क्या नेपाल का इस तरीके का रुख भारत से दुश्मनी बन सकता है?


By Deepak Kumar choudhary |Psychologist | 2020-06-12

  Share करें     Share Answer  Share करें   


आपका क्वेश्चन है कि क्या नेपाल का इस तरह का इस तरीके का रुख भारत से दुश्मनी बन सकता है बिल्कुल सही है आपका देखिए नेपाल को इस तरह का रुख नहीं अपना चाहिए क्योंकि हाल ही में आपको शायद या भूकंप मैं बोल रहा हूं कि कौन-कौन से मुसीबत में हमारे माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी वहां यहां से हमारे इंडिया से पूछे जो भी आवश्यकता है कि चीजें चीजों की जरूरत की चीजें क्यों भेजे थे आज तो देखें 2015 में अप्रैल 2015 में जो भूकंप आया था उसमें हमारे भारतीय प्रधानमंत्री जी कहां से मेडिसिन दवाइयां और खाना के पैकेट राहत सामग्री पैकेट यहां से भेजे थे दूसरी बात की भी है के मुख्यमंत्री माननीय नीतीश कुमार जी भी यहां से प्राप्त भोजन का पैकेट और मेडिसिन भेजे थे बचाओ उसके बाद उतना ही नहीं जनकपुर तक जनकपुर से कुछ आया तक भारतीय रेलवे का लगभग 55055 शो करो रुपए जो माननीय नरेंद्र मोदी जी ने घोषणा किया था और वह काम पूरा हो गया बड़ी लाइन बड़ी रेलवे लाइन का शिलान्यास किया गया जनकपुर से कुछ आगे ऐसा कोई जगह है वहां तक डायरेक्ट जयनगर से बिहार के जयनगर से जो नेपाल से सटे हुए बॉर्डर है जनकपुर से सटा हुआ बॉर्डर है वहां से जनकपुर से लगभग 30 40 किलोमीटर और आगे तक बड़ी लाइन की सेवा उपलब्ध कराया था माननीय मोदी जी यह सारी चीजें नेपाल सरकार को दिया उसके बाद भी छोटी-छोटी बातों पर इस तरह से मतभेद होता है तो यह ठीक बात नहीं है और दूसरी बात कि हमारे देश को पाकिस्तान की तब आता है इधर से चाइना भी आंख दिखा रहा है नेपाल भी अब स्टार्ट हो गया है तो हमारे हिसाब से अब इंडिया कितना चुप हो कर के बैठे का कितने का सजा दोस्ती के लिए




{{c.n}} Bolkar App
{{c.n}}
{{c.m}}


सम्बंधित सवाल

{{answers.t }}
{{answers.aa[0].n }}


ऐप में खोलें