक्षक होने के साथ-साथ स्वतंत्र भारत के पहले उपराष्ट्रपति तथा दूसरे राष्ट्रपति थे गुरु का हर एक के जीवन में महत्वपूर्ण स्थान है और इसलिए का आ गया है कि सर पल्ली राधा कृष्ण एक महान दार्शनिक और शिक्षक भी थे और शिक्षा में उनका काफी लगाव था और उन्हें दूसरों को ज्ञान देना बड़ा ही अच्छा लगता था और यही वजह है कि उन्होंने ही इसे प्रोत्साहन किया है और जिसकी वजह से हम उनकी याद में शिक्षक दिवस मनाते हैं धन्यवाद

#भारत की राजनीती

bolkar speakerबर्ड फ्लू क्या है?
Jyoti Malik Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Jyoti Malik जी का जवाब
Student
1:24
प्रश्न है कि बर्ड फ्लू क्या है कोरोनावायरस के बीच अब भारत के कई राज्यों में बर्ड फ्लू के मामले बढ़ते जा रहे हैं राजस्थान मध्य प्रदेश झारखंड हरियाणा और हिमाचल प्रदेश में इस वायरस को लेकर अलर्ट भी जारी किया गया है देखिए प्रश्न पूछा है कि बर्ड फ्लू होता क्या है बर्ड फ्लू एक वायरल इंफेक्शन है जिसे वेनिया इन्फ्लूएंजा भी कहते हैं एक पक्षी से दूसरे पक्षी में फैलता है बबलू का सबसे जानलेवा ट्रेन s59 मन होता है एच वाई 91 वायरस से संक्रमित पक्षियों की मौत पर हो सकती है यह वायरस संक्रमित पक्षियों से अन्य जानवरों और इंसानों में फैल सकता है और इनमें से भी वायरस इतना ही खतरनाक है इंसानों में बर्ड फ्लू का पहला मामला 1997 में हांगकांग में आया था उस समय के प्रकोप की वजह पोल्ट्री फॉर्म भी संक्रमित मूर्तियों का बताया गया था उनसे स्थान में में बर्ड फ्लू से संक्रमित लगभग 60 फ़ीसदी लोगों की मौत हो गई थी यह बीमारी संक्रमित पक्षी के मल नाक के स्त्राव मुंह की लार या आंखों से निकलने वाले पानी के संपर्क से होता है h51 ब्लड थ्रू इंसानों में होने वाले अपनों की तरह एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में आसानी से नहीं पड़ता एक इंसान से दूसरे इंसान में तभी करता है जब दोनों के बीच बहुत करीबी संपर्क हो धन्यवाद

#टेक्नोलॉजी

Jyoti Malik Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Jyoti Malik जी का जवाब
Student
1:52
प्रश्न है कि व्हाट्सएप कि नहीं प्राइवेसी पॉलिसी क्या है देखी दुनिया भर में जो पॉपुलर ऐप है व्हाट्सएप इसके यूजर्स के लिए जो इसका जिसने बनाया है और नई-नई फीचर लेकर आती रहती हैं इस साल ऐप में कई फीचर्स आने वाले हैं व्हाट्सएप जल्द ही अपनी नई प्राइवेसी पॉलिसी लेकर आने वाला है अगर यूजर्स इस पॉलिसी को एक्सेप्ट नहीं करते हैं तो उन्हें आप डिलीट करना होगा लेकिन व्हाट्सएप यूजर्स को आपकी नई टॉम और प्राइवेसी पॉलिसी को जल्द ही एग्री करना होगा माना जाता है कि अगर आप इस प्राइवेसी पॉलिसी से एग्री नहीं होंगे तो आप व्हाट्सएप का यूज नहीं कर पाएंगे डब्ल्यू ए बैटरी को की माने तो व्हाट्सएप 8 फरवरी 2021 को अपने टर्म्स ऑफ़ सर्विस को अपडेट करने जा रहा है अगर व्हाट्सएप यूजर्स से एग्री नहीं होते हैं तो वह व्हाट्सएप इस्तेमाल ही नहीं कर पाएंगे व्हाट्सएप की नई पॉलिसी में यूजर्स को जो लाइसेंस दिए जा रहे हैं उसमें कहा गया है कि हमारी सेवाओं को संचालित करने के लिए व्हाट्सएप को जो कंटेंट अपलोड्स सबमिट तोड़ देते हैं या फिर प्राप्त करते हैं उनको यूज़ रीप्रोड्यूस डिस्ट्रीब्यूटर डिस्प्ले के लिए दुनिया भर में non-exclusive royalty-free और ट्रांसफर लेबर लाइसेंस दिए जाते हैं हम व्हाट्सएप में यूजर के पास अभी नोट नाउ का ऑप्शन है मतलब अगर यूजर चाहे तो इस एक्सेप्ट ना करें स्थापना करने पर ऐप चलता रहेगा इसके अलावा नई पॉलिसी के तहत में फेसबुक और इंस्टाग्राम का इंटीग्रेशन होगा हालांकि व्हाट्सएप का डाटा पहले भी फेसबुक के साथ साझा हो रहा था लेकिन आप फेसबुक के साथ व्हाट्सएप फॉर इंस्टाग्राम का इंटीग्रेशन पहले से ज्यादा होगा धन्यवाद

#खाना खज़ाना

Jyoti Malik Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Jyoti Malik जी का जवाब
Student
1:20
प्रश्न है कि बेकिंग सोडा और बेकिंग पाउडर में क्या अंतर होता है लेकिन बेकिंग सोडा और बेकिंग पाउडर का इस्तेमाल ज्यादातर घरों में होता है हम सभी को लगता है बेकिंग सोडा और पाउडर एक ही जैसी चीज होती है जबकि ऐसा बिल्कुल भी नहीं है बेकिंग पाउडर सोडा में काफी फर्क होता है दोनों के इस्तेमाल का तरीका भी अलग है पहला अंतर यह है कि बेकिंग सोडा हल्का दर्द का होता है जबकि बेकिंग पाउडर छूने में बहुत चिकना यानी मुलायम सा लगता है बिल्कुल मैं दिया कॉर्नफ्लोर के जैसे दूसरा अंतर बेकिंग सोडा खट्टी कि जैसे दही छाछ नीबू के रस आदि के संपर्क में आने पर ही काम करता है जबकि बेकिंग पाउडर नमी के संपर्क में आते ही काम करने लगता है यानी बेकिंग पाउडर भी तब तक काम नहीं करता जब तक यह पानी के संपर्क में ना आए भटूरा ना नदी के लिए मैदा दही से सही गूंथा जाता है और इसमें बेकिंग सोडा का इस्तेमाल किया जाता है वहीं दूसरी और केक मफिंस और बिक्री वाली चीजों में जो माइक्रो रखी जाती है उसमें बेकिंग पाउडर का ही प्रयोग किया जाता है कि मैदा भूतनी के साथ ड्रिंक बनाने में भी जो है बेकिंग सोडा का इस्तेमाल किया जाता है बेकिंग पाउडर बेकिंग सोडा से बनता है और इसका बेस बेकिंग सोडा से अधिक अधिक होता है धन्यवाद

#स्वास्थ्य और योग

Jyoti Malik Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Jyoti Malik जी का जवाब
Student
1:19
प्रश्न है कि क्या गर्म पानी पीने से हमारी पाचन संस्था सही से काम कर सकती है दरअसल गर्म पानी के कई फायदे हैं खासकर सर्दियों के मौसम में गर्म पानी पीने से आपके शरीर को तरल पदार्थों की पूर्ति के लिए आवश्यक पानी मिल सकता है यहां तक कि इससे पाचन में भी सुधार होता है रक्त संख्या में भी राहत देता है और यहां तक कि सर्दियों में पानी पीने से आपको अधिक आराम भी महसूस होता है डॉक्टरों की माने तो पीने वाला पानी को 120 और 14038 के बीच तापमान पर गर्म करना चाहिए इसमें आप विटामिन सी यूज करने के लिए आप उसमें थोड़ा नींबू भी मिला सकते हैं जो आपके स्वास्थ्य के लिए कारगर होगा और यह सचमुच अगर आपको सर्दी लग गई है या फिर जुखाम हो रहा है तो उन चीजों में भी काफी राहत राहत आपको मिल सकती है गर्म पानी आपके पाचन तंत्र को सक्रिय रखता है जैसे जैसे गर्म पानी आपके पेट और आंतों से गुजरता है वैसे वैसे पाचन अंग बेहतर हाइड्रेट होता है और जमे हुए कचरे को खत्म करने में सक्षम होता है खाना खाने के बाद एक कप गर्म पानी की आदत आपको जरूर डालनी चाहिए ऐसा करने से खाना जो है जल्दी पच जाएगा धन्यवाद

#जीवन शैली

Jyoti Malik Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Jyoti Malik जी का जवाब
Student
1:27
प्रश्न है कि हमें अपने जीवन में हमेशा खुशियों और सुकून पाने के लिए क्या रास्ता अपनाना चाहिए या कौन से रास्ते पर चलना चाहिए देखिए कुछ तरीके हैं जिनको अपनाकर आप खुशी और सुकून भरी जिंदगी पा सकते हैं सबसे जरूरी है कि आप बुरे लोग और बुरे चीजों से हमेशा दूर रहे अपने समय को बिना किसी मतलब के बर्बाद ना करें विवेक मुख्य कारण होता है जिसकी वजह से हम परेशान और दुखी रहते हैं दूसरों पर दोष देने से पहले अपनी गलतियों को सुधारें और नहीं शुरुआत करें लोगों की बात को ना सुनकर अपने दिल की बात सुने यह भी बहुत जरूरी होता है कि हम दूसरों की बातों में आकर अपने निर्णय को गलत भी सिद्ध कर देते हैं देखिए जिस कार्य को करने में आपको खुशी मिलती है यह सब को सुकून मिलता है आपको वही कार्य करने चाहिए आप जितनी भी छोटे हो या बड़े अपने कोशिशों की ता खुद समझना चाहिए लड़ाई झगड़े से बात नहीं बनती अच्छे से किसी भी विषय पर आपको बातचीत करनी चाहिए अपने मन को हमेशा शांत रखना चाहिए और बातों को अच्छे से सुनने पर ही जवाब देना चाहिए दूसरों की बातों और लोगों को देखकर जलन महसूस बिल्कुल भी नहीं करनी चाहिए और अपने क्रोध पर काबू पा सकते हैं अगर आप तो ही आप ही खुशी और सुकून भरी जिंदगी पा सकते हैं धन्यवाद

#जीवन शैली

Jyoti Malik Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Jyoti Malik जी का जवाब
Student
1:06
प्रश्न है भाग्य के भरोसे बैठने वाले इंसानों को क्या-क्या खुद भोगना पड़ता है देखिए कुछ लोग यह सोचते हैं कि वह बिना कुछ करे ही जिंदगी में आगे बढ़ सकते हैं कि वे भाग्य के भरोसे इतने भाग्य पर भरोसा कर बैठते हैं कि वह सोचते हैं कि जो हमारी जिंदगी भी अब हो रहा है वह हमारे भाग्य में लिखा था दिखे कई बार क्या होता है हमारा भागे इतना अच्छा नहीं होता अगर हम उसके खिलाफ कोई मेहनत नहीं करते हैं या फिर उसमें अपना पूरा योगदान नहीं देती है तो भी हम जिंदगी में सफल नहीं हो पाती है और काफी लोग ऐसे होते हैं जो सोचते हैं कि हम अगर सफल नहीं हो रहे हैं तो हमारे भाग्य में कोई ना कोई दोष होगा तो उसका एक कारण वह अपने आप को दे देते हैं उसके बाद कोई मेहनत भी नहीं करती और जिसके बाद वह कभी जिंदगी में सफल नहीं हो पाते लोग उनकी कभी सराहना नहीं करते और वह अपने आप में ही दो रहते हैं क्योंकि वह अपने ही वाक्य को हमेशा दोष देते रहते हैं धन्यवाद

#टेक्नोलॉजी

Jyoti Malik Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Jyoti Malik जी का जवाब
Student
0:47

#खेल कूद

bolkar speakerमैरी क्यूरी की मौत कैसे हुई?
Jyoti Malik Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Jyoti Malik जी का जवाब
Student
0:46

#स्वास्थ्य और योग

Jyoti Malik Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Jyoti Malik जी का जवाब
Student
2:00

#भारत की राजनीती

Jyoti Malik Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Jyoti Malik जी का जवाब
Student
2:16

#टेक्नोलॉजी

Jyoti Malik Bolkar App
Top Speaker,Level 77
सुनिए Jyoti Malik जी का जवाब
Student
2:34
URL copied to clipboard