#रिश्ते और संबंध

ekta Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ekta जी का जवाब
Unknown
1:02
कल पूछा गया है महिला में सेक्स क्रोमोजोम सोते हैं पुरुष में 1 स्क्वायर मतलब कुल मिलाकर यह जो सवाल है वही कहना चाह रहे हैं कि पुरुष ही जिम्मेदार होता है कि बच्चा लड़का होगा या लड़की होगी और फिर भी महिलाओं को इसके लिए जिम्मेदार ठहराया जाता है तो देखिए यह बहुत ही अच्छा सवाल है और जिसने भी यह पूछा मुझको धन्यवाद करना चाहूंगी कि आप सोचते हैं और यही समाज में परिवर्तन की शुरुआत है देखिए आप पहले क्या था कि लोगों को जानकारी नहीं थी कि बच्चा या बच्ची जो होती है लड़का या लड़की जो होता है वह किस कारण से होता है लेकिन जन तीरे तीरे साइंस में तरक्की करें और हमको जब चीजें समझ में आए तब हमको पता चला कि असल में इसके लिए जिम्मेदार पिता होता है माता नहीं और फिर भी जो कुछ लोग जो दकियानूसी विचार वाले हैं जो पुरानी परंपराओं को मानते हैं वह लड़की को ही दोष देते हैं और यह बहुत बेकार बात क्यों आपको मेरे से बात पसंद है वह का धन्यवाद

#जीवन शैली

ekta Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ekta जी का जवाब
Unknown
1:03
अब बाल पूछा गया है अगर छोटी-छोटी बातों पर भी छेड़ होने लगे तो क्या करना चाहिए तो दिखे अगर आपको ऐसी स्थिति आपके साथ बन रही है और आपको छोटी-छोटी बातों पर चैट होने लगी है तो सबसे बेहतरीन स्टाफ आई है कि आपको अपना माहौल बदलने की जरूरत है आप कुछ दिन के लिए वैकेशन पर जा सकते हैं या फिर जिस जहां पर आप हैं वहां से कुछ दिन के लिए अलग चले जाइए जिन लोगों के साथ आपको हैं शायद उसकी वजह से असल में यह एक की वजह से हमको चिड़चिड़ापन लगता है जिससे आपको हो रही है तो उससे अलग होता है हो सके तो आपको कुछ टाइम के लिए जहां जिस जगह पर रह रहे हैं वहां से अलग हो जाइए चाहे वह 15 दिन के लिए हो या हो सके तो 2 दिन के लिए दूसरा पिक नए वातावरण में माहौल में जाएंगे आप एक रिप्लेसमेंट मिलेगा तो फिर उसके बाद आपको यह वाली समस्या का समाधान हो जाएगा और आप कीचड़ थोड़ी कम हो जाएगी उम्मीद आपको मेरा जवाब पसंद आया होगा धन्यवाद

#स्वास्थ्य और योग

ekta Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ekta जी का जवाब
Unknown
0:33
पूछा गया है वैक्सीन कितनी दूर लगेगी और क्या उसकी कोई साइड इफेक्ट है तो दिखी जैसा कि बताया जा रहा है कि जो कोरोनावायरस का वैक्सीन है वहां से लगना शुरू हुआ है उसके दो दोस्त लगेंगे पहला दूसरा जिस दिन लगेगा उसके 28 दिन बाद दो दूसरा डोर्स है इसका लगेगा और इसके साइड इफेक्ट तो ऐसे जैसे जनरल किसी भी व्यक्ति के झंडे साइड इफेक्ट होते जैसे फीवर गाना थोड़ा बीच में इस तरीके के साइड इफेक्ट्स के भी होंगे उम्मीद करती हूं आपको मेरा जवाब पसंद आया होगा धन्यवाद

#धर्म और ज्योतिषी

ekta Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ekta जी का जवाब
Unknown
0:41
पूछा गया है कुछ लोग जैसे हैं वैसे लोगों को दिखाने में सब कुछ आते क्यों हैं तो देखिए हम जैसे हैं वैसे लोगों को अपने आप को प्रेग्नेंट करने में कई लोग सब कुछ आते हैं और इसका सीधा सा कारण है आत्मविश्वास की कमी उन लोगों को यह फील होता है कि वह जैसे हैं वह परिपूर्ण नहीं है और लोग उनके बारे में सोचते हीन भावना से देखेंगे लोग उनको एक्सेप्ट नहीं करेंगे और इसका मेन कारण बसेड़ी के मैच में श्वास की कमी उनको लगता है उनमें कुछ कमी है वह किसी मामले में दूसरे से पिछड़े हुए हैं और इसीलिए लोग सब कुछ आते हैं उम्मीद करती हूं आपको मेरा जवाब पसंद आया होगा धन्यवाद

#पढ़ाई लिखाई

ekta Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ekta जी का जवाब
Unknown
0:26
पूछा गया है अंग्रेजी भाषा में कितने शब्द होते हैं तो दे कि जहां तक मैं आपका सवाल समझ पा रही हूं आप अंग्रेजी भाषा में कितने वर्ण होते हैं यह पूछना चाहते हैं अंग्रेजी भाषा में क्या वर्ण या फिर जो हम लेटर कहते हैं वह 26 होते हैं जिसमें से पांचवा udyan-1 ईश्वर और बाकी की 21 कॉन्सोनेंट यानी कि व्यंजन होते हैं उम्मीद करती हूं आपको मेरा जवाब पसंद आया होगा धन्यवाद

#टेक्नोलॉजी

bolkar speakerअक्षर Y vowel है या consonant हैं?
ekta Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ekta जी का जवाब
Unknown
0:50
पूछा गया है अक्षय बाय बाउल है या कॉन्सोनेंट देखे अक्षर बाय जो है यह कौन सुने थे क्योंकि अगर हम यह बायको हिंदी में अगर पढ़ने की कोशिश करते तो यह जैसा प्रनंसीएशन और यह जो है एक तरह का व्यंजन है असल में इसीलिए इसको कौन से नेट नहीं रखा गया है किसका प्रनंसीएशन हिंदी किया जाता है पर इसका जो प्रनंसीएशन उसकी वजह से स्कूल जो है आ कॉन्सोनेंट रखा गया किसी भी चीज को सांवरिया भंजन रखने के पीछे का जो कॉन्सेप्ट है वह यह है कि जब हम इस वर्ड को उपचारित करते तो हमारी जीत अगर हमारे मुंह के किसी से को टच करती तो वह कॉन्सोनेंट बन जाता है और अगर जीभ किसी से को टच नहीं करते तो उसको बाउल या स्वर्ग कहते हैं उम्मीद करती हूं आपको मेरा जवाब पसंद आया होगा धन्यवाद

#स्वास्थ्य और योग

ekta Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ekta जी का जवाब
Unknown
0:27
गया है शरीर में डिहाइड्रेशन होने के क्या क्या कारण हो सकते हैं तो देखिए जब आप पानी कम पीते तो आपको डिहाइड्रेशन की शिकायत हो सकती है उसके अलावा ऐसे कई कोई जैसे अगर आपको लूज मोशन हो गया था ऐसे में आपके शरीर से पानी बहुत ज्यादा बाहर निकलता है या फिर अगर आप को बहुत अधिक पसीना आता है तो भी आप से शरीर से पानी बहुत ज्यादा निकलता है तो आपको डिहाइड्रेशन की समस्या हो सकती है मैं करती हूं आपको मेरा जवाब पसंद आया होगा धन्यवाद

#स्वास्थ्य और योग

ekta Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ekta जी का जवाब
Unknown
0:25
हाल पूछा गया है चावल या रोटी बजन घटाने के लिए कौन बेहतर है तो देखिए जब हम बात करते हैं वजन घटाने की तो हमको ऐसी चीजे ज्यादा खाए जिसमे फाइबर ज्यादा हो और जैसा कि हम जानते हैं कि हमें फाइबर चावल की अपेक्षा अधिक होता है तो इसीलिए अगर आप वजन घटाना चाहते हैं तो आपको चावल का वॉइस करके रोटी ज्यादा खानी चाहिए उम्मीद करती हूं आपको मेरा जवाब पसंद आया होगा धन्यवाद

#जीवन शैली

ekta Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ekta जी का जवाब
Unknown
0:32
पूछा गया है खुश और उत्साहित एक्टिव के संपर्क में रहने का हमारे तन मन पर क्या प्रभाव पड़ता है तो देखे जवाब खुश और उत्साही व्यक्ति के संपर्क में आते हैं उनसे बात करते हैं और उनके साथ वक्त बिताते हैं तो आपका मन स्वयं ही प्रफुल्लित हो जाता है क्योंकि हमको पता है कि हमारे आसपास जैसा माहौल ऐसा वातावरण जैसे लोग हैं उन काम पर प्रभाव पड़ता है तो हमारा मन खुश हो जाता है और अगर आपका मन खुश है तो आपका तन भी खुश होता है उम्मीद करती हूं आपको मेरा जवाब पसंद आया होगा धन्यवाद

#धर्म और ज्योतिषी

ekta Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ekta जी का जवाब
Unknown
0:51
पूछा गया है इंसान का रंग अलग अलग क्यों है तो दिखी इंसान का रंग अलग अलग होने के पीछे का एक कारण यह है कि अलग-अलग जगहों पर जो है वहां के अकॉर्डिंग इंसान की स्किन और जो है का कलर होता है जिसे ईश्वर ने जितने भी प्राणी मनाए हैं उन सब को अपने आसपास के वातावरण के अनुरूप ढलने की जुड़ने के लिए कुछ ऐसी चीज है विकसित करी हुई है वैसे ही इंसान में कलर को लेकर के है जिन देशों में सूरज की रोशनी तेज होती वहां के लोगों की स्कीम थोड़ी डार्क होती है अब दूसरा चीज है इसमें काम करता है वह है मिलाने नामक हार्मोन हार्मोन जितना अधिक होता है हमारे शरीर में उतना हमारा रंग सावला होता है उम्मीद करती हूं आपको मेरा जवाब पसंद आया होगा धन्यवाद

#जीवन शैली

ekta Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ekta जी का जवाब
Unknown
0:46
पूछा गया है उसी दिन सास के अलावा किस में मददगार है तो देखिए आसिफ सांस लेने के अलावा ऑक्सीजन ना बहुत सारी चीज में बहुत ज्यादा उपयोगी और जहां भी एनर्जी प्रोड्यूस करने के बाद पुरी धाम बनर्जी और जनरेट करने की बात हो रही है वहां पर और ऑक्सीजन का बड़ा योगदान है जैसे क्या है कि आग कहीं भी लगती कहीं भी जलन की क्रिया होती है उसे लकड़ी का जलना गाड़ी में इंजन का पेट्रोल का चलना है यह सब ऑक्सीजन की सहायता से ही होता है मतलब कहीं भी जो हम उस में प्राप्त करते हैं उसका मेन कारण ऑक्सीजन होता है उम्मीद करती हूं आपको मेरा जवाब पसंद आया होगा धन्यवाद

#धर्म और ज्योतिषी

ekta Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ekta जी का जवाब
Unknown
0:38
हाल पूछा गया है चंद्रमा और सूर्य हमें एक ही आकार में क्यों दिखाई देते हैं तो दिखे चंद्रमा सूर्य के एक ही आकार में दिखाई देने का कारण है चंद्रमा और सूर्य की पृथ्वी से दूरी जैसे कि हम सब जानते कि सूर्य की पृथ्वी से दूरी बहुत अधिक है भले ही सूर्य का जो आकार है वह पृथ्वी के अपेक्षा बहुत ज्यादा बढ़ा है लेकिन बुरी भी बहुत अधिक है और उसके कंपैरिजन में चंद्रमा की दूरी जो है पृथ्वी से कम है और संयोगवश ऐसी स्थिति है कि हमको दोनों समाना करके दिखाई देते हैं उम्मीद करती हूं आपको मेरे जवाब पसंद आया होगा धन्यवाद

#स्वास्थ्य और योग

ekta Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ekta जी का जवाब
Unknown
0:31
हाल पूछा गया है जब हम सोने में पीने को पानी में डालते तो पानी उबलता क्यों है तो देखिए जब तू ना पानी से मिलता है तो एक रासायनिक अभिक्रिया होती है और यह कुसमा खेती रसायनिक अभिक्रिया होती है मतलब ऐसी अभिक्रिया जिसमे ऊष्मा का उत्सर्जन होता है और यही कारण है कि जब तूने को पानी में डालते तो पानी उबलने लगता है क्योंकि उससे ही डिजनरेट होती उसमें उत्सर्जित होती है उम्मीद करती हूं आपको मेरा जवाब पसंद आया होगा धन्यवाद

#खेल कूद

ekta Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ekta जी का जवाब
Unknown
0:18
बाल पूछा गया है किस गैस को जीवनदायिनी देश कहा जाता है तो देखी जीवनदायिनी या फिर प्राणवायु जो है हम अक्सीजन गया इसको कहते हैं क्योंकि यह ऑक्सीजन गैस ही है जिसकी वजह से हमारे शरीर में एनर्जी पैदा होती है उम्मीद करती हूं आपको मेरा जवाब पसंद आया होगा धन्यवाद

#टेक्नोलॉजी

ekta Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ekta जी का जवाब
Unknown
0:48
सवाल पूछा गया है किस उपकरण द्वारा यांत्रिक ऊर्जा को विद्युत ऊर्जा में परिवर्तित किया जाता है तो देखिए पहले हमको यह जानना जरूरी की आंतरिक ऊर्जा क्या होती है विद्युत ऊर्जा क्या होती है क्या मतलब क्या मेकेनिकल पावर मतलब ऐसी नदी जो कोई मशीन के मूवमेंट की वजह से जनरेट हो रही है ऐसी एनर्जी जो किसी मशीन में मूवमेंट करा रही है वह क्या हो गई यात्रिक एनर्जी अब बात करते फिर दूध एनर्जी विद्युत ऊर्जा या फिर इलेक्ट्रिकल लैंग्वेज में लाइट बिजली यह सब कहते हैं रिया को विद्युत ऊर्जा में परिवर्तन करने वाले जो व्यक्ति है उसको हम जनरेटर कहते हैं उम्मीद करती हूं आपको मेरा जवाब पसंद आया होगा धन्यवाद

#जीवन शैली

ekta Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ekta जी का जवाब
Unknown
1:48
बाल पूछा गया है आत्मविश्वास बढ़ाने के लिए हमें क्या करना चाहिए एवं आत्मविश्वास ही लोगों के गुणों को सूचीबद्ध करें तो देखिए आत्मविश्वास होना बहुत ज्यादा जरूरी है क्योंकि अगर आपके पास नॉलेज है और आपके पास आत्म विश्वास नहीं है तो आप अपने नॉलेज को दूसरों के सामने देख कर पाएंगे और अपने ज्ञान को लोगों के सामने प्रस्तुत नहीं कर पाते हैं तो मतलब आपके ज्ञान का कोई पूरी तरीके से जो है सदुपयोग नहीं हो पाता है और यह चीज अच्छी नहीं है जब आप कोई चीज जानते हैं और आप उस में पारंगत है तो आपको अगर उसको लोगों तक पहुंचाया बाटे तो उससे आपके जो है ज्ञान में बढ़ोतरी होगी और उसके अलावा उस ज्ञान को सही उपयोग हो पाएगा तो इसीलिए आत्मविश्वास होना जरूरी है और अब बात करते हैं आत्मविश्वास बढ़ाने के लिए क्या करना चाहिए रहे थे कि अगर आप अपना आत्म बढ़ाना चाहते हैं तो सबसे बेहतरीन उपाय जो है इसका यह है कि आप कोई भी चीज के बारे में आप मिरर के सामने खड़े होकर बोलिए या फिर आप अपने आपको जैसे इंट्रोड्यूस कराने के लिए ही सही ऐसी कुछ छोटे-छोटे टॉपिक पर मेरा के सामने खड़े होकर बोलिए और अपनी आन जवाब मेरठ के सामने बोलते तो आपका जो आत्मविश्वास और धीरे-धीरे बढ़ता जाता है उसके अलावा अपने फ्रेंड सर्कल को छोड़कर नए लोगों से दोस्ती करने की कोशिश कीजिए मैं लोगों से बात करने की कोशिश की इससे भी आपका आत्मविश्वास बढ़ेगा और उसके अलावा आपका जो है सोशल नॉलेज है वह भी बढ़ेगा उम्मीद करती हूं यह तरीके आप अपना आएंगे और आपको इसका लाभ मिलेगा धन्यवाद

#स्वास्थ्य और योग

ekta Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ekta जी का जवाब
Unknown
0:46
पूछा गया है आईडी में नीति किसे कहते हैं तो देखे हाइड्रो मिनिटी को समझाने के लिए मैं आपको बताना चाहूंगा कि एक पर्टिकुलर एरिया में अगर कोई बीमारी ज्यादा लोग ज्यादातर लोगों को हो चुकी है जैसे कर्म एग्जांपल ली कोरोनावायरस किसी पर्टिकुलर एरिया में पूर्व जन्म से कम 80% लोगों को कोरोनावायरस से भी कवर कर चुके हैं उनके शरीर में कोरोनावायरस के खिलाफ एंटीबॉडी बन चुकी है जिससे अब कोरोनावायरस उद्देश्य नहीं करेगा तो इसको इसकी वजह से क्या हुआ कि उस पूरे एरिया में की मीटिंग जनरेट हो गई क्या आप कोरोनावायरस से उनको कोई फर्क नहीं पड़ेगा और इसी को हम हाइड यूनिटी कहते हैं उम्मीद करती हूं आपको मेरा जवाब पसंद आया होगा धन्यवाद

#खेल कूद

ekta Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ekta जी का जवाब
Unknown
0:21
पूछा गया है पावर हाउस ऑफ सेल किसे कहा जाता है या जो कोशिका है उसका पावर हाउस किसे कहा जाता है तो देखिए कोशिका का पावर हाउस माइटोकॉन्ड्रिया को कहा जाता है क्योंकि यहां पर पावर एनर्जी का निर्माण होता है उम्मीद करती हूं आपको मेरा जवाब पसंद आया होगा धन्यवाद

#स्वास्थ्य और योग

ekta Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ekta जी का जवाब
Unknown
0:18
बाल पूछा गया है विटामिन सी की कमी से कौन सा रोग होता है इसका महत्व बताइए तो देखे विटामिन सी की कमी से इस पर भी नाम का रोग होता है इसके अलावा विटामिन सी की कमी से किन रिलेटेड डिसीसिस बहुत अधिक होती है उम्मीद करती हूं आपको मेरा जवाब पसंद आया होगा धन्यवाद

#धर्म और ज्योतिषी

ekta Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ekta जी का जवाब
Unknown
0:46
पूछा गया है उभरे हुए जाने वाले चप्पल पहनने के क्या फायदे हैं तो देखिए मैं आपको बताना चाहूंगा कि हमारे पैरों की अंजू पल भी होते हैं उनमें एक्यूप्रेशर पॉइंट्स छोटे ऐसे पॉइंट जो हमारे शरीर के अलग-अलग अंग से जुड़े होते हैं और अगर हम इन पर प्रेशर देते हैं तो हमारे शरीर के हुसैन को एक सही तरीके से काम करने के लिए जो एनर्जी मिलती है यह का आयुर्वेद का एक अलग तरीका है एक्यूप्रेशर इसका नाम है ना तो जवाब देने वाले चप्पल पहनते हैं तो इन प्रेशर पॉइंट पर प्रेशर पड़ता विद्या मंदिर शरीर तो संघ का संचालन अच्छी तरीके से होता है इसीलिए उभरे हुए दाने के चप्पल पहनने की सलाह दी जाती है उम्मीद करती हूं आपको मेरा जवाब पसंद आया होगा धन्यवाद

#स्वास्थ्य और योग

ekta Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ekta जी का जवाब
Unknown
0:33
पूछा गया है योग करते वक्त किस तरह के कपड़े पहनते हैं तो देखिए और जैसे कि हम सबकी आजकल वेसू वेशभूषा जो है लाइफस्टाइल से काफी बदल गई है ज्यादातर हम लोग टाइट कपड़े पहनते हैं स्टाइलिश दिखने के लिए लेकिन मैं योग करते समय जितना हो सके लूट कपड़े पहने कंफर्टेबल कपड़े पहने हो सके तो कॉटन के कपड़े पहने क्योंकि जब आप फिजिकल एक्सरसाइज करते हैं तो आपको पसीना आता है तो ऐसे मैं आपके लिए सबसे बेहतरीन कॉटन के कपड़े होते हैं उम्मीद करती हूं आपको मेरा जवाब पसंद आया होगा धन्यवाद

#स्वास्थ्य और योग

ekta Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ekta जी का जवाब
Unknown
0:55
छा गया है क्या बढ़ते हुए बीपी का इलाज योग और आयुर्वेद द्वारा संभव है तो देखे दुनिया में ऐसी कोई बीमारी नहीं जिसका इलाज आयुर्वेद के पास ना हो बस अभी जो है लोग आयुर्वेद को सीखने और समझने में ज्यादा ध्यान नहीं देते हो यही कारण है कि जब हम आयुर्वेदिक डॉक्टर के पास जाते हैं तो उसको खुद इतनी समझ नहीं होती कि आयुर्वेद असल में क्या चीज है तो हमें उसका सही रिजल्ट नहीं मिलता लेकिन जब एक प्रॉपर एक सही डॉक्टर के पास जाएं आप जो आयुर्वेद का ज्ञाता हो आपको वह हर बीमारी का इलाज बताएगा और अगर हम बात करें हाई बीपी है तो उसके लिए आपको किसी डॉक्टर के पास भी जाने की जरूरत नहीं है थोड़ा परहेज करिए थोड़ा योग और व्यायाम करिए और जो है हल्का-फुल्का जो भोजन में वेरिएशन आप ले आइए आपको जरूर बीपी की समस्या से राहत मिलेगी उम्मीद करती हूं आपको मेरा जवाब पसंद आया होगा धन्यवाद

#स्वास्थ्य और योग

ekta Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ekta जी का जवाब
Unknown
0:59
पूछा गया है अधिकतर हार्टअटैक नहाते हुए ही क्यों आते हैं तो देखिए इसका कारण यह है कि हमारे शरीर में भी एक विद्युत ऊर्जा का प्रवाह होता है जो केमिकल के फॉर्म में होता है और असल में जब हम नहाते वक्त हमारे जो तरीका होता है नहाने का हम फिर से पानी डालते इससे क्या होता कि हमारा जो शेर होता है वह ठंडा हो जाता है और हमारे शरीर में विद्युत ऊर्जा का प्रभाव सर से पैर की तरफ होता लेकिन ऐसी कंडीशन में विद्युत ऊर्जा का प्रभाव पर से सर की तरफ होने लगता है और यही कारण है कि जो पूरा डिसबैलेंस होने के कारण शरीर की विद्युत ऊर्जा का शरीर के पूरे एनर्जी फ्लो का डिसबैलेंस होने के कारण नहाते वक्त हार्टअटैक जरूर आते हैं और इससे बचने का सबसे अच्छा उपाय है कि जब आप नहाते हैं तो सबसे पहले अपने पैर को गिला कीजिए उसके बाद ऊपर के शो को खिला करते रहिए और सबसे आखिर में आपको अपने सर पर पानी डालना चाहिए उम्मीद करती हूं आपको मेरा जवाब पसंद आया होगा धन्यवाद

#धर्म और ज्योतिषी

ekta Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ekta जी का जवाब
Unknown
0:48
कल पूछा गया है विश्वास और अंधविश्वास में अंतर किस प्रकार समझा जा सकता है तो देखिए विश्वास और अंधविश्वास में सीधा अंतर यह है कि तार्किक आपकी समझ कितनी है आप किसी चीज पर भरोसा करते हैं तब जब आप उस को पूरी तरीके से टाइप कर चुके हो और जब आपको लगे कि हां यह चीज ऐसे ही होगी लेकिन जब आप बात करते अंधविश्वास की तो आप उसके सकारात्मक नकारात्मक पहलुओं को भूल जाते हैं तर्क कुतर्क उसके जो तर्क है जब लोग आप को उसके खिलाफ कुछ बोलते हैं तो आपको वह लोग बहुत बुरे मालूम पड़ता है कि जब आप किस चीज पर विश्वास करते हैं तो आप उस बात पर तर्क कर सकते हैं आपको पता है यह सही है तभी आप उस पर भरोसा कर रहे हैं उम्मीद करती हूं आपको मेरा जवाब पसंद आया होगा धन्यवाद

#जीवन शैली

ekta Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ekta जी का जवाब
Unknown
1:06
पूछा गया है दूसरों के नकारात्मक विचार हमें किस हद तक प्रभावित कर सकते हैं तो देखिए संगति या फिर हमारे आसपास जो लोग हैं जो चीज है उनका हम पर बहुत प्रभाव पड़ता है मैं आपको बताना चाहती हूं कि सिर्फ लोगों का नहीं नकारात्मक जगह का नकारात्मक चीजों का भी आप पर बहुत प्रभाव पड़ता है और इसीलिए बचपन से में सिखाया जाता है कि अपने घर को साफ सुथरा रखें आप जहां पढ़ते हैं जा बैठते हैं जहां खाते उन जख्मों को साफ सुथरा रखें इससे आपके ऊपर एक पॉजिटिव इफेक्ट पड़ता है कि सकारात्मक प्रभाव पड़ता है आपका पढ़ने में मन लगता है आपका मन शांत रहता है तो जब आती है समझने की चीजों का आपके ऊपर इस हद तक प्रभाव पड़ता है तो लोगों का जो नकारात्मक लोग होते हैं लोगों के नकारात्मक विचार होते उसका आप पर कितना असर पड़ता होगा असल में हमारे आसपास के लोगों का हम पर बहुत बड़ा प्रभाव पड़ता और हमारे व्यवहार पर भी पड़ता है तो अब बेहतर यह है कि इस तरीके के नाक हरात्मक लोगों से थोड़ी दूरी बनाए रखें उम्मीद करती हूं आपको मेरा जवाब पसंद आया होगा धन्यवाद

#फिल्में

ekta Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ekta जी का जवाब
Unknown
1:34
पूछा गया है लोगों में बॉलीवुड के प्रति इतना गुस्सा क्यों है तो दिखे बार बॉलीवुड एक हमारे लिए एक आदर्श प्रस्तुत करते हमारे समाज के छवि प्रस्तुत करता है और किसी नए व्यक्ति की नजरों में या फिर हमारे लिए भी जो समाज में क्या चल रहा है उसका भी एक माध्यम है बॉलीवुड जो हम मानते हैं और उसके बाद जो है बॉलीवुड में इस तरीके की फिल्में बनाई जाती है और इस तरीके के शब्द उपयोग करे जाते से गाने बनाए जाते इसमें बहुत पर बेकार किस्म के शब्द यूज किए जाते हैं और आज के समय में बच्चे वह गाने गाते भले ही उन्हें उन शब्दों का अर्थ नहीं पता वह उस एक्सप्रेशन मूवी के गानों में देखते हैं उसको रिपीट करने की कोशिश करते हैं पर असल में यह काफी बेकार और घटिया चीज अगर हम बात करते हैं फिल्मों की तो फिल्मों में यह दिखाया जाता है कि अगर आप करने लगी कि इस तरीके के वाक्य दिखाए जाते जिसकी वजह से आजकल लड़के बिगड़ रहे हैं सिगरेट और शराब को बहुत ही एक स्कूल होने का तरीका बताया जाता है जो पूरी तरह से गलत है और यही कारण है कि जो लोग अपनी संस्कृति अपने समाज के बारे में सोचते हैं वह बॉलीवुड के प्रति गुस्सा जाहिर करते हैं और इस बस यह है कि आप बॉलीवुड को एक अच्छी तरह मेरे साथ से किसी को भी इसके प्रति नाराजगी नहीं रहेगी उम्मीद करती हूं आपको मेरा जवाब पसंद आया होगा धन्यवाद

#धर्म और ज्योतिषी

ekta Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ekta जी का जवाब
Unknown
0:27
कल पूछा गया है क्या आत्मा एक तरह की ऊर्जा है तो देखें बिल्कुल सही बात है आत्मा एक तरह की उर्जा है लेकिन यह नेगेटिव एनर्जी होती है मतलब यह जो है असल में जब तक इनके पास शरीर होता है तब तक यह पॉजिटिव एनर्जी की तरह काम करती लेकिन जब आत्मा शरीर से अलग हो जाती है तो इसको हम नेगेटिव एनर्जी के तौर पर जानते हैं उम्मीद करती हूं आपको मेरा जवाब पसंद आया होगा धन्यवाद

#टेक्नोलॉजी

ekta Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ekta जी का जवाब
Unknown
1:06
पूछा गया है बांध बनाकर विद्युत कैसे उत्पन्न किया जाता है तो देखिए किसी नदी पर जब बांध बनाया जाता है तो नदी के पानी को एक रिजर्वायर्स तोड़ कर लिया जाता है फिर जब मोदी सरकार में पानी एक पार्टिकुलर लेवल पर स्टार्ट हो जाता है बहुत मात्रा में तपिश के गेट खोले जाते हैं और इन गेट खोलने के पीछे यही कि इसका जो पानी है टरबाइन पेपर था जब टरबाइन पर पानी पड़ता है इससे टरबाइन घूमता है और इससे एनर्जी प्रोड्यूस होती है इस एनर्जी को हम चुंबक के माध्यम से इलेक्ट्रिकल एनर्जी में कन्वर्ट करते हैं जिसको विद्युत चुंबकीय प्रभाव कहते हैं इसके बारे में डिटेल में आप फिजिक्स में पड़ सकते हैं तो इस विद्युत चुंबकीय प्रभाव से जो है विद्युत उत्पन्न होती है इलेक्ट्रिसिटी जनरेट होती और हम इसका उपयोग करते हैं यह सा तरीका है जिसमें प्रदूषण बिल्कुल नहीं होता क्योंकि पानी एक्चुअली सिर्फ लो यार मोमेंट पैदा करने का काम करता है पानी के गतिज ऊर्जा किस में प्रयोग होता है उम्मीद करती हूं आपको मेरा जवाब पसंद आया होगा धन्यवाद

#स्वास्थ्य और योग

ekta Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ekta जी का जवाब
Unknown
1:07
पूछा गया है कार्बन डाइऑक्साइड को प्राथमिक तौर पर ग्रीन हाउस गैस कहा जाता है क्योंकि यह तो देखिए मैं आपको ग्रीन हाउस के बारे में सबसे पहले बताना चाहूंगी ग्रीनहाउस ठंडे इलाकों में कांच के बने हुए घरों को कहते हैं जा का वातावरण आसपास के वातावरण से थोड़ा ज्यादा गर्म होता है और इसका कारण यह है कि इन कांच के घरों में आने वाले जो विकिरण है मतलब जो अवरक्त किरणें हैं जिनसे गर्मी प्रोड्यूस होती है वह अंदर तो आप आती है लेकिन कांच के उस पार नहीं जा पाते और यही कारण है कि अंदर का टेंपरेचर बाहर के टेंपरेचर से थोड़ा ज्यादा होता है और इस प्रभाव को हम ग्रीन हाउस प्रभाव कहते हैं और ऐसा ही प्रभाव जो है पृथ्वी के वायुमंडल में CO2 गैस बनाती है मतलब की सूर्य से आने वाली गर्मी को वह अंदर तो आने देती है पर वापस व अंतरिक्ष में नहीं जान रिटर्न वायुमंडल से बाहर नहीं जाने देती और इसी कारण कार्बन डाइऑक्साइड को प्राथमिकता इन हाउस गैस कहा जाता है उम्मीद करती हूं आपको मेरा जवाब पसंद आया होगा धन्यवाद

#टेक्नोलॉजी

ekta Bolkar App
Top Speaker,Level 33
सुनिए ekta जी का जवाब
Unknown
0:58
बाल पूछा गया है भारत में सोलर एनर्जी का क्या भविष्य है तो देखिए अगर हम साइंटिफिक तौर पर इस चीज को देख कर तो जैसा कि हम जानते हैं कि भारत जो है उत्तरी औलाद के दक्षिण एरिया में है जहां पर से भूमध्य रेखा हमारे काफी करीब पहुंचती है और यह हम जानते हैं कि जो भूमध्य रेखा के आसपास वाला एरिया होता है वहां पर सूर्य की किरणें सीधी पड़ती है और यही कारण है कि भारत एक उष्णकटिबंधीय लाकर में आता है मतलब यहां पर साल पर सूरज के दो हमको मिलती रहती है और यह कारण है कि सूर्य की रोशनी का जो हमें उपयोग है ज्यादा से ज्यादा कर सकते हैं पर सोलर एनर्जी के तौर पर तो भारत में सोलर एनर्जी क्या गर्म भविष्य की बात करें तो हमको ज्योग्राफिकली हमको काफी अच्छा हमारे पास एरिया है जहां पांच सूर्य की रोशनी सेनर्जी बना सकते हैं उम्मीद करती हूं आपको मेरा जवाब पसंद आया होगा धन्यवाद
URL copied to clipboard