#टेक्नोलॉजी

Rajendra Malkhat Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Rajendra Malkhat जी का जवाब
Self student
0:41
नमस्कार दोस्तों आपका प्रश्न है किस उपकरण द्वारा यांत्रिक ऊर्जा को विद्युत ऊर्जा में परिवर्तित किया जाता है तो दोस्तों जो उपकरण यांत्रिक ऊर्जा को विद्युत ऊर्जा में परिवर्तित करता है वह होता है डायनेमो डायनेमो की मदद से इन के सहयोग से हम किसी यांत्रिक ऊर्जा को विद्युत ऊर्जा में बदल सकते हैं जैसे कि जो उदाहरण के अनुसार दूध जरनैटर होते हैं वह इसी के उदाहरण होते हैं धन्यवाद

#टेक्नोलॉजी

Rajendra Malkhat Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Rajendra Malkhat जी का जवाब
Self student
1:31
नमस्कार दोस्तों आपका प्रश्न है ज्योतिष की दृष्टि से क्या बता सकते हैं कि दुकान में मालिक को बैठने की सही स्थिति क्या होनी चाहिए तो दोस्तों दुकान में दुकान के मालिक को जो सही बैठने की स्थिति है वह पश्चिम दिशा है 200 दुकानें शोरूम के मालिक को पश्चिम दिशा में बैठना चाहिए ऐसा करने से आय में वृद्धि होती है दोस्तों मालिक या मैनेजर तथा तिजोरी किस जगह के ऊपर कोई भीम नहीं होना चाहिए यह व्यवसाय के लिए वृद्धि के लिए अच्छा नहीं होता है और दोस्तों दुकान में काम करने वाले दुकानदार और कर्मचारी इस बात का ध्यान रखें कि वह दुकान में बैठे तब उनका मुख पूर्व अथवा उत्तर दिशा में हो इस दिशा में मुख करके बैठने से धन लाभ होता है ऐसा करने से ग्राहक का दुकानदार और क्रम आर्यों के मध्य बेहतर संबंध बना रहता है यदि आप की दुकान में दुकानदार एवं कर्मचारी पश्चिम या दक्षिण की ओर मुख करके बैठते हैं तो सामान्यतः धन और कष्ट होता है तू तो इसके साथ ही खुशी भी बातें जान लेते हैं कि दुकान की तिजोरी को पश्चिम या दक्षिण दीवार के सहारे रखना शुभ होता है जिससे उनका मुख उत्तर या पूर्व दिशा की ओर मुख धन्यवाद

#जीवन शैली

Rajendra Malkhat Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Rajendra Malkhat जी का जवाब
Self student
4:58
नमस्कार दोस्तों आपका प्रश्न है आत्मविश्वास बढ़ाने के लिए हमें क्या करना चाहिए एवं आत्मविश्वास के लोगों के गुणों को सूचीबद्ध करें दोस्तों सबसे पहले हमें नकारात्मक विचार को पहचानना चाहिए आपका आत्मविश्वास तब कम होने लगता है जब आपके मन में अजीब अजीब नकारात्मक विचार आने लगते हैं जैसे यह मैं नहीं कर सकता सब मेरे बारे में गलत सोचते हैं ऐसे कई ख्याल आपके दिल और दिमाग को परेशान कर देते हैं इनके अलावा आपके जीवन में ऐसे कई अनुभव होते हैं जिसके कारण आपका आत्मविश्वास कम हो जाता है जैसे किसी भी प्रकार का नजदीकी रिश्ता टूटना बीमार रहना नौकरी छूट जाना ऐसे मामलों में अपने नकारात्मक विचारों सकारात्मक विचारों में बदल दे तो तू उदाहरण के तौर पर जो भी कार्य आपको मुश्किल लगता है उसे पूरा करने का विश्वास सिखाएं और खुद से हमेशा बोले कि आप हर कार्य बेहतर तरीके से कर सकते हैं आई कैन डू इट या आई कैन डू इट हम इसे कर सकते हैं दोस्तों ऐसे लोगों को एक साथ हमें या आपको रहना चाहिए जो आपका आत्मविश्वास बढ़ाने में मदद कर सकते हैं दोस्तों इस तरह आप खुद के लिए अच्छा महसूस करेंगे और नकारात्मक विचारों से लड़ने में मदद मिलेगी इसके अलावा ऐसे लोगों से दूर रहे जिनके जिनके साथ आपको अच्छा महसूस नहीं होता दोस्तों कई लोग जिनमें आत्मविश्वास की कमी होती है उनके लिए किसी भी तरह की प्रशंसा को स्वीकार करना बेहद मुश्किल होता है उन्हें लगता है कि जो उनकी तारीफ कर रहा है उनके बारे में झूठ बोल रहा है इसलिए होता है क्योंकि अपने ऊपर विश्वास नहीं होता हमेशा कुछ भी करते समय अपने किसी भी तरह की प्रशंसा के समय दिल से सामने वाले व्यक्ति का शुक्रिया करें आप इस तरह की प्रशंसा को अपने सकारात्मक गुणों में शामिल कर सकते हैं और उसे अपना सेल्फ कॉन्फिडेंस बढ़ाने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं दोस्तों अपने हुनर को पहचानना चाहिए किसी में भी अपना कोई न कोई हुनर होता है जैसे किसी का गाना गाने का डांस करने का तो कोई किसी के अंदर है पढ़ाई करने का अध्ययन अध्यापन का या कुछ और लेकिन अपने अंदर की खूबियों को बाहर निकाल ले और फिर उसे पूरा करने के लिए मेहनत करें आपने हुनर जिस भी तरह का हो उस पर गर्व महसूस होना चाहिए इससे आपका आत्मविश्वास बढ़ेगा दोस्तों को आत्मविश्वास बढ़ाने के लिए खुद की तुलना कभी भी औरों से नहीं ऐसा करने से आपको जलन ज्यादा होगी और प्रगति कम होगी सिर्फ अपने संघर्ष के बारे में सोचें अपनी मेहनत करते रहे यह तो पता है आपको कि जितनी चाहता आप मेहनत करेंगे संघर्ष करेंगे तो सफलता भी उतनी अच्छाई से और इतनी पकाई से आपको मिले तो अपनी आपने जो गलती एक बार कर चुके होते हैं तो उनसे आप को सीख लेनी चाहिए आत्मविश्वास के लिए अपनी गलतियों से भी सीख लेना बहुत जरूरी होता है आराम से बातचीत करें सामने वाला व्यक्ति हो तो उनकी हर बातों को गौर से सुने नजरों में नजरें मिलाकर और आराम से सुन लेने के बाद में आराम से ही बातें करें चाहे मुद्दा कौनसा भी हो तू तो आप तब विश्वास खो देते हैं जब आपको महसूस होता है कि आपका वजन बहुत बड़ा हुआ है आप सुंदर नहीं है इन सब बातों पर ध्यान देना बेकार है क्योंकि आप जैसे हैं वैसे ही अच्छे लगते हैं लेकिन सेल्फ कॉन्फिडेंस कॉन्फिडेंस बढ़ाने के लिए आप ध्यान रखना आप का ध्यान रखना भी आप ना जरूरी हमेशा अपने बालों को अच्छे से बनाएं अच्छे दिखें अगर वजन बढ़ा हुआ है तो वजन को नियंत्रित करने की कोशिश करें कपड़े कैसे पहने जिसमें आप कॉन्फिडेंट महसूस करते हैं कुछ इस तरह भी आपके अपने सर्च को टिफिन ले कॉन्फिडेंस को बढ़ा सकते हैं दोस्तों जान का विकास भी होना चाहिए आत्मविश्वास बढ़ाने के लिए जितना आ जाता आपके पास ज्ञान होगा आत्मविश्वास उतना ही ज्यादा होगा क्योंकि जब हमें कोई चीज आती नहीं है तो हमें उन पर आत्म विश्वास ही नहीं होता कि क्या पता मैं यह जानता हूं या नहीं जानता हूं तू असली जितना हो सके आप हमेशा सीखते रहिए और किसी भी काम को पर्फेक्ट तरीके से करने की ना सोचे दोस्तों आपको पता ही है आदमी गलतियों का पुतला होता है जैसे भी हो काम शुरू होना चाहिए तो काम शुरू होने के बाद में और काम खुद ब खुद हो जाता है तो यह नहीं सोचा कि काम को बसपा को की बार परफेक्ट कर ही डालूंगा नहीं

#स्वास्थ्य और योग

Rajendra Malkhat Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Rajendra Malkhat जी का जवाब
Self student
0:35
मिस्टर तुमको आपका प्रश्न है क्या रात को दूध पीने से दर्द की समस्या होती है तो दोस्त को दूध पीने से रात को बिल्कुल बलगम की समस्या हो जाती है दूध से बलगम बढ़ने की संभावना होती है हंसी में दूध और दूध से बने उत्पाद खाने में स्वतंत्र है और गले में बलगम इकट्ठा हो जाते हैं इसलिए बेहतर है कि जब तक खांसी ठीक ना हो जाए दूध से दूर ही रहना चाहिए अतः दिन तो रात को भी दूध पीने से बलगम की समस्या हो सकती है

#खाना खज़ाना

Rajendra Malkhat Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Rajendra Malkhat जी का जवाब
Self student
2:56
तो आप का प्रेशर है आसान तरीके से लौकी का स्वादिष्ट हलवा कैसे बनाते हैं दोस्तों आवश्यक सामग्री हमें चाहिए लौकी एक किलोग्राम चीनी डेट कब लेनी तीन सौ ग्राम मोबाइल का पानी ढाई सौ ग्राम और फुल क्रीम दूध एक कप भी एक बटा चार कब यानी 50 ग्राम काजू बादाम 15 इलायची 6672 तो हलवा बनाने के लिए लौकी को धो ले ली दो कर लीजिए और घंटाल को काटकर ताकि लोगों को तीन-चार इंच के बड़े टुकड़ों में काटकर चारों तरफ से कद्दूकस कर लीजिए इसके बीच के नर्म भाग और बीच को हटा दीजिए काजू और बादाम को छोटे टुकड़ों में काटकर तैयार कर लीजिए और इलाइची को छील कर उसके बीच में बीजों का पाउडर बना लीजिए 10 को गैस पर गरम कर दीजिए और लौकी को पहन ने पत्नी के लिए डाल दीजिए और दूध को डाल कर अच्छे से मिला लीजिए बहन को ढक्कन ढक कर लो कि को 3:04 मिनट तक धीमी आंच पर पकने दीजिये लौकी को चेक कीजिए लोग की हल्की सी नरम हो गई होगी अगर लौकी में दूध दिख रहा है तो गैस की आज को तेज कर के दूध के खत्म होने तक लोगी को एक तो मिनट चलाते हुए पकाएं दो तो लो कि में दूध जब खत्म हो जाए तो लो कि में चीनी मिला दें और हाल ही में चीनी के पूरी घुलने तक और इसका जूस खत्म होने तक इसे पका लीजिए फरवरी को हर 1 मिनट में चलाते हुए पकाएं जैसे यह पहन के तले पर न लगे दोस्तों अब एक दूसरे पहले मामा को भूल कर तैयार कर लीजिए इसके लिए पहनने कम क्रंबल किया हुआ मावा डाल दी गैस धीमी और निगम रखें और मामी को लगातार चलाते हुए हल्का सा कलर बदलने तक पका लीजिए भाभी की कलर बदलने और उसमें एक ही निकलने पर बाबा भूल कर तैयार है और इसे प्याले में निकाल ले लो कि मैं बहुत कमजोर मत जाने दो इसमें भी डाल दीजिए और लगातार चलाते हुए दो-तीन मिनट तक अच्छे से खोल दीजिए लौकी के भूल जाने पर इसमें भुना हुआ मावा काट कर रखे हुए काजू बादाम और इलायची पाउडर डालकर सभी चीजों को एक 2 मिनट अच्छे से मिलते हुए मिलाते हुए हलवे को पका लीजिए कुछ तो हलवे को लगातार चलाते हुए धीमी आंच पर 3000 मिनट के लिए पत्नी दीजिए हलवा बन कर तैयार के हलवे को प्याले में निकाल लीजिए और कटे हुए काजू और बादाम से कार्निस कीजिए उसको गरमा गरम नोकिया स्वादिष्ट करमाकर में रॉकी का स्वादिष्ट नलवा बनकर तैयार हो जाएगा जब आपका मन हो इसे खाइए

#स्वास्थ्य और योग

bolkar speakerगंजापन कैसे दूर करें?
Rajendra Malkhat Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Rajendra Malkhat जी का जवाब
Self student
3:13
नमस्कार दोस्तो आपका प्रश्न है गंजापन कैसे दूर करें दोस्तों गंजापन को दूर करने के लिए दोस्तों आइए कुछ उपाय करते हैं जैसे बालों के लिए प्रोटीन का ज्यादा से ज्यादा सेवन करना चाहिए हमारी डाइट में प्रोटीन की मात्रा भरपूर होनी चाहिए कम प्रोटीन की मात्रा की वजह से बाल झड़ जाते हैं इसलिए इसकी मात्रा के लिए चिकन रेसिपीज अंडा डेहरी प्रोडक्ट्स का सेवन करें इसके अलावा अगर आप शाकाहारी है तो आप फलीदार सब्जियों और बादाम का सेवन करें आयरन बालों के लिए हम मिल रहे हैं और आयरन की शरीर में कम मात्रा होने की वजह से भी आपके बाल झड़ सकते हैं आपके शरीर में आयरन का स्तर कम हो जाता है तो आप एनीमिया की शिकार भी हो जाते रेड मीट चिकन ऑफिस में काफी मात्रा में आयरन होता है इसके अलावा हरी सब्जियों में भी काफी मात्रा में आयरन पाया जाता है शाकाहारी लोग मसूर की दाल और पालक खा सकते हैं ब्रोकली ब्रोकली गोभी और ग्रीन सलाद का सेवन भी किया जा सकता है 200 बालों की ग्रोथ के लिए विटामिन सी की भी जरूरत होती है इसके लिए आप ब्लूबेरी प्रोक्लीन अमरूद की भी संतरा पपीता स्ट्रॉबेरी और नीचे आलू खाएं दोस्तों ओमेगा 3 फैटी एसिड शरीर के लिए जरूरी है क्योंकि हमारा शरीर खुद से नहीं बना सकता इसलिए आपको पोस्टिक आहार लेना चाहिए या कई तरह की मछली हमें पाया जाता है यह इसके अलावा शाकाहारी लोग एवोकाडो अखरोट और सीताफल के जरिए इसकी पूर्ति कर सकते हैं दोस्तों कुछ जीवन शैली में भी अपनी बदलाव लाना चाहिए जैसे कि अगर आपको गंजेपन की समस्या तो आपको खाना बनाते समय या खाना खाते समय उसमें बाल गिरने से बचाव करना चाहिए बार-बार अपने बालों को घुमाने रगड़ने या खीचने की आदत से बचें बालों को धीरे-धीरे गुनगुने पानी से धोना चाहिए बालों में कंघी या भ्रष्ट धीरे धीरे करें बालों को डाई कलर जैन आदि का प्रयोग करने से भी बचें अपने बालों को धोने के लिए केमिकल युक्त शैंपू का प्रयोग न करें बालों को प्रतिदिन नहीं तो होना चाहिए बालों को धोने के लिए गर्म पानी का त्याग कर गुनगुने पानी का इस्तेमाल करना चाहिए और बालों में कंघी अब रेस्ट धीरे धीरे करना चाहिए बालों में डाई कलर वचन आदि का प्रयोग करने से बचना चाहिए था बालों को कसकर नहीं भागना चाहिए तू तो एक कारगर उपाय बता रहे हैं मैं ठीक हूं पूरी रात भिगो दीजिये फिर सुबह उसे गाड़ी नहीं में मिलाकर अपने बालों और जड़ों में लगाइए बालों को धो लें इससे रूसी और सिर की त्वचा के विकार समाप्त होने मेथी में निकोटीनिक एसिड और प्रोटीन पाया जाता है जो बालों की जड़ों को पोषण को जाता है और बालों को बढ़ाने में भी मदद करता है तो दोस्तों इस प्रकार से गंजेपन की समस्या है उन्हें उनसे दूर भी किया जा सकता है और उनका बाबू की पाया जा सकता है धन्यवाद

#खेल कूद

Rajendra Malkhat Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Rajendra Malkhat जी का जवाब
Self student
0:40
नमस्कार दोस्तों आपका प्रश्न है मकर संक्रांति का त्योहार भारत के विभिन्न भागों में किन-किन नामों से जाना जाता है मकर सक्रांति का जो बीमार है वह उत्तर भारत में इसे मकर सक्रांति कहा जाता है वहीं तमिलनाडु में इसे पोंगल के नाम से जाना जाता है असम में इसे माघ बिहू और गुजरात में चित्रण कहते हैं पंजाब और हरियाणा में से इस समय नई फसल का स्वागत किया जाता है वह लोहड़ी पर्व मनाया जाता है तो उसके अलग-अलग स्थानों में इसके अलग-अलग नाम दिए जाते हैं

#अंतर्राष्ट्रीय

Rajendra Malkhat Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Rajendra Malkhat जी का जवाब
Self student
1:11
उनका दोस्तों आप का प्रेस है ताजमहल बनाने के लिए शाहजहां ने कितने पैसे खर्च किए थे दोस्तों मुगल वास्तुकला का सर्वश्रेष्ठ उदाहरण ताजमहल 1653 में बनकर तैयार हुआ था एक आकलन के अनुसार उस समय इसकी लागत लगभग ₹3200000 आई थी जो अभी अनुमानित रूप से 52800 करोड रुपए के बराबर है ताजमहल पर पारसी और इस्लामिक कलाकार अच्छा खासा असर देखने को मिलता है बेहतरीन कलाकारी के लिए 1983 में से यूनेस्को वर्ल्ड हेरीटेज स्थल के रूप में मान्यता दी गई थी दोस्तों ऐतिहासिक स्थलों और इमारतों की वैल्यू ताई करने का वैसे तो कोई स्टैंडर्ड नहीं है लेकिन फ्लेक्शन एडजेस्टेड वैल्यू को ध्यान में रखते हुए माना जाता है कि अगर इस समय इसका निर्माण किया जाए तो उसके लिए किसी शाहजहां को लगभग 7000 करोड रुपए खर्च क्योंकि आज शानदार सड़कों की वजह से पहले की तुलना में बुलाई और लोगों की आवाजाही का खर्च काफी कम हो गया है धन्यवाद

#रिश्ते और संबंध

Rajendra Malkhat Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Rajendra Malkhat जी का जवाब
Self student
4:12
पुष्कर दोस्तों आपका प्रश्न है शादी पार्टी में जाने से पहले चेहरे पर ऐसी कौन सी क्रीम लगाएं कि चेहरा चमकेगा तो दोस्तों ऐसी कुछ क्रीम है जिसको लगाने के बाद आप चाय पार्टी में जाओ चाहे गर्मी हो या सर्दी हो तो ऐसी कुछ क्रीम से हैं जिनको लगाने से चेहरा साफ हो जाएगा और चमकदार हो जाएगा तू तो सबसे पहले निविया सॉफ्ट लाइट मॉइश्चराइजर सोशल मीडिया के बाद अपनी गुणवत्ता और शानदार खुशबू के लिए जाने जाते हैं उसके दिल्ली फेस क्रीम लाइटवेट है इसमें मौजूद है जो गुफा ऑयल व विटामिन ए तो चाकू मुलायम और चमकदार बना सकते हैं तो यह त्वचा में नमी बनाए रख सकती है इसके गुण है आसानी से बाजार में और ऑनलाइन भी उपलब्ध अन्य क्रीम के मुकाबले बजट में यह अंकित बच्चा के लिए फायदेमंद होती है और त्वचा को बिना चिपचिपा बनाई दे सकती है हरि गिरि क्रीम है तो उसको लक्मे एब्सलूट परफेक्ट रेडियंस डे क्रीम विद संस्कृत में इकलौता ऐसा भारतीय ब्रांड है जिसने विदेशों में भी विश्वसनीयता हासिल की है इसकी यह क्रीम चेहरे को नमी और पोषण देने में कारगर हो सकती है या बेस्ट क्रीम फॉर हो सकती है क्योंकि यह सूर्य की हानिकारक किरणों से सुरक्षा देने का वादा करती है दोस्तों इनके गुणों में उज्जवल और चमकदार होता तो बच्चा दे सकते हैं यह क्रीम और त्वचा की टोन को हल्का कर सकती है माइक्रोक्रिस्टल से तैयार की जाती है और यह मौसेरा एजिंग क्रीम अल्ट्रालाइट है तथा में जल्दी से सूचित हो सकती है और दोस्तों अगली सुप्रीम है नहीं किया करें चेहरे के लिए सबसे अच्छी क्रीम है और अगर आपकी त्वचा रूखी भी है तो नीविया क्रीम बेस्ट फेस क्रीम के तौर पर सही सोच हो सकती है कि लो दोस्तों हिमालया हर्बल रिवाइटलाइजिंग रिवाइटलाइजिंग नाइट क्रीम रात में भी आपकी त्वचा को नमी व सुरक्षा चाहिए इसलिए एक सबसे अच्छी नाइट करें आप की पहली जरूरत हो सकती है इस मामले में हिमालया हर्बल रिवाइटलाइजिंग नाइट क्रीम बेहतर हो सकती है इसमें नींबू टमाटर बाय व्हाइट लिली जैसे प्राकृतिक तत्व मौजूद होते हैं बरेली में एंटी ऑक्सीडेंट तत्व पाए जाते हैं जो फ्री रेडिकल्स को बेअसर करने में मदद कर सकते हैं उसके लो दोस्तों वाउ स्किन साइंस एंटी एजिंग नाइट क्रीम है और बायोटीक एडवांस्ड आयुर्वेद आयुर्वेद जब युद्ध नरसिंह नाइट क्रीम है जो कि आपके लिए बहुत फायदेमंद हो सकती है इसके अलावा लोटस हर्बल व्हाइट ग्लो स्किन व्हाइटनिंग एंड ब्राइटनिंग जेल क्रीम भी आपके लिए फायदेमंद हो सकती है या फिर हिमालया हर्बल नवनीत सिंह स्किन क्रीम यह भी काफी अच्छी साबित हो सकती है इसके अलावा ग्लो एंड लवली एडवांस्ड मल्टीविटामिन दिल्ली फेयरनेस एक्सपर्ट और लोग जलते रिस्क इन परफेक्ट 30 प्लस एंड टी फाइनेंस के दोस्तों यह जो क्रीम है इस क्रीम को अपने गाने से पता है रात में हो लाइट की कोई पार्टी हो या फिर दिन की हो सर्दी हो गर्मी हो तो इनको लगाने से आपको चेहरा चमकदार सुंदर और बहुत ही गोरा दिखेगा जिससे कि आपको बहुत ही ज्यादा अच्छा अनुभव महसूस होगा

#खाना खज़ाना

Rajendra Malkhat Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Rajendra Malkhat जी का जवाब
Self student
0:39
कर दोस्तों आपका प्रश्न है ऐसा कौन सा फल है जो मीठा होने के बावजूद बाजार में नहीं बिकता दोस्तों यह तो आपने कहानी जो कि पहले की कहावत चौकी पहले की तरह पूछी है उन्हें सब्र का फल दोस्तों को धीरज का एरिया का फल होता है सब्र का फल होता है वह मीठा माना जाता है लेकिन वह हर किसी बाजार में बिकता नहीं है यानी कि उसे अच्छे व्यवहार से पैदा किया जा सकता है लेकिन वह बाजार में किसी दुकान पर नहीं मिल सकता तो कैसा फल होता है सब्र का फल धन्यवाद

#स्वास्थ्य और योग

Rajendra Malkhat Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Rajendra Malkhat जी का जवाब
Self student
1:12
दोस्तों आपका प्रश्न है चवनप्राश के सेवन से क्या लाभ है दोस्तों चवनप्राश में आयुर्वेदिक औषधियां होती है जो हमारे शरीर को कई तरह से फायदा पहुंचाती है और यही वजह है कि आजकल डॉक्टर भी लोगों को चवनप्राश खाने की सलाह देते हैं दोस्तों ऐसे में चवनप्राश को एक चम्मच शहद एक चम्मच चवनप्राश गुनगुने पानी या दूध के साथ ले सकते हैं क्योंकि इसके कई सारे फायदे होते हैं जैसे की इम्युनिटी बढ़ाता है सांस की बीमारियों के लिए फायदेमंद होता है सर्दी और जुकाम के लिए भी काफी अच्छा है दोस्तों अगर आप चमनपरास खाते हैं तो आप का पाचन अच्छा रहता है साथ ही यह आपके बदन को भी कम करता हूं उसके अलावा आप के खून को साफ करके शरीर से जो विषाक्त पदार्थ होते हैं उनको बाहर निकालता है अगर आपको बीपी की समस्या है तो ऐसे में इसके सेवन से आपको फायदा होगा क्या पर रक्तचाप सामान्य करता है और कोलेस्ट्रॉल को नार्मल करता है तो इस प्रकार से चमनप्राश का सेवन हमारे लिए बहुत ही ज्यादा लाभकारी है धन्यवाद

#स्वास्थ्य और योग

Rajendra Malkhat Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Rajendra Malkhat जी का जवाब
Self student
0:55
नमस्कार दोस्तों आपका प्रश्न है गर्मी के मौसम में उत्तरी मैदानों में बहने वाली गर्म एवं सुशील पवन को क्या कहते हैं दोस्तों गर्मी के मौसम में जो उत्तरी मैदानों में बहने वाली गर्म हवाएं है सूसू करके जो बहने वाली हवा होती है तो उन्हें लू कहा जाता है जो कि बहुत ही ज्यादा गर्म हवा होती है और जो कि खेतों में भी और इंसानों को भी बहुत ज्यादा हानि पहुंचाती है और उसे है शादी हो सकता है और गर्म लू चलने से गर्म हवा चलने से फसलें भी नष्ट हो जाती हैं बहुत ही ज्यादा गर्मी पड़ती है तो बोलिए की होती है

#स्वास्थ्य और योग

Rajendra Malkhat Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Rajendra Malkhat जी का जवाब
Self student
2:26
कटु तो आप का प्रेस नहीं कि घर में बरकत क्यों नहीं होती इसकी क्या वजह तो तो कई बार लोग ऐसा महसूस करते हैं कि काफी परिश्रम और प्रयत्न के बाद भी धन नहीं मिलता या मनचाही सफलता नहीं मिलती कभी मेहनत के अनुसार आपको पैसे नहीं मिलते तो कभी मनमाफिक नौकरी नहीं मिलती है व्यापारी तो है व्यापार में बरकत नहीं है दोस्तों इस प्रकार की कई समस्याओं का सामना आपको करना पड़ता होगा कई बार लोग ऐसा महसूस करते हैं कि काफी परिश्रम और पर्यटन के बाद भी चैन नहीं मिलता तो दोस्तों यह सब बातें हैं बरकत की कहने की घर में बरकत ने दोस्तों दरअसल इन सब परेशानियों के कारण आपके खुद के घर में ही छिपे होते हैं आप और हम जाने-अनजाने में ऐसी गलतियां कर बैठते हैं जो व्यक्ति छोटी ही तो है पर उनका असर बहुत बड़ा होता है दोस्तों आपको दिशाओं का भी ध्यान रखना चाहिए हमारी जिंदगी और ग्रह और दिशाओं का भी बहुत फर्क पड़ता है अनुकूल और प्रतिकूल दोनों तरह के प्रभाव डालते हैं इसलिए कभी भी दक्षिण दिशा में पैर करके ना जाए जिससे धन की हानि होती है घर की चीजों को पूर्व से पश्चिम या उत्तर से दक्षिण की ओर की बनवा कभी भी उत्तर पूर्व में सीरिया में मिलो दोस्तों अन्न का दान दें करने से भी हरकत में कमी आ जाती है अग्नि को अर्पित रोशन करें हमारी शास्त्र में अग्नि को पवित्र माना गया है हर तरह की बुराइयां उसमें जलकर नष्ट हो जाती है तो हमेशा खाना खाने के पहले उसे अग्नि को अर्पित करें योगिनी द्वारा पुकारे गए पर सबसे पहला अधिकार अग्नि का ही होता है दोस्त और नल से पानी ना टपकने दे इसकी वजह से भी बरकत में कमी आ जाती है घर को साफ रखें खा जाता है कि जिस घर में साफ सफाई नहीं होती है मां लक्ष्मी कभी नहीं ठहरती गुनी बरकत नहीं रहती घर में क्रोध कला और रोना-धोना आर्थिक समृद्धि व ऐश्वर्य का नाश होता है इसलिए जीत घर के चारों कोने कोने साफ हो खासकर के ईशान उत्तर और वायव्य कोण को हमेशा खाली और साफ रखें किचन में सबसे ज्यादा ध्यान देने की जरूरत है घर में लक्ष्मी किचन के रास्ते में प्रवेश करती है तो पूरी में हल्दी की घाटी भी रख सकते हैं जो कि शुभ माना जाता है इस प्रकार से घर में बरकत लाई जा सकती है धन्यवाद

#स्वास्थ्य और योग

Rajendra Malkhat Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Rajendra Malkhat जी का जवाब
Self student
2:38
नमस्कार दोस्तों आपका फेस नहीं किया कर बीमारियां पीछा ना छोड़ रही है तो क्या करें दोस्तों अगर घर में ऐसी परेशानियां देखने को मिलती है कई बार की कितना भी कुछ हमें उपचार कराने डॉक्टर से सलाह ले ले दवाई ले ले लेकिन फिर भी बीमारियां हमारी पीछा नहीं छोड़ रही होती है तो इसके पीछे हो सकता है कि हमारी जोकर की स्थिति हो वह ठीक ना हो जहां पर सीलन ज्यादा रहती हो या फिर साफ-सफाई का भी जो भी गलत असर पड़ रहा हूं अब तो मैंने होती हो ना होने पर भी और जलपान की व्यवस्था है जलपान की जो व्यवस्था है वह भी ठीक ना हो या फिर दूध के आने की शादियों में जो धूप आती है तो उनका आगमन ठीक ना हो तो घर के दरवाजे हैं घर की खिड़कियां हैं उनकी ठीक स्थिति ना हो तो इस प्रकार से भी हो सकता है जिसको हम कह सकते हैं वास्तु दोष तो आप एक अच्छे ज्योतिष ज्योतिष आचार्य से चला ले सकते हैं क्योंकि कई बार हमें काफी रुपए लगाने के बाद भी दवाई पानी लेने के बाद में भी कुछ ऐसी छोटी मोटी घटनाएं होती रहती है कभी किसी भी प्रकार की बीमारी से संबंधित स्वास्थ्य से संबंधित जो परेशानियां आती रहती हैं तो इन सब चीजों से छुटकारा पाने के लिए आपको घर की स्थिति बदलनी होगी और उन्हें थोड़ा सा बदलाव कीजिए और वह भी अपने स्तर पर नहीं बल्कि कुछ अच्छे आदमी से ज्योतिषाचार्य से या तो आप तो उपाय भी कर सकते हैं कुछ ऐसे सर्च भी कर सकते हैं जो वास्तु दोष होते हैं जिन्हें कह सकते हैं तो यह थोड़ा बहुत ज्योतिष का जो ज्ञान है आपके घर के बारे में आपको यह जानकारी हो जाए वास्तव में इनके पीछे कारण क्या हो सकता है इनकी वजह से भी ऐसी छोटी-छोटी परेशानियां आती रहती है घरों में सबसे पहले तो आपको छोटी बातों पर ही ध्यान दीजिए देना चाहिए जैसे कि साफ-सफाई का खास ख्याल है अब सर्दियों में दूध की व्यवस्था है सुबह-सुबह धूप भी बहुत अच्छी होती है विटामिन डी जे से हम मिलता है तो यह भी प्लानिंग बहुत जरूरी होती है खुद छोटी लापरवाही की वजह से हमें यह बीमारियां जो है वह छोड़ नहीं पाती है तो इसलिए इन पर काबू पाना जरूरी होता है

#जीवन शैली

Rajendra Malkhat Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Rajendra Malkhat जी का जवाब
Self student
2:28
उत्तर दोस्तों आप का प्रेस नहीं क्या कारण है कि शराब की दुकान का कारोबार दूसरे धंधों से बढ़िया चलता है उस तो आपकी बात बिल्कुल ही सही है शराब की दुकान का जो कारोबार है वह दूसरे धंधों से बढ़िया चलता है क्योंकि दोस्तों सभी लोग जो कि दिन भर में मेहनत करते हैं काम करते हैं तो वह शाम को अच्छी नींद के लिए अच्छी भूख बढ़ाने के लिए कुछ तो शराब का सेवन करते हैं तो ऐसी दो संख्या में लोगों की बहुत ही ज्यादा पीने वाले इतना तो घर में जो घरेलू खर्चा होता है तेल मसाले का वह भी नहीं लगता है जितनी कि लोग शराब पी जाते हैं तो यह तो बात बिल्कुल सही है कि लोग तो मेहनत करना छोड़ेंगे नहीं मेहनत करेंगे और मेहनत करेंगे बहुत ही ज्यादा करेंगे क्योंकि लोग होते सवार थे सभी तो नहीं होते लेकिन ज्यादातर अधिकांशतः स्वार्थी भावना ही यह कह सकते हैं हम अभी आराम से ठीक ठाक अपना जीवन यापन करें तो उनको शराब की कोई जरूरत नहीं होती है और वैसे भी अच्छी नींद आ जाती लेकिन फिर भी या तो अपने संगति होती ऐसी उनके प्रभाव से या फिर अपनी दुकान के हिसाब से तो शराब का सेवन करना शुरू कर देते हैं और ऐसे करते-करते जनसंख्या है वह बहुत ही ज्यादा बढ़ चुकी है शराब पीने वालों की तो इसलिए शराब की दुकान का दुकान है वह बहुत ही ज्यादा चलता है उन्हें पता है कि लोग किए बिना रह नहीं सकते और शराब का सेवन जरूर करेंगे तो पीने वाली है वह तो पीने की वाली है और धीरे-धीरे संख्या और भी ज्यादा बढ़ ही रही है घट तो नहीं रही इसलिए यह जो शराब की दुकान का जोड़ने वाली है जो काम है वह दूसरे दलों से बहुत ही ज्यादा अच्छा चल रहा होता है और वैसे भी कि हर जगह दुकान है वह नहीं होती है एक आधी यानी कि बहुत ही सीमित दुकानें होती है इनकी तो उनका काम अच्छा ही चलता है तेरी हर किसी को ऑनलाइन से यह ले करके यह करने लगी तो फिर तो वैसे ही कंपटीशन पड़ जाएगा इसलिए बहुत कम दुकाने होने के कारण इनका धंधा अच्छा चलता है और जनसंख्या ज्यादा है पीने वालों की और दुकान ही सीमित होती है तो इसलिए इनका नाम अच्छा चलता है

#स्वास्थ्य और योग

Rajendra Malkhat Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Rajendra Malkhat जी का जवाब
Self student
4:46
नमस्कार दोस्तों आप का प्रेस में बच्चों को प्रेरित करने का सबसे आसान तरीका क्या हो सकता है दोस्तों बच्चों को प्रेरणा देना तुम को प्रेरित करना बहुत ही आवश्यक है क्योंकि जब हम हमारे बड़ों द्वारा जो बच्चों को प्रेरित करेंगे उनको अच्छी शिक्षा ध्यान ध्यान देंगे तो वह अपने जीवन में कुछ अच्छा करेंगे अच्छी समझ रखे हैं अच्छे जानी कहलाएंगे और अपने जीवन में बहुत कुछ समय पर और सही करेंगे तो किस लिए उनको प्रेरित करना बहुत ही लाभदायक है और उन को प्रेरित करना भी चाहिए तुम को प्रेरित करने का जो तरीका है जो आसान तरीका है तो दोस्तों घर में भी दिया जा सकता है और स्कूल में दोनों तरफ दिया जा सकता है स्कूल में यदि उनके है व्यावहारिक ज्ञान अच्छे अच्छा देते हैं तो वह भी उनके लिए बहुत ही फायदेमंद है और घर में भी माता-पिता के द्वारा भी उनको अच्छा मेरी जान बोलने का अच्छा ज्ञान दिया जा सकता है तो तो एक तो उन को कोसने से बचें जब हम दूसरे बच्चों की अपने बच्चों के सामने तारीफ करते हैं तो वह बच्चे थोड़ी सी जलन उनको होने लगती है तो ऐसा नहीं करना चाहिए बल्कि उनकी खुद की तारीफ करते हुए और उनको सिखाना चाहिए उनको प्रेरणा देनी चाहिए तो बच्चे ज्यादा सीखते हैं बच्चे को जितना हो सके उतने ही प्यार से ही लाड़ दुलार से ही सीख आना चाहिए और ज्यादा पिटाई करना उसके लिए ठीक नहीं है क्योंकि वह ज्यादा गुस्सैल भी बन सकता है दोस्तो डांट धमकी से उन्हें मोटिवेट हम नहीं कर सकते हैं मिलकर उनको प्रेरित करने के लिए नहीं प्यार की जरूरत होती है उनको गलतियों को सहन करने की क्षमता होती है तो कुछ मोटिवेट करने के दो तरीके हैं वह हम यहां पर क्या कर रही है तू तो जो अपने बच्चे होते बच्चों से गहरी बात को सार्थक पाते में करनी चाहिए जब बातों को गहराई से लेंगे उतनी ही गहराई से वह सीखते हैं बच्चे समझ के क्या करते हैं कि सिर्फ मोटी मोटी बातें भी बता देते हैं जिन्हें वह समझ नहीं पाता है जबकि बच्चों को कहना इसे समझाने की जरूरत होती है ताकि वह अच्छे से समझा और एक बार समझे हुए को वह अपने जीवन में बार-बार दोहराई और उन्हें प्रयोग में रहे हैं तो गहराई से उनके साथ बातचीत करें और वह भी सार्थक बातें होनी चाहिए बेकार की बातें जब बच्चे खेलते हैं तो उनके खेल में भी शामिल होना चाहिए और उनको खेल-खेल में बहुत ज्यादा ज्ञान की प्राप्ति होती है और कभी भी बच्चे जब अच्छे अच्छा प्रदर्शन करे तो उनको मेहनत का इनाम भी कई बार देवे तो ऐसा करने से उन्हें बहुत अच्छा लगता है उन्हें प्रेरणा मिलती है कि हमें अच्छाई के लिए अच्छी चीजें मिलती है और जो बच्चों को सिखाते हैं प्रेरणा देते हैं तो उनके पीछे आपकी कड़ी मेहनत होनी चाहिए और बिल्कुल भी गलत भाषा का प्रयोग ना करें अपने घर में माहौल ऐसा बनाए रखें शांत और बच्चों के लिए अनुकूल और घर में जो माहौल गृह क्लेश का होता है झगड़े अधिकार होता है बच्चे ज्यादा तनाव से ग्रस्त हो जाते हैं और उन्हें ज्यादा अच्छा महसूस नहीं होता है एक स्वस्थ वातावरण बनाइए अपने बच्चों को मोटिवेट करना चाहते हो तो समझ पाता हूं बहुत ही जरूरी है उनके आसपास के देख एक शांत परिवार की जरूरत होती है उनके लिए कुछ अपवाद भी कहने चाहिए जिससे क्यों नहीं गरम हो जाए जैसे कि मुझे तुम पर गर्व है मुझे तुम पर बहुत विश्वास है तो तो दूसरों की प्रशंसा भी करें लेकिन दूसरों के साथ में कुछ अच्छाइयां अपने बच्चों की पिक है कि कुछ चीजों में मेरे बच्चे कितने इंटेलिजेंट है कितने अच्छे हैं ठीक है तो उसे आगे बढ़ने में प्रेरणा मिलेगी और उनका एक रास्ता बन जाएगा और उनके निर्देशन के लिए माता-पिता का अहम रोल होता है कई बार स्कूलों में ऐसी जो व्यावहारिक ज्ञान है वह बच्चों को मिल नहीं पाता है क्योंकि आजकल व्यवसायिक स्तर पर शिक्षा का फैलाव होने लगा है दूसरे घर में ही उन्हें यदि व्यवहार अच्छा मिलता है अच्छी समझ मिल जाए तो उनके लिए बहुत ही फायदेमंद होता है धन्यवाद

#धर्म और ज्योतिषी

Rajendra Malkhat Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Rajendra Malkhat जी का जवाब
Self student
2:03
उसका दोस्तों आपका प्रश्न के लोग कहते हैं कि मेहनत का फल मीठा होता है क्या यह बात सत्य है जी हां दोस्तों बिल्कुल बात सत्य है मेहनत का फल मीठा ही होता है दोस्तों हम यह उदाहरण एक पेड़ से भी ले सकते हैं कि 220 हम आज होते हैं तो आने वाले समय में वह हमें फल प्राप्त दे लेकिन वह कब देगा जब हम उसकी देखभाल करेंगे उसको चीर देंगे पानी से और उसको उसमें खाद पानी डालेंगे और उसकी रक्षा करेंगे रक्षा करेंगे तो वह धीरे-धीरे बड़ा होगा और बड़े होने के बाद जैसे ही उम्र में फल लगने लगेंगे तो वह हमें फल भी देख तो किसलिए फल देने के पीछे जो कारण छिपा होगा वह होगी हमारी मेहनत आपकी मेहनत क्योंकि मेहनत के बाद में कल मिठाई मिलता है जब किसी भी रूप में हो मेहनत यदि अपने जीवन में करते हैं बस करते हैं कुछ अच्छा सीखते हैं तो आगे चलकर हमारे खुद के लिए बहुत से बात होती है हमें खुद को मान सम्मान यश कीर्ति सब कुछ मिलता है तो हमें अपने जीवन में मेहनत अवश्य करनी चाहिए अपने कैरियर के क्षेत्र में भी अपनी बड़ाई के दौरान में भी और अपनी सेवा क्षेत्र में भी मेहनत होगी तो हमारी मेहनत रंग जरूर लाएगी दोस्तों आजकल तो इतने बड़े-बड़े काम दुनिया में हो रहे हैं सब मेहनत के पीछे ही मेहनत होगी तो हमें किसी भी काम का प्रोफाइल है वह जरूर मिलेगा तो इसलिए सब काम मेहनत के बलबूते पर ही हो रहा है किसी भी कार्य के पीछे मेहनत नहीं होगी तो वह कार्य बिगड़ जाएगा और हमें कोई फल भी प्राप्त नहीं होगा यानी कि हमें कोई लाभ भी प्राप्त नहीं होगा लिए मेहनत करना बहुत ही जरूरी है धन्यवाद

#रिश्ते और संबंध

Rajendra Malkhat Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Rajendra Malkhat जी का जवाब
Self student
1:11
उसका दुश्मन का प्रश्न है विकलांग बच्चे क्यों पैदा होते हैं वह तो पब्लिक एरिया में कई तरह के इंफेक्शन का डर होता है जिसकी वजह से बच्चे की सुनने और बोलने की क्षमता प्रभावित होती है बच्चा गूंगा और बहरा पैदा हो सकता है तो तुम प्रेगनेंसी के दौरान ज्यादा सोलफुल वाले मेहुल में नहीं रहना चाहिए इससे बच्चा बहरा पैदा हो सकता है हाल ही में आई एक अध्ययन की रिपोर्ट में यह बात सामने आई है धोनी प्रदूषण बच्चों को गर्भ में ही बहरा बना देता ऐसे बच्चों के बोलने की क्षमता भी प्रभावित हो जाती है क्योंकि बच्चा जब तक भी सुनेगा नहीं तो बोलेगा सीखेगा कैसे बाहर का खाना बिल्कुल ना खाएं प्रेगनेंसी के दौरान शरीर में होने वाले बदलावों के कारण कुछ चटपटा और अलग-अलग जाएगा टेस्ट करने का दिल करता है ऐसे में बच्चे की सेहत के लिए जरूरी है कि आप अपनी जुबान पर प्रोडक्ट कोल्ड ड्रिंक्स और बाहर का जूस तो भूल ही जाए प्रेगनेंसी में जूस पीना फायदेमंद होता है लेकिन बाहर का जूस पीने में का खतरा भी हो सकता है बाहर का जूस इनफेक्टेड होता है वही कोल्ड ड्रिंक्स में उच्च मात्रा में प्रिजर्वेटिव्स का इस्तेमाल होता है धन्यवाद

#जीवन शैली

Rajendra Malkhat Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Rajendra Malkhat जी का जवाब
Self student
2:19
उसका दोस्तों आपका प्रश्न 2021 में आप अपने जीवन में किन विचारों को ग्रहण करना चाहेंगे दोस्तों आपने जो दैनिक जीवन में विचार होने चाहिए वह सकारात्मक और अच्छे होने चाहिए तुम तो ऐसे विचार जो कि हमारे पूरे जीवन को बदल कर रखें और अच्छाई की ओर अग्रसर करें हमेशा दिशानिर्देश देवी और ऐसे विचार हमें सभी को रखने चाहिए और हम भी रखना चाहते हैं कि 2021 में जो कि नववर्ष अभी लगा है तू इस नव वर्ष में हमें सफलता मिले हमारा कैरियर हमारा भविष्य और भी ज्यादा अच्छा बने उज्जवल बने हम जो पूरी जो सोच है जो नकारात्मकता है उनसे हम दूर रहे तो पूरी सत बुरी संगति है उनसे भी दूर रहें और इन सब दुर्भावना उसे पूरे कर मुझसे दूर रहते हुए हम अच्छाइयों को प्राप्त करें आगे बढ़े और जीवन में अपने देश के लिए और अपने परिवार के लिए कुछ अच्छा करें ताकि अपनों के दिलों में और परियों के दिलों में भी अपना एक स्थान हो और हमारी पहचान अच्छी हो हमें लोग मिठाई के रूप में जाने और हमें नवयुवक होने के संबंध में और हमारे देश के लिए कुछ अच्छा करने की जो लालसा है वह होनी चाहिए और हम तो यही विचार एक नया रखते हैं इस 2021 में कि हमारा देश प्रगति करें विकसित हूं और वह सभी मन की बातें जो कि पिछले सत्रों में अधूरी रह गई थी तो वह इस 2021 में पूरे भारतवर्ष में मोदी के मन की बात हमारी पूरी हो चाहे वह किसी भी क्षेत्र में हो चाहे विज्ञान के क्षेत्र में हो कला के क्षेत्र में हो कौन से भी क्षेत्र में तो सभी की जो अधूरी अधूरी दुकानें हैं वह पूरी हो ऐसी हम आशा करते हैं धन्यवाद

#जीवन शैली

Rajendra Malkhat Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Rajendra Malkhat जी का जवाब
Self student
2:48
आपका प्रश्न है एक शातिर व्यक्ति को जल्दी से कैसे पहचाना जा सकता है दोस्तों शातिर व्यक्ति बहुत ही बुरा व्यक्ति जो कि आपको कभी भी धोखा दे सकता है आपके साथ विश्वासघात कर सकता है तो ऐसे व्यक्ति से हमेशा दूर ही रहना चाहिए ऐसे व्यक्ति हमारे आस पड़ोस में भी हो सकते हैं हमारे निकट भी हो सकते हैं तो इन को खोजने के लिए इनकी पहचान पाने के लिए इन पर आपको नजर रखनी होगी तभी आप समझ पाएंगे कि यह ऐसा व्यक्ति है तो दोस्तों ऐसे जो व्यक्ति होते हैं बहुत ही जल्द विश्वास बनाने की कोशिश करते हैं स्वयं बार-बार में कहेंगे कि मेरा विश्वास करो क्या मैं ऐसा हूं क्या मैं आपको ऐसा लगता हूं तो ऐसे व्यक्ति होते हैं बार-बार में जो इसे बताने की कोशिश करते हैं या फिर दूसरों को जो यह जताने की कोशिश कर रहे होते हैं कि मैं बहुत ही एक सीधा साधा साधारण सा व्यक्ति हूं बहुत अच्छा व्यक्ति हूं मैंने बहुत कुछ किया ऐसे होते हैं जो स्वयं की तारीफ जल्दी से बताने की कोशिश करते हैं और जल्दी से विश्वास करवाने की भी कोशिश करते हैं कि ऐसे व्यक्ति शरारती शातिर व्यक्ति कह सकते हैं हम जी से और कैसे व्यक्ति बहुत ही ज्यादा चालाक होते हैं चतुर होते हैं हर काम में निपुण होते लेकिन जब आपको ऐसा लगे कि हम पर यह विश्वास बहुत ही ज्यादा जताने की कोशिश कर रहे हैं तो आप समझ जाइए और उससे पहले आप अपनी व्यवस्था अपने स्तर पर कर लीजिए और यदि आप पारखी है तो आप उन पर नजर रखी हो सकता है कि आपको कुछ ऐसा देखने को मिले जिससे आप उनके बारे में पता लगा लो कि हां यह शातिर व्यक्ति है क्या यह अपने साथ कुछ विश्वासघात कर सकता है तो कुछ बातें खाने नहीं रहती हैं बल्कि स्वता ही हमें थोड़ा सा आभास हो जाता है आइए जो व्यक्ति है तो वह हमारे लिए ठीक नहीं है ऐसे व्यक्ति जल्द ही घर में छोटे से बड़ों से घुलने मिलने की आशा रखते हैं विश्वास जल्दी ही बनवा बना लेते हैं और ऐसे व्यक्तियों से दूर ही नहीं यह तो व्यक्ति होते हैं ऐसे साथी शैतान व्यक्ति तो वह घर के छोटे बच्चों से भी बातें ज्यादा करते हैं प्रत्येक सदस्यों से उनके बारे में पूछते हैं ऐसा लगता है जैसे कि उनका दोस्त हैं कैसे हो कोई दिक्कत तो नहीं बदल भी इतना सब कुछ पूछते हैं कि जैसे आप को आभास लग जाएगा कि यह ऐसे कैसे पूछ रहा है तो दोस्तों पर यह एक नंबर का तरीका है शातिर व्यक्ति को पहचानने का

#स्वास्थ्य और योग

Rajendra Malkhat Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Rajendra Malkhat जी का जवाब
Self student
3:40
नमस्कार दोस्तों आप का प्रेस नहीं की क्या ऐसी मित्र इच्छाएं दिन 1 दिन मौत की तरफ ले जाती है तो दोस्तों आपका मानना और आपका कहना बिल्कुल सही है असीमित इच्छाएं हमें स्वार्थ भावना की तरफ ले जाती है हमारी स्वार्थ की भावना से होती है तो वह हमें असीमित इच्छा जागृत करने के लिए कहती हैं और वह उनकी पूर्ति करते करते और हमारा तो उनको करने का साधन है व्यवसाय करने का साधन है वह हमारा गलत हो जाता है हमारे कर्म गलत हो जाते हैं हमारा रास्ता भी गलत हो जाता है तो इसलिए मौत की भी गुंजाइश होती है कभी भी हमारी किसी भी समय मौत हो जाती है यदि हम दिन रात हमें यह सवाल भावना लगी रहती है कि हमें कमाना है कमाई करनी है कैसे भी हो बड़ा बनना है कैसे भी हो नाम पाना है यस शोहरत धन दौलत सब कुछ पानी है और हमें चाहे कैसे भी कार्य करने पड़े तो दोस्तों यह तो ऐसी स्थाई है वह आपको लोग में झोंक देगी यानी कि सवार्थ भावना में झोंक देगी और सवार था आपको कुछ भी कराने करा सकता है यह जो स्वार्थ भावना होती है लोग की भावना होती है वह आपसे कुछ भी करवा सकती है हमने ऐसे ही काफी कथाएं बड़ी कथा सुनी नाटक सुनें फिल्में देखी कि आदमी अच्छे होते हैं आदमी पहले पहले तो आदमी में कोई स्वार्थ भावना नहीं होती है जैसे तैसे उनका जीवन यापन चलता रहता है लेकिन कोई एक ऐसा शत-शत जीवन में आता है वह कहता है कि ऐसे हो जाएगा जीवन में और आपको यह काम करना चाहिए वह कम करना चाहिए जैसा आपका दिल कहता है ना उनकी बात सुननी चाहिए मन की नहीं मन आपका डोलेगा बार-बार डोलेगा कि हां हम कर लेंगे हमेशा कर सकते हैं क्या पता हो ही जाए हमारे ऐसा करने से फिर हमारे पास साधन की सुविधा हो जाएगी या यह हमारे पास सुविधा हो जाएगी तो आप फिर वह सोच आपको नेगेटिव रिपोर्ट है नकारात्मक विचार वह आपको अरे घर में लेकर के जाती है और ऐसे में इच्छाएं भी पैदा करवाती है जिसकी वजह से आप बुरे कर्तव्य बुरे कर इतने भी करने लग जाते हैं जिसकी वजह से 1 दिन ऐसा आता है उसके चंगुल से छूट गई बातें कैसे भी करके और आपको मानसिक अशांति होती है स्ट्रेस बढ़ता है तनाव बढ़ता है हर किसी का दबाव भी बढ़ने लगता है तो इतना ज्यादा लोगों का दबाव हो जाता है इस प्रेस इतना ज्यादा दिमाग पर मन पर हो जाता है चिंताएं दुनिया भर की इतनी ज्यादा हो जाती है कि या तो आप को कोई मार डालता है या फिर आप आत्मा से क्या कहते हैं उसे आत्मा आत्महत्या कर लेते हैं इस प्रकार से दोनों में से कोई एक आपके साथ जरूर घटित होता है दूसरों दूसरे व्यक्ति का मार डालना या फिर सुसाइड कर लेना तो ऐसी स्थिति में आए इसके लिए जो आपके पास है तो उसी में संतोष रखना चाहिए विद्वान लोग यही कहते हैं जैसे कि अहिंसा ही परम धन होता है वैसे ही संतोष ही परम धन होता है जो संतोष रखते हैं धैर्य रखते हैं जितना अपने पास है उस में खुश रहने की जो कला है वह सीखनी चाहिए तो जितना आपके पास है उतने में खुश रहिए हमें सभी को रहना चाहिए तो वही हमारे लिए सबसे अच्छी बात है हां धीरे-धीरे मारा विकास होता है हमें अच्छे कर्म करते हुए मुंह पर तक जाते हैं लोग हमें जो ऊपर तक ले जाएंगे वह हमारी सफलता होगी उसमें हमें कोई भी तनाव कोई भी चिंता नहीं होगी धन्यवाद

#जीवन शैली

Rajendra Malkhat Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Rajendra Malkhat जी का जवाब
Self student
2:50
नमस्कार दोस्तों आपका प्रश्न है मन की चंचलता को नियंत्रण नियंत्रित करने का सबसे सार्थक तरीका क्या है दोस्तों मन आपका बार-बार चंचलता से ओतप्रोत हो रहा है उसका सबसे अच्छा तरीका है समय का सदुपयोग करना जिस समय आपका मन चंचल होता है या चंचलता आपके मन को घेरे रहती है तो उस वक्त आपको सुंदर विचारों को मन में ग्रहण करना चाहिए जो महान व्यक्ति की जीवनी या है वह पढ़नी चाहिए चाहे आप मोबाइल तो हर किसी के पास अब रहने लगा टेक्निकल चीजें हैं का जमाना आ गया है तो इसलिए जो मोबाइल में तो बहुत सारे ऐसे ऐप है क्या बहुत सारे ऐसे यूट्यूब के चैनल है जो कि आपको प्रेरणा देते हैं यानी प्रेरणास्पद जो चैनल है वह काफी सारे हैं बहुत से ऐसे ऐप्स है जिसमें सुविचार है महापुरुषों के कथन है बहुत अच्छे अच्छे विचार हैं जिसको एक लाइन पढ़ने मात्र से आपके मन में ऊर्जा से आ जाती है और आप सोचते हैं कि हम तो बस ऐसा ही करेंगे तो वह विचार जैसे चाणक्य की नीतियां हैं और भी सुविचार है बहुत अच्छे अच्छे महान पुरुषों के तो आप पढ़िए उनको पढ़ने से आपको एक अलग ऊर्जा मिलेगी अपने स्वास्थ्य में आपके रोंगटे खड़े हो जाएंगे वह आप यदि विचार सुनेंगे तो और आपकी मन की जो चलता है वह गायब हो जाएगी लोग तो हो जाएगी आपको पता भी नहीं चलेगा और आप कुछ अच्छा करने के लिए आप ऊर्जावान हो जाएंगे तो आपको सुविचार पढ़ने की जरूरत है टाइम पत्रिका में पढ़ो किसी भी अखबार में पढ़ो चाहे चाय रेडियो में भी बहुत सारी ऐसी चीजें जो रेडियो के ऐप है उसमें भी बहुत ही अच्छी चीजें सुनाई देने को मिलती है तो वह आप सुनिए अच्छा माहौल बनाएंगे सुंदर माहौल बनाएंगे अच्छे व्यवहार का सत्संग टी का माहौल मनाएंगे तो वैसा ही हमें अंदर मिलेगा वैसा ही लाभ हमें मिलेगा और यदि हमें मन को खराब करते हैं खाली समय में हम यदि बुरे विचार मन में लाते हैं और चंचलता बार-बार में उठने लगती है उन्हें तो भेजा ही हमसे होने लगता है हमारे हाथों से वैसा ही होगा और उसी प्रकार का जैसा वातावरण होगा जैसा माहौल हमारे आसपास का होगा तो वैसे ही हमारे मन के अनुसार होने लगता है तो उन पर कंट्रोल करने का सबसे अच्छा तरीका है आपको ध्यान से सोचें प्रभु के आगे सुबह और शाम 2:00 मिनट देवे शांति से सोचे कि हमें कल क्या करना है आज हमने क्या किया था क्या करना चाहिए था और आप सुविचार पढ़िए आपके मोबाइल में भी बहुत सारे ऐप्स होते हैं काफी जानकारी मिलती है तो दोस्तों इन रास्तों का उपयोग करना चाहिए

#फिल्में

Rajendra Malkhat Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Rajendra Malkhat जी का जवाब
Self student
3:28
नमस्कार दोस्तों आपका प्रश्न है कि मकर सक्रांति के पीछे पर्व की शुरुआत कैसे हुई थी तो दोस्तों जब इस त्यौहार के बारे में बात आती है कैसे और किसने शुरुआत की तो इस सिलसिले में एक महत्वपूर्ण नाम आता है बाबा गोरखनाथ दोस्तों नवभारत टाइम्स डॉट कॉम के एक पोस्ट के अनुसार हम इसकी जानकारी लेते हैं दोस्तों पुरानी कथाओं के अनुसार जब खिलजी ने आक्रमण किया तो लगातार संघर्षरत रहने के चलते नाथ योगी भोजन तक नहीं कर पाते थे इसके पीछे कारण यह था कि आक्रमण के चलते योगियों के पास भोजन बनाने का भी समय नहीं रहता था वह अपनी भूमि को बताने के लिए संघर्ष करते रहते थे और अफसर ही भूखे रह जाते थे किसी के साथ आक्रमण में नाथ योगी भूखे ही संघर्ष रहते थे बाबा गोरखनाथ ने इस समस्या का हल निकालने की सूची लेकिन यह भी ध्यान रखना था कि ज्यादा समय भी ना लगे तब बाबा गोर दाल चावल और सब्जी को एक एक साथ पकाने की सलाह दी थी दोस्तों बाबा गोरखनाथ का बताया हुआ यह व्यंजन नाथ योगियों को बेहद पसंद आया इसे बनाने में काफी कम समय लगा कम समय तो लगता ही था साथ ही काफी स्वादिष्ट और त्वरित उंजा देने वाला भी होता था कहा जाता है कि बाबा नहीं इस व्यंजन को खिचड़ी का नाम दिया था तू तो कहता था कि फटाफट तैयार होने वाले इस व्यंजन से नाथ योगियों को भूख की परेशानी से राहत मिल गई इसके अलावा वह खिलजी के आतंक को दूर करने में भी सक्षम हो गए इसके बाद से ही गोरखपुर में मकर सक्रांति के दिन को बताओ विजय दर्शन पर्व के रूप में भी बनाते हैं दोस्तों मकर सक्रांति के अवसर पर गोरखनाथ मंदिर के पास खिचड़ी मेले का आयोजन किया जाता है इस मेले की शुरुआत बाबा गोरखनाथ को खिचड़ी का भोग लगाकर होती है इसके बाद प्रसाद स्वरूप पूरे मेले में खिचड़ी का वितरण भी किया जाता है दोस्तों ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक खिचड़ी का मुख्य तक चावल और चंद्रमा के प्रभाव में होता है इस दिन खिचड़ी में डाली जाने वाली उड़द की दाल का संबंध शनिदेव से माना जाता है वही हल्दी का संबंध गुरु ग्रह से और हरी सब्जियों का संबंधित बुध से माना जाता है वहीं खिचड़ी में पढ़ने वाले की का संबंध सूर्य देवता से होता है इसके अलावा भी से शुक्र और मंगल भी प्रभावित होते हैं यही वजह है कि मकर सक्रांति पर खिचड़ी खाने से आरोग्य में वृद्धि होती है मकर सक्रांति पर तिल और तिलकुट खाने की भी परंपरा है ज्योतिष कारणों के मुताबिक तेल का सीधा संबंध नीचे की मकर सक्रांति के दिन तिल और तिलकुट खाने का रिवाज है इससे शनि राहु और केतु से संबंधित सारे दोष दूर हो जाते हैं दोस्तों इस मौके पर जहां कई जगहों पर खिचड़ी खाने की परंपरा है तो कुछ वहीं से कॉपर तिलकुट को प्रवाहित करने का भी रिवाज है मान्यता है कि ऐसा करने से व्यक्ति को हर तरह के कष्टों से मुक्ति मिल जाती है दोस्तों मकर सक्रांति की आराधना का पर्व है प्रकृति की आराधना का पर्व है जो सूर्य के उत्तरायण होने के उपलक्ष में मनाया जाता है यही कारण है कि कड़ाके की ठंड में लोग सूर्योदय से पूर्व स्नान करके सूर्य को अर्घ्य देते हैं इसके बाद तिलाठी यानी तिल के पौधे का डंठल जलाकर खुद को गर्म करते हैं और पहले दही चूड़ा तिलवानी तिल का लड्डू खाते हैं तो दोस्तों इस प्रकार से मनाया जाता है मकर सक्रांति का पर्व आशा करते हैं आपको अच्छा लगा होगा धन्यवाद

#जीवन शैली

Rajendra Malkhat Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Rajendra Malkhat जी का जवाब
Self student
2:36
नमस्कार दोस्तों आपका बड़प्पन है मनुष्य सम्मान और पहचान का भूखा क्यों होता है दोस्तों वास्तव में मुंह से सम्मान का भूखा होता है वह पहचान का भी भूखा होता है दोस्तों हर किसी को सम्मान चाहिए होता है यानी कि उनका उनको सम्मान मिले उनको उनका हर कोई आदर करें क्योंकि दोस्तों यह उनकी स्वार्थ भावना ही कही जा सकती है सम्मान पाना स्वार्थ भावना भी होती है और उसका कर्तव्य भी होता है सम्मान व्यक्ति को पाना भी चाहिए दोस्तों हम अच्छे कर्म करेंगे और व्यवहार अच्छा रखेंगे अच्छा हमारा काम करेंगे तो हमें क्यों नहीं मिलेगा सम्मान जरूर मिलेगा और पहचान का भी भूखा होता है पहचान दोस्तों इसलिए क्योंकि को जिस क्षेत्र में रहता है तो उस क्षेत्र में उनके हमउम्र भी होते हैं और हम उम्र में एक कंपटीशन भी होता है कि कौन सा अच्छा काम कर रहा है किसका घर सबसे अच्छा चल रहा है किसके पास कितनी सैलरी आती है तो दोस्तों वह यह समझता है कि इन सब जो कि मेरे प्रतिभागी है जिस कंपटीशन में वह लगा है तो घर की घर का कोई व्यवसाय हो या फिर कोई नौकरी हो कैसा भी हो तो वो सोचेगा कि हमें इन से आगे निकलना है ताकि समाज में हमारा अच्छा नाम हो उसको पहचान बनाने के लिए और उनसे होडा होडी में उसकी सूरत में ही बस वो पहचान बनाने की होड़ में लगा रहता है कि बस उनसे कैसे भी हो एक परसेंट ही आगे हो लेकिन उनसे आगे निकल जाए बस वही पहचान उनको फिर मान सम्मान पाने की लालसा करवाती है और उनको आगे बढ़ने की इच्छा उसके मन में पैदा करवा देती है तू दोस्तों जो सम्मान की इच्छा होती है और जो पहचान बनाने की जो इच्छा होती है वह केवल और केवल एक मनुष्य की सवार भावना ही कही जा सकती है अपनी स्वार्थ की भावना है अपनी अच्छाइयों को दूर-दूर तक फैलाना है या अपने काम को अपने व्यवसाय को दूर-दूर तक फैला नाही फैलाने का माध्यम है उनकी पहचान बनाने का हो जाता है कि वह चाहते हैं कि हम अपनी पहचान बना लेंगे तो हमें लोग जानेंगे और हमें जानेंगे तो हमारे काम को भी जानेंगे और हमारे काम को जानेंगे तो हमें हमने भी होगी और साथ-साथ में हमें सम्मान मान सम्मान भी मिलेगा तो यह एक दूसरे की पूरक बातें हैं इसलिए वैसा चाहते हैं

#जीवन शैली

Rajendra Malkhat Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Rajendra Malkhat जी का जवाब
Self student
2:23
नमस्कार दोस्तों आपका प्रश्न है जब इंसान सीखता है तब उसे ऐसा क्यों लगता है कि जान ही निकल जाएगी तो दोस्तों इसे उसे इसलिए लगता है क्योंकि उसे उस चीज के बारे में पता नहीं होता है जिस चीज को भेज सकता है किसी भी चीज को बचाने की इच्छा करता है तो उन सब चीजों के बारे में वह अनजान होता है अजनबी होता है तब उसके मन में यह बार-बार दूसरे ख्याल आते रहते हैं कि यदि मैं इससे आगे करूंगा तो लेके आजा न जाने क्या हो जाएगा क्या क्या हमें प्राप्ति होगी क्योंकि हमें तो सिखाने वाले होते हैं वह हमसे बड़े और सीखे सिखाए होते हैं तो इसलिए मैं थोड़ी सी शर्म भी आती है लग जाती होती है कि अपने थोड़ा सा गलत कर दिया तो वह हमें डांट आएंगे इस प्रकार से और खुद को सीखना भी होता है तो कोई चीज हम नहीं सीखते हैं तो वास्तव में ऐसा होता है कि हमेशा भारी भरकम लगता है और हमें लगता है कि जान ही निकल जाएगी चाहे वह कैसी भी चीज हो चाहे कोई वाहन चलाना सीख रहे हो या फिर कुछ अन्य भारी भरकम चीजें सीख रहे हो या या मशीनें चलाना सीख रहे हो या फिर कुछ बड़ा भारी भरकम काम कर रहे हो तो मैं लगता है ऐसा कि इसको जरा ढंग से जरा भी नेट ढंग से करने से हमारी चाल ही निकल जाएगी तो ऐसा होता है इसीलिए नॉर्मल सी बात है सामान्यतया कि हमें उस चीज के बारे में पता नहीं होता अनजान होते हैं तब हम कोई भी काम करने से हम थोड़ा सा बहन पैदा करते हैं थोड़ा सा और ऐसा लगता है हमें कि हमारी जान ही निकल जाएगी हालांकि ऐसा होता तो नहीं है फिर भी हमें ऐसा मन में विचार जरूर आ जाता है वह हमारा दोस्तों अंदर कब है होता है हमें होता कुछ नहीं है बस वही बात है कि अंधेरे में जो कोई व्यक्ति चलता है और उसको भूत से डर लगता है लेकिन वह चलता तो जाता है लेकिन उसे अंदर का भय सताता है कि क्या पता उसे पता भी है कि भूल आजकल होते ही नहीं है आता ही नहीं है किसी ने देखे तो लेकिन फिर भी उसके अंदर भय रहेगा कि भाई कोई इधर झाड़ियों से कोई निकल के नया जाए तो बस वही बात होती है नई बात सीखने में एक नई रास्ते पर जाते हैं हमें लगता है कि नेता नेता नक्शे कौन क्या कहां से आ जाए बस वही बात काम सीखने में होती है ऐसा होता है धन्यवाद

#धर्म और ज्योतिषी

Rajendra Malkhat Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Rajendra Malkhat जी का जवाब
Self student
3:17
कर दोस्तों आपका प्रश्न है की विश्वास बार-बार टूटने पर क्या करें दोस्तों विश्वास बार-बार आपका टूट रहा है तो इसका मतलब है कि कोई आपको बार-बार में धोखा दे रहा है क्योंकि जब कोई हमारा अपना या हमारा दोस्त जब कोई धोखा देता है तो बार-बार हमारा उस पर से विश्वास टूटने लगता है तो दोस्तों यदि कोई मित्र है कोई दोस्त है और बार-बार मैं आपको धोखा दे रहा है अब आपका विश्वास तोड़ रहा है तो फिर ऐसा करें कि ऐसे दोस्त को त्याग दें ऐसे दोस्त की संगति नहीं करनी चाहिए ऐसा संस्कृत के श्लोकों में भी कहा गया है चाणक्य ने भी कहा है और विद्वान लोग भी यही कहते हैं और आपकी भलाई के लिए भी यही है एक श्लोक में तो यहां तक यह कहा भी गया है कि जो लोग मुंह पर तो बैठे बोलते हैं और पीठ पीछे गालियां बकते हैं और सामने आने पर अपने घुटने टेक करके माफी मांग लेते हैं और जो कि विश्व से भरे हुए घड़े के समान होते हैं जिसके मुंह दूध लगा होता है और अंदर जहर बना होता तो ऐसे मित्रों को ऐसे लोगों को त्याग देना चाहिए यह तो ही दोस्तों की बात और यदि घर का सदस्य कोई ऐसा कर रहा है यदि कोई पति या पत्नी में से कोई ऐसा कर रहा है तो दोस्तों आपको उसके साथ रहने की आवश्यकता है साथ में रहकर के एक साथ समय गुजारने की आवश्यकता है ऐसा कोई कार्य कीजिए ऐसा तो व्यवसाय शुरू कीजिए जिसमें आपको आप केवल घर में ही रहोगे या उनके हरदम उनके संग रहो और उनको जरा भी इधर उधर भटकने का उसे समय ना मिले बेकार में समय कब आने का या बेकार की चीजों में समय का पानी का समय ना मिले तो दोस्तों उनकी गहराई तक आपको जाना जरूरी है कि आखिर उनके साथ ऐसा क्यों हो रहा है या वह धोखा क्यों दे रहा है बार-बार में विश्वास हमारा क्यों तोड़ रहा था उनके पीछे का जवाब कारण जानोगे तो उस कारण को दूर कीजिए आदमी मित्र पति-पत्नी देखो सिर्फ उनकी सोच का ही फर्क होता है वह सोच बदल दीजिए आप टैग अपना मित्र हो चाहे अपना स्वयं का पति हो चाहे वह उनकी पत्नी हो कैसा भी हो विश्वास तू बार-बार में टूट रहा है तो आदमी की आदतें ही गलत होती है आदमी के नहीं बदल आदमी या महिला मेरा दोनों का ही मतलब है उनकी आदतें उनका स्वभाव गलत हो सकता है खुद आदमी गलत कैसे होगा उनको स्वभाव भी या उनकी संगति ही गलत बनाती है तो उनकी संगति आप छुड़वा दी आप उनके संघ को यह और उसे उनके कारणों का पहले तो पता लगाइए उनको बिना प्रताड़ना दिए बिना डांट किए पता लगाइए धीरे से आराम से एक विद्वान था के दिमाग से सोचते हुए और फिर उनको धीरे-धीरे ही अलग तुमको इन बातों से इन संगठनों से दूर करना है तो आप विश्वास दुबारा चाहे कितनी हजार बार टूटा हो वापिस जोड़ सकते हैं हम हां वह तो बात देख एक बार जो विश्वास टूट जाने पर एक बार धागा टूट जाने पर काट दो पड़ जाती है पहले जैसी बात नहीं रहती है लेकिन फिर भी जैसे तैसे अच्छा व्यवहार है अच्छा अच्छी संपर्क था तो फिर से बन सकती है धन्य

#जीवन शैली

Rajendra Malkhat Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Rajendra Malkhat जी का जवाब
Self student
2:10
नमस्कार दोस्तों आपका प्रश्न है दूसरों के नकारात्मक विचार हमें किस हद तक प्रभावित कर सकते हैं दोस्तों दोस्तों दूसरों की जो नकारात्मक विचार है वह आपको बहुत ही गहरे गर्त में डाल सकते हैं नकारात्मक विचार तो दोस्तों जो नेगेटिव जो थॉट रखने वाले जो लोग होते हैं उनके संपर्क में भी नहीं आना चाहिए उनके पास लेटना चाहिए ने संगत करनी चाहिए दोस्तों नकारात्मक प्रभाव आपकी जिंदगी को खराब कर सकते हैं जिंदगी को गहरे गर्त में गड्ढे में डाल सकते हैं और आपकी जिंदगी में अंधेरा हो सकता है क्योंकि हमारी तो जिंदगी पूरी चलती है जिसमें हम रंग भरते हैं उसमें केवल सकारात्मक ही ऐसे विचार है जिसकी बदौलत हम अपने जीवन को रंग में बना सकते हैं रोशनी से भर सकते हैं और नकारात्मक विचार दोस्तों नकारात्मक ऊर्जा पैदा करते हैं दोस्तों वही बात एक क्लास में यदि कुछ कोई बच्चा मंच पर जाता है और उसके कक्षा वाले बच्चे यही कहते हैं कि नहीं आ राकेश मत जा तेरे से नहीं बोला जाएगा हमारी क्लास की बेजती हो जाएगी अपमान हो जाएगा यार तेरे से नहीं बोला जाए तो उस बच्चे से बोला ही नहीं जाएगा और वास्तव में मौजूद के का और ऐसे ही सोचेगा कि यार क्या पता मैंने जो कहा वो हमको अच्छा लगा है या नहीं लगा है तो वह डरते डरते बोलेगा यदि वही क्लास के बच्चे और उसको यह तालियां बजाते हैं और हुड़दंग के साथ उसे कहते कि चल जाओ भाई मंच पर जाओ तुम्हारा सपोर्ट हम करेंगे तुम खुल कर बोलो हम तुम्हारा जो भी तुम कहोगे वह हम अच्छे से सुनाई नहीं तो बताओ उसका कितना अच्छा प्रभाव पड़ा नेगेटिव थॉट जब साथ वालों ने दे दिया तो हमारे मन में भी नकारात्मक ऊर्जा पैदा हो जाती है और फिर हर बात ना में ही चलती है क्या पता होगा या नहीं होगा नहीं होगा तो तो वह होता ही नहीं है और जब सकारात्मक भाव चलते हैं तो और सभी माहौल हमेशा करा तो मत मिल जाता है तो वह काम होकर ही रहता है तो इसलिए जो दूसरों का नकारात्मक भाव वह हमारे अंदर गलत प्रभाव पैदा करता है तो मैं तो ऐसे ऐसे संगत में नहीं रहे नहीं अशोका अनुसरण करें धन्यवाद

#जीवन शैली

Rajendra Malkhat Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Rajendra Malkhat जी का जवाब
Self student
3:15
नमस्कार दोस्तों आपका प्रश्न है किसी व्यक्ति को उधार देने से मना करने के लिए क्या उपाय करने चाहिए दोस्तों इसके लिए यदि हम सीधे ही उन्हें मना करेंगे तो वह सोचेगा कि यह तो कोई काम का नहीं है इसलिए उन्हें एक समय दीजिए उस समय यह जाए वह 10 दिन का हो 15 दिन का हो तो उस समय के अंदर यदि वह समान उधार ले जाता है और 15 दिन पैसे जमा नहीं करता है तो फिर उसको स्पष्ट इंकार कर दीजिए और जो पैसे जो सामान दिया है उसके पैसे भी वसूल लीजिए और फिर उन्हें मना करने के लिए आपको एक ट्रिक मिल जाती है कि है भाई आप 15 दिन के या 10 दिन के पहले रुपए जमा करा दो हम आपको आगे से फिर से कोई हम खाता चला लेंगे या फिर उधर सामान दे सकते हैं वरना तो हम नहीं दे सकते तो तो एक तो तरीका है यह और दूसरा तरीका यह है कि आपको अपने घर का सदस्य जानकी जो पिता हो या जो भाई हो उस आधार मानकर के कहना है कि मैं उधार अपने बाप को भी नहीं देता या फिर मैं उधर अपने भाई को भी नहीं देता हूं तो फिर मैं औरों को तो दे ही कैसे सकता हूं चाहे वह मेरा मित्र ही क्यों ना हो यह आपको यह उनको कहना पड़ेगा ऐसा कहने से वह समझ जाएगा कि अरे जो अपने बाप को भी तो उधार नहीं देता होगा तो हमें कैसे दे देगा ऐसा कौन सा उन्होंने आप परेशान कर दिया जो कि आप उन्हें उधार दे दोगे तो उसी लिए सीधी सी बात है 242 चारों तरफ आप वह पर्चे छपवा लीजिए आज नगद कल उधार या फिर जो एक जो और ट्रेन में है प्रचलन में है ना हो तो दुकान वाले रखते हैं कि उधार देने के लिए मेरे पास समय नहीं है फिर आप कल कहीं चले जाओगे कल दे दूंगा परसों दे दूंगा ऐसे करते रहोगे और उधार लेकर आप स्वयं शर्मिंदा ना हो तो इस प्रकार से कुछ ऐसे सुविचार लिखिए जिससे वह आने वाला समझ जाए कि हां यार उधार लेना तो तुसी शर्माए उधार लेने ऐसा भी कीजिए और साथ में उसे जवाब दे दीजिए कि मैं तो अपने बाप को भी कौन सा बाप को उधार देना है यह तो हम सभी जानते हैं लेकिन हमें व्यापार करना होता है दुकाने चलानी आती है तो हमेशा कह सकते हैं क्योंकि दूसरे जो लोग होते हैं वह कई मूर्ख लोग होते हैं वह सोचते हैं ऐसा वह उनके उनका स्वभाव होता है व्यवहार होता है बताइए से उधार लेने के लिए होते उनके पास रुपए जरूर है देते नहीं है लेकिन उनको सिर्फ एक कड़वा जवाब चाहिए वह इसी के लिए ताक में रहते हैं कि हमें बस कोई कड़वा सा जवाब मिल जाए फिर वह सुधर जाते हैं तो उसे ऐसा कहना ही पड़ेगा कि भाई मैं उधार नहीं सुना दे सकता मैं अपने बाप को भी नहीं दूंगा तो फिर मैं तुम्हें कैसे दूं इसलिए बस नगद और एक तीसरा तरीका आप यह भी कह सकते हैं कि भाई देखो इस दुकान में मेरा हाथ नहीं है मेरे ऊपर एक और भी है आदमी या आपका पिता भी हो सकता है कि माताजी भी हो सकती है आपका बड़ा भाई भी हो सा कह दीजिए कि वह कहेंगे नहीं भाई वह मुझसे हिसाब लेते हैं फिर वह क्या कहेंगे नहीं मैं ऐसा नहीं कर सकता हूं मुझे तो डांट पड़ेगी मैं ऐसा नहीं कर सकता आप नकली के बाहर नहीं तो मैंने

#फिल्में

bolkar speakerगाना कैसे गाये?
Rajendra Malkhat Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Rajendra Malkhat जी का जवाब
Self student
3:24
उसका दोस्त हूं आपका प्रश्न है गाना कैसे गाएं दोस्तों सबसे पहले जो गाने की आपको और छोटे-मोटे बेसिक चीजें हैं जो बेसिक ज्ञान है वह को होना चाहिए कि गाना कैसे गाया जाता है या आपको आपका ना बैठ कर के दिखा सकते हैं सुखासन की स्थिति में और गाना खड़े होकर भी गा सकते हैं दोस्तों जो मजाक खड़े होकर के गाने में है वह गाना अन्य कोई किसी मुद्रा में नहीं है इनकी वैसा आनंद आपको दूसरी मुद्राओं में नहीं आएगा आपको गाना गाना है तो आप खड़े होकर के अच्छे ढंग से गा सकते हैं ताकि आपके हाथ आपके पैर आपके आपकी गर्दन आपका चेहरा भाव भंगिमा करते रहे हो हावभाव भी करते रहे तो खड़े होकर के गाना गाना अपने स्वास्थ्य के लिए भी बहुत अच्छा है और अपने सुरों के लिए भी बहुत अच्छा है और गाने के सुपौल है या तो हमें खुद को याद हो और यदि हम प्लेबैक आ रहे हैं या बैकग्राउंड में हम कह रहे हैं या किसी मंच पर भी गा रहे हैं तो भी कोई बात नहीं है लेकिन उसके लिए जो स्टैंड होता है गाने का जो लिखित गाना जिसमें हम लिखित एक तो देश में हम रखते हैं तो वह स्टैंड भी आपके पास हो सकता है ताकि हाथ में जैसे कोई पकड़ कर भेज हम गाएंगे तो बार बार मिलती तरफ देखना पड़ेगा और ध्यान भंग हो जाता है हमारा तो आगे यदि कोई रखने की चीजों को स्टैंड हो तो उसमें हमारे हाथ एक माइक पर रहता है या फिर हमारे दोनों हाथ खाली रहते हैं वह गाने का आनंद ही कुछ और होता है और हमें हाथों से हावभाव करते हुए बहुत ही अच्छे सुर में गाए जा सकते हैं तो दोस्तों गाना गाने से पहले एक 2 मिनट पहले ही हमें शांत भाव से सोचना चाहिए कि गाना हमारा यह है और महारा मुखड़ा ऐसे स्टार्ट करना है शुरू करना है आराम यह नहीं कि एक ही दम हम उठाले एकदम नीचे डाल दे ऐसा नहीं आराम से गाना गाना शुरू कीजिए जाए जैसा भी गाना हो यदि चलत में जो गाना होता है बहुत ही ज्यादा पेटली जो गाने वाले होते हैं तो वह भी शुरुआत में हम यदि अच्छे ढंग से शुरुआत करेंगे तो वह गाना गाने की जॉइनिंग है वह भी अच्छे ढंग से ही होगी और और तो आप जानते ही होंगे मुखड़ा दौर शुरू करते हैं और उसके बाद में आराम से गाते हुए और बीच की जो धूल होती है तो उसके लिए हमें आराम से रहना होता है यह नहीं कि हमें अब जो धुन बजती है जो बैंड बसते हैं साथ में तो उसके साथ में हमें उल्टे सीधे रूप से ही शुरु कर देना है बल्कि आराम से एक ट्रिक मिलती है बाजे वालों की तरफ से जब आप समझ जाते हैं कि हां अब हमें गाना गाना है वह थाने नहीं रहता है आपको पता चल जाएगा कि अब हमें कैसे दूसरा जो हम हमें कड़ी शुरू करनी है तो अंतरा शुरू करना है तो वह कब करना है वह हमें ट्रिक गाना बजाने वालों से दूर करने वालों से डर वालों से हमें यह जो संकेत है मिल जाता है तो दोस्तों गाना गाए खड़े होकर के बिल्कुल शांत स्वभाव से और खुलकर के गाए बहुत ही अच्छा लगता है धन्यवाद

#फिल्में

Rajendra Malkhat Bolkar App
Top Speaker,Level 22
सुनिए Rajendra Malkhat जी का जवाब
Self student
3:10
दोस्तों आपका प्रश्न है कि लोगों में बॉलीवुड के प्रति इतना गुस्सा क्यों है दोस्तों वाजिब है बॉलीवुड में लोगों में गुस्सा होना क्योंकि दोस्तों जो बॉलीवुड का बॉलीवुड की इंडस्ट्री है पहले हुआ करता था कि यह इनमें व्यवहार आदि में सब कुछ ठीक चलता था लेकिन अब इनका व्यवहार अलग हो गया है उनका चरित्र चित्रण जो है वह धीरे-धीरे खराब सा होता हुआ प्रतीत होता है तो दोस्तों यह सिने जगत के लिए अच्छा नहीं है हां ठीक है इसमें जो खो जाने अनजाने लोग हैं ऐसे भी लोग हैं चाहते हैं लड़कियां भी जाती है और अजनबी लड़के भी होते हैं उनको एक साथ काम करना पड़ता है तो हमारी भारतीय संस्कृति के अनुसार क्या मजाल कि कुछ अनर्थ हो जाए लेकिन अब दोस्तों नजरिया ठीक नहीं रहा है दृष्टिकोण ठीक नहीं होता है उनका जो गंदी नज़रें हैं वह तो अब होने ही लगी है लेकिन इसके अलावा एक दूसरे की घोड़ा घोड़ी कंपटीशन में आगे बढ़ने की होड़ में तो उनको एक दूसरे से जलन भी होने लगी है इससे भी होने लगी है सभी लोग हैं आम लोग हैं वह बॉलीवुड के प्रति घृणा से रखने लग गए हैं और इतना गुस्सा सा हो गया है क्योंकि उन्हें अच्छा नहीं लगता है कि इंडस्ट्री से बॉलीवुड को हम दिल की फिल्मों को हम अपने टीवी में अपने मोबाइल में देखने की कामना करते हैं अच्छा रखते हैं और वही आपस में जलन करें और हमें अखबारों में भी दिन-ब-दिन उनकी खबरें आए कि आज उन्होंने यह कर दिया कल उन्होंने वह किया था उनका पर्दाफाश हो गया यह हो गया वह गया तो ऐसी जॉन के बारे में जो बुरी बातें हमने बार-बार में सुनने को मिलती है तो एक आम लोगों के मन में क्या होगा यही होगा कि वह अच्छे नहीं है उनका चरित्र खराब व्यवहार में भी वह गलत है लोगों के लिए गलत है तो फिर हम यही सोचेंगे कि वह तो केवल दिखावा कर रहे थे कभी कोई दान कर देता है बड़े-बड़े रुपए बहुत ज्यादा रुपए फिर बाद में पता चलता है कि वह तो यह है उनके असली यह तो दोस्तों इस प्रकार से लोगों में इतना ज्यादा गुस्सा हो जाता है और कुछ जो अभिनेता है अभिनेत्री है वह अभी तक ठीक है और ठीक ही थी और हमेशा शायद ठीक ही रहेंगे और ऐसा ही होना चाहिए ताकि लोगों का एक यह फिल्म इंडस्ट्री पर विश्वास बना रहे और हमेशा के लिए यह चलती रहे और हम जैसे लोगों का मनोरंजन होता रहे तो यह बिगड़ने नहीं चाहिए एक बार बिगड़ने के बाद दोस्तों हो सकता है कि आने वाले समय में यह जो फिल्म इंडस्ट्री है इसके साथ कुछ अनर्थ हो जाए यह बिल्कुल ही समाप्त हो जाए तो दोस्तों यह अच्छा नहीं होगा तो इनको संभाल लेना ठीक होता है हां आपने सही कहा है कि लोगों में बॉलीवुड के प्रति तेरा गुस्सा होता है तो वह इसी कारण से होता है धन्यवाद
URL copied to clipboard